Baste ka bojh ya samaj by kaushlendra prapanna in Hindi Human Science PDF

बस्ते का बोझ या समझ

by kaushlendra prapanna in Hindi Human Science

बस्ते का बोझ या समझ का बोझा कौशलेंद्र प्रपन्न बच्चों पर बस्ते के बोझ से ज्यादा समझ और पढ़ने का बोझा है। समझने से अर्थ लिखे हुए टेक्स्ट को पढ़कर समझना है। प्रो यशपाल ने 1992 में अपनी रिपोर्ट में माना ...Read More