नयन मॉं की ऑंखें खुली थीं, मैं पूजा सामग्री हाथों में लेकर निह

by Asha Saraswat Matrubharti Verified in Hindi Short Stories