Tash ka aashiyana - 11 by Rajshree in Hindi Fiction Stories PDF

ताश का आशियाना - भाग 11

by Rajshree Matrubharti Verified in Hindi Fiction Stories

शाम 6:30 बजे के पहले ही सिद्धार्थ घाट पर आ चुका था।श्रद्धालु भक्त, वहां के रहिवासी, पंडित सब घाट पर पहुंच चुके थे, उसमें सिद्धार्थ भी शामिल था। आरती शुरू हो गई आरती की धुन में कहीं खो ...Read More