read and carry on by Sharwan Gujar in Hindi Poems PDF

पढ़ो और आगे बढ़ाओ

by Sharwan Gujar in Hindi Poems

(१)एक तिनका हकीर होता है मगर हवाओं का रुख बताता है जो आपसे झुक कर सलाम करें उसका कद आपसे भी बड़ा हो(२)जो मेहनत से पढ़ता है,उसका कद भी खूब बढ़ता है.(३)ज्ञान से जो मूरत गढ़ी जाती है,वो पूरे ...Read More