Me chor nahi hu - last part by किशनलाल शर्मा in Hindi Adventure Stories PDF

मैं चोर नही हूँ (अंतिम किश्त)

by किशनलाल शर्मा Matrubharti Verified in Hindi Adventure Stories

चम्पा ने दो टूक शब्दों में अपना फैसला सुना दिया था।जयराम ने चम्पा को समझाना चाहा।पर व्यर्थ।चम्पा कोरे आश्वासन पर समर्पण के लिए तैयार नही थी।जयराम की समझ मे चम्पा का व्यहार नही आया था।सुहागरात को औरत पहली बार ...Read More