IMANDARI by Shwet Kumar Sinha in Hindi Motivational Stories PDF

ईमानदारी

by Shwet Kumar Sinha Matrubharti Verified in Hindi Motivational Stories

“हैलो, मिस्टर रमण! मैं इंसपेक्टर मुकुल बोल रहा हूँ। क्या आप कोतवाली आ सकते हैं?”- फोन के दूसरी तरफ से इंसपेक्टर ने कहा। “कोतवाली! पर क्यूं?”- पैंतालीस वर्षीय रमण ने हड़बड़ाते हुए पुछा। “आप कोतवाली आयें फिर यही सारी ...Read More