Usne Kaha Tha by Anami Sharan Babal in Hindi Short Stories PDF

Usne Kaha Tha

by Anami Sharan Babal in Hindi Short Stories

बड़े-बड़े शहरों के इक्के-गाड़ीवालों की जबान के कोड़ों से जिनकी पीठ छिल गई है, और कान पक गए हैं, उनसे हमारी प्रार्थना है कि अमृतसर के बंबूकार्टवालों की बोली का मरहम लगावें। जब बड़े-बड़े शहरों की चौड़ी सड़कों पर ...Read More