Koi dil se gaya by Shreyas Apoorv Narain in Hindi Poems PDF

कोई दिल से गया

by Shreyas Apoorv Narain in Hindi Poems

वो जा चुका है,वो जा चुका था और उसने जाते हुए बस इतना ही कहा हो मुबारक़ तुम्हे ये सफर आखिरी । बस हर एक सफर में गुनगुनाओ आप सभी और वो भी। पसंद आये तो जता भी देना!