Thriller Books in Hindi language read and download PDF for free

    दह--शत - 36
    by Neelam Kulshreshtha

    एपीसोड ---36      एम डी बड़े बड़े डग रखते अपने ऑफ़िस के पीछे के दरवाज़े से निकल चुके हैं. वह खिसियाई सी, रुआँसी एम डी के चैम्बर में सोचती रह जाती है, ...

    दह--शत - 35
    by Neelam Kulshreshtha

    दह--शत [ नीलम कुलश्रेष्ठ ] एपीसोड ----35 डॉ.पटेल थोड़ा आश्चर्य कर उस सुपरवाइज़र से कहतीं हैं, “बिचारी के ख़ून निकल रहा था ऐसे कैसे भगा देती? उनको मैंने दवा ...

    दह--शत - 34
    by Neelam Kulshreshtha

    दह--शत [ नीलम कुलश्रेष्ठ ] एपीसोड --34 "रोली !ऐसा क्यों कह रही है पढ़ी लिखी औरत को भी पैर की जूती समझा जाता है ?" "मैंने यूनीवर्सिटी के ‘वीमेन ...

    हमें माफ़ कर देना रिहाना - 2
    by Prahlad Pk Verma

    ईरानी न्यायालय सुनवाई'माई लॉर्ड'(वकील प्रोफेसर का) मिस रिहाना ने 21 जुलाई को सुबह 11 बजे मेरे क्लाइंट प्रोफेसर खान का अपने ही घर में चाकू से बड़ी बेरहमी से ...

    दह--शत - 33
    by Neelam Kulshreshtha

    एपीसोड ----33 एक औरत का पुलिस वालों से सम्पर्क करना किसको अच्छा लगता है? वह जलकर मर जाये तो दिल से आँसू बहाने को तैयार रहती है दुनियाँ। एम. ...

    दह--शत - 32
    by Neelam Kulshreshtha

    दह--शत [ नीलम कुलश्रेष्ठ ] एपीसोड --32 दूसरे दिन ऑफ़िस से लौटकर अभय बताते हैं, “आकाश सर का ट्रांसफ़र बम्बई हो गया है।” उसे उस घर के रात में ...

    दह--शत - 31
    by Neelam Kulshreshtha

    एपीसोड ----31 नीता अनुभा को फ़ोन पर ज़ोर देकर समझाती है ,“जो बाई तुझे दीपावली के दिन बीमार कर डालने की कोशिश कर रही है। कुशल के आस-पास मँडराती ...

    विरासत - 7 (अंतिम भाग)
    by श्रुत कीर्ति अग्रवाल

                                                              ...

    थ्री
    by ARYAN Suvada

    थ्री  बांद्रा पुलिस स्टेशन में आधी रात को फोन की घंटी जोरो से बजने लगी। 'ट्रिन ट्रिन ..... ट्रिन ट्रिन।' कुछ देर बजने के बाद फोन की घंटी अपने आप ...

    दह--शत - 30
    by Neelam Kulshreshtha

    एपीसोड ------30 अक्षत आते ही एकांत मिलते ही उसे ही कठघरे में खड़ा कर देता है, “आफ़्टर ऑल, पापा की इज्ज़त का सवाल है। आपको उनके ऑफ़िस में तो ...

    हत्यारा
    by Priyadarshan Parag

    हत्यारा प्रियदर्शन वह जिस तरह हांफ रहा था, उससे लग रहा था कि वह बड़ी लंबी दौड़ लगाकर आया है। उसका पूरा चेहरा पसीने से तरबतर था और उसकी ...

    हमें माफ़ कर देना रिहाना - भाग 1
    by Prahlad Pk Verma

    आज सुबह प्रोफेसर आमिर खान केस की पहली सुनवाई है जिनके कत्ल इल्ज़ाम उनकी  स्टूडेंट रिहाना पर हैं जो ईरान का सबसे हाई प्रोफाइल केसों में से एक हैंईरानी ...

    दह--शत - 29
    by Neelam Kulshreshtha

    एपीसोड –29 अभय उसे हॉस्पिटल के चैक अप का समय बताते हैं ,“करीब ग्यारह बज़े।” दोपहर वे चहकते से, बेहद खुश लौटते हैं, “तुम क्यों नहीं आईं?” “कोचिंग इंस्टीट्यूट ...

    दह--शत - 28
    by Neelam Kulshreshtha

    दह--शत [ नीलम कुलश्रेष्ठ ] एपीसोड ---28 समिधा को अपने घर के दीवान पर बैठी व कहती, “हाँ, मैं बहुत बोल्ड हूँ। मैं बहुत बोल्ड हूँ।” फुँफ़कारती कविता याद ...

