Women Focused Books in Hindi language read and download PDF for free

    औरतें रोती नहीं - 2
    by Jayanti Ranganathan
    • 1.1k

    औरतें रोती नहीं जयंती रंगनाथन Chapter 2 रंग धुआं-धुआं ऐसा नहीं कि मैं शादी से पहले स्त्री-पुरुष के रिश्ते से अनभिज्ञ थी। बहुत कुछ जानती थी। पत्रिकाओं में पढ़कर, ...

    आघात - 46
    by Dr kavita Tyagi
    • 1.7k

    आघात डॉ. कविता त्यागी 46 अपने बयान की प्रतिक्रियास्वरुप रणवीर का व्यवहार पूजा को तनिक भी अस्वाभाविक प्रतीत नहीं हो रहा था । वह रणवीर के स्वभाव से भली-भाँति ...

    औरतें रोती नहीं - 1
    by Jayanti Ranganathan
    • 1.3k

    औरतें रोती नहीं जयंती रंगनाथन एक जिंदगी और तीन औरतें मैं हूं उज्ज्वला: जनवरी, 2006 1 मामूली औरतें जिंदगी... कल तक अगर मुझसे बयां करने को कहा जाता, तो ...

    आघात - 45
    by Dr kavita Tyagi
    • (11)
    • 2.1k

    आघात डॉ. कविता त्यागी 45 पूजा सोच रही थी - ‘‘मैंने बेटों के प्रति अपने दायित्व का पूर्ण निर्वाह करते हुए इन्हें सुयोग्य नागरिक बना दिया है ! अब ...

    बेटी की इच्छा..
    by VîPîN tRîPâThÎ
    • 1.8k

    मातृत्व- एक छोटा-सा शब्द, जो अपने आप में पूरा संसार सुंदरता, ऐसो आराम, ज्ञान समेटे है. यह एक जादुई शब्द है, एक जादुई एहसास, जो कई जीवनों को बदलता ...

    कृष्णा भाग-५
    by Saroj Prajapati
    • 872

    धीरे धीरे समय का पहिया आगे बढ़ता जा रहा था। कृष्णा को नौकरी करते हुए 4 साल हो गए थे और इस बीच अपनी योग्यता के बलबूते परीक्षा पास ...

    मेरा मित्र
    by ️️️️Miss
    • (13)
    • 897

    गुंजन के फोन की घंटी बजती है... गुंजन : हेलो पापा,राधे राधे।पापा: हा बेटा, राधे राधे।कुछ बात करनी थी तुमसे ,कितनी देर लगेगी घर आने में?गुंजन : हा पापा, मै ...

    आघात - 44
    by Dr kavita Tyagi
    • 441

    आघात डॉ. कविता त्यागी 44 इन सात वर्षो में एक ओर, रणवीर और पूजा एक-दूसरे से अलग होने के लिए लड़ते रहे थे, तो दूसरी ओर उनके दोनों बेटे ...

    जुड़ने से पहले
    by किशनलाल शर्मा
    • 439

    "देखो माला।""रुमाल तो बड़े   सुंदर है,"माला   रूमालों को देखते हुए बोली,"जेंट्स रूमाल है।किसके लिए खरीदकर   लायी हो?""राजन के लिये," इला बोली,"अपने लिये रूमाल  खरीदने गई थी।यह भी पसंद आ ...

    आघात - 43
    by Dr kavita Tyagi
    • (15)
    • 336

    आघात डॉ. कविता त्यागी 43 भारतीय प्रोद्योगिकी संस्थान आई.आई.टी. में अध्ययन करते हुए प्रियांश का बी.टेक. का प्रथम वर्ष पूर्ण हो चुका था । प्रथम वर्ष का उसका शैक्षिक-परिणाम ...

    आघात - 42
    by Dr kavita Tyagi
    • (11)
    • 347

    आघात डॉ. कविता त्यागी 42 पूजा की चिन्ता का विषय उस समय इतना महत्वपूर्ण था कि उसने अत्यन्त थकी हुई होने पर भी जागकर बच्चों की प्रतीक्षा करना आवश्यक ...

    सुजाता
    by S Sinha
    • 327

                                                              ...

    कृष्णा भाग-४
    by Saroj Prajapati
    • 321

    वर्ष पंख लगाते ही बीत गए। दुर्गा एक प्यारे से बेटे की मां बन गई थी और कृष्णा ने नई ऊंचाइयों को ‌छूते हुए बीएससी फर्स्ट डिवीजन  से पास ...

    एक लॉस्ट इंजीनियर की दास्तान
    by Saroj Verma
    • 325

    एक लॉस्ट इंजीनियर की दास्तान...!! मैं बहुत खुश था क्योंकि मेरा सिलेक्शन आर्मी ट्रेनिंग कैंपस लैंसडाउन में हुआ था, वैसे भी मुझे पहाड़ी इलाका बहुत पसंद हैं और फिर ...

