Vishya ka bhai - 6 by Saroj Verma in Hindi Classic Stories PDF

वेश्या का भाई - भाग(६)

by Saroj Verma Matrubharti Verified in Hindi Classic Stories

इन्द्रलेखा और कुशमा इस बात से बेख़बर थी कि उनके पीछे जमींदार गजेन्द्र लठैतों की फ़ौज लेकर आ रहा है जिनके हाथों में मशालें भी थी और साथ में मुनीम भी था,दोनों इस ताक में थीं कि कब उन्हें ...Read More