My words my identity - 17 by Shruti Sharma in Hindi Poems PDF

मेरे शब्द मेरी पहचान - 17

by Shruti Sharma Matrubharti Verified in Hindi Poems

---- मेरा भारत मेरा हिन्दुस्तान ---- * जनाब ये वो भारत है जिसने गुलामी की बेड़ियों में नजाने कितने वर्ष बिताए थे , लौ बुझ न जाए कहीं आजादी की इसलिये कितने घरों ने अपने चिराग बुझाए थे , ...Read More