    विरासत - 6
    by श्रुत कीर्ति अग्रवाल

                                                             विरासत ...

    दह--शत - 27
    by Neelam Kulshreshtha

    दह--शत [ नीलम कुलश्रेष्ठ ] एपीसोड ---27 अब वह नोट कर पाती है, अक्सर लंच के समय या कभी-कभी सुबह सात बजे इंटरनल फ़ोन पर एक रिंग आती थी ...

    फ्यू डिकेड्स ऑफ़ अंडरवर्ल्ड - भाग -१ - १९ जनवरी २०२०
    by Manthan Thakkar

    हेलो दोस्तों कैसे हे? जैसे की आप सब जानते हो मेने इस २०२० के नए साल को एनाउंसमेंट किया था की हर रविवार को में एक नयी स्टोरी के ...

    दह--शत - 26
    by Neelam Kulshreshtha

    एपीसोड ---२6 समिधा के बैंक का सही समय बताने पर अभय घर से जल्दी जाने की कोशिश नहीं करते। शाम को चाय पीकर कम्प्यूटर की किसी वहशी वैबसाइट पर ...

    विरासत - 5
    by श्रुत कीर्ति अग्रवाल

                                                              ...

    दह--शत - 25
    by Neelam Kulshreshtha

    एपीसोड ---२५         बुआ जी के सामने जब कविता की बात  खुल गई थी तो समिधा ने  उनसे अपना शक ज़ाहिर किया , “ बुआजी ऐसा लगता है वह अपने ...

    एक परछाई
    by Renu Jindal

    एक प्यारी सी बच्ची रिया जो  पांचवी कक्षा की छात्रा थी। वह शहर के सबसे अच्छे स्कूल डी•पी•एस इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ती थी। स्कूल में उसका बहुत मन लगता ...

    दह--शत - 24
    by Neelam Kulshreshtha

    दह--शत [ नीलम कुलश्रेष्ठ ] एपीसोड --24 “तुम अठ्ठाइस साल पुरानी हो गयी हो तुम इन बातों को क्या समझो? मुझमें सच ही कुछ है।” अभय उनकी भाषा व ...

    दह--शत - 23
    by Neelam Kulshreshtha

    एपीसोड –२३ शाम को वह साफ़ महसूस कर रही है अभय व उसकी साँसों में तनाव उनके घर में आने के साथ आ घुसा है। वह शाम को बैडरूम ...

    दह--शत - 22
    by Neelam Kulshreshtha

    दह--शत [ नीलम कुलश्रेष्ठ ] एपीसोड – 22 “हाँ, जी कविता मैडम को पहचानता हूँ।” दुकानदार समिधा की बात का उत्तर देता है। “उनका मोबाइल बंद है। यदि वह ...

    विरासत - 4
    by श्रुत कीर्ति अग्रवाल

    विरासत                                                                 पार्ट  -  5 सुबह-सवेरे  ग्लोरिया के कमरे की साफ-सफाई, उनके हाथ-पैरों के घावों की मरहम-पट्टी, फिर कुछ पका कर उन्हें  खिलाते हुए उसे महसूस हो रहा था ...

    खौफ़...एक अनकही दास्तान - भाग-6
    by Akassh Yadav Dev

    इस कथाकन न पांच भागों को पढ़ने के बाद आप सबको अहसास तो हो ही गया होगा कि ये एक बहुत ही बड़ी मिस्ट्री  और सस्पेंस से भरी स्टोरी ...

    सातवां ब्रेकअप
    by Saroj Prajapati

    यह, यह क्या‌ है मधु! यह किसकी शादी का कार्ड है! रोहण उसे खोलते हुए बोला और जैसे ही उसने कार्ड पर मधु और शिवम का नाम पढ़ा। वहीं ...

    दह--शत - 21
    by Neelam Kulshreshtha

    दह--शत [ नीलम कुलश्रेष्ठ ] एपीसोड – 21 ऋचा ने पड़ौसिन का स्वागगत किया “मैं ऋचा हूँ। अंदर आइए।” “मैं आपसे माफ़ी माँगने आई हूँ। आपके यहाँ के गृहप्रवेश ...

    खौफ़...एक अनकही दास्तान - भाग-5
    by Akassh Yadav Dev

    लिसा के मोबाइल के कॉल डिटेल्स से ये साफ हो गया था कि लिसा के फोन पर आने वाला आखिरी कॉल साहिल का ही था,और इन दोनों के ही ...

    दह--शत - 20
    by Neelam Kulshreshtha

    एपिसोड -२० वह उनके मोबाइल की कम्पनी में जाती है । वहाँ का अधिकारी कहता है, “वॉट’स ए जोक! आप शक्ल से तो पढ़ी लिखी लगती हैं क्या आपको ...