    आघात - 41
    by Dr kavita Tyagi
    • (12)
    • 326

    आघात डॉ. कविता त्यागी 41 धीरे-धीरे समय बीतता जा रहा था । दो वर्ष हो चुके थे, किन्तु अभी तक कोर्ट के माध्यम से पूजा को और उसके बच्चों ...

    कब्रिस्तान का रहस्य
    by JYOTI PRAKASH RAI
    • 310

    मै कहती हूं रामू के काका आज के बाद रामू पानी भरने वहां नहीं जाएगा। जाना होगा तो तुम ही जाओ नहीं तो मै खुद ही जा कर पानी ...

    आघात - 40
    by Dr kavita Tyagi
    • (12)
    • 363

    आघात डॉ. कविता त्यागी 40 वाणी के विषय में सोच-सोचकर मुस्कराते हुए रणवीर अपने आॅफिस में लौट गया। उसके आने के लगभग एक घन्टा पश्चात् उसके लिए आॅफिस के ...

    वो बहुत अच्छी लड़की थी
    by Saroj Verma
    • (19)
    • 467

    वो अच्छी लड़की थी....!! दरवाजे की घंटी बजी.... श्यामा जी ने दरवाज़ा खोला और दरवाजा खुलते ही___ नमस्ते भाभीजी,सोहन लाल त्रिपाठी जी ने श्यामा जी से कहा।। अरे, भाईसाहब ...

    विधवाएं
    by Neela Prasad
    • 362

    विधवाएं नीला प्रसाद ‘किसी का हर वक्त आसपास होना वह तटस्थता स्थापित होने नहीं देता जो उसे ठीक से समझ पाने की दृष्टि देता है। हर वक्त का साथ ...

    आघात - 39
    by Dr kavita Tyagi
    • 431

    आघात डॉ. कविता त्यागी 39 रणवीर के विरुद्ध खडे़ होने पर पूजा को ज्ञात हुआ कि वाणी के अतिरिक्त रणवीर ने कई अन्य स्त्रियों के साथ अवैध-अनैतिक सम्बन्ध बनाये ...

    उसकी आजादी
    by padma sharma
    • 292

    उसकी आजादी   मुझे हतप्रभ छोड बादामी तो एक झटके से बाहर निकल गई लेकिन मैं उसके शब्दों के अर्थ खोजने लगी थी। उसकी बातें दोगुने वेग से मेरे ...

    कृष्णा भाग-३
    by Saroj Prajapati
    • 375

    इसी बीच कमलेश ने एक बेटे को जन्म दिया । दादी को पोता और बहनों को भाई मिल गया था । परिवार में सभी बहुत खुश थे । कृष्णा ...

    माँ का दमा
    by Deepak sharma
    • 314

    माँ का दमा पापा के घर लौटते ही ताई उन्हें आ घेरती हैं, ‘इधर कपड़े वाले कारख़ाने में एक ज़नाना नौकरी निकली है. सुबह की शिफ़्ट में. सात से ...

    कल्युग की पांचाली - 3 (अंतिम पार्ट)
    by Uday Veer
    • (17)
    • 446

    एक दिन ऊषा किसी काम में लगी होती है, और बच्ची जोर जोर से रो रही होती है, लेकिन कोई भी बच्ची को उठाकर गोद में नहीं लेता, जब ...

    लिपस्टिक
    by Neela Prasad
    • 403

    लिपस्टिक नीला प्रसाद ये कहां आ गई मैं! सबकुछ नया। शहर, दफ्तर, वातावरण, पति और इस चार्टर्ड बस में बैठने का अनुभव भी। अदिति रोमांचित है। ऊंची-ऊंची इमारतें और ...

    आघात - 38
    by Dr kavita Tyagi
    • 378

    आघात डॉ. कविता त्यागी 38 जिस तकनीकी ज्ञान और व्यावसायिक प्रशिक्षण की आवश्यकता पूजा को आज अनुभव हो रही थी, उसका विकास केवल आर्थिक स्वावलम्बन के उद्देश्य से किया ...

    कल्युग की पांचाली - 2
    by Uday Veer
    • 531

    ऊषा के कानों में सास की आवाज किसी धमाके की तरफ गूंजती है, वह किसी पत्थर की निष्प्राण प्रतिमा की तरह बैठी होती है पांचों लड्के ऊषा के गले ...

    बेटी का पत्र
    by Saroj Verma
    • 415

    क्या हुआ जी? आज आप बहुत दुःखी लग रहे, ठीक से खाना भी नहीं खा रहे!! हवलदार रामकिशोर की पत्नी सुधा ने अपने पति से पूछा।। बस ऐसे ही ...

    अशीर्वाद ??
    by Pranava Bharti
    • 321

    अशीर्वाद ?? -----------------                                                     ...

    कोरोना-लॉकडाउन से बदल गयी जिंदगी
    by r k lal
    • (28)
    • 678

    कोरोना-लॉकडाउन से बदल गयी जिंदगी आर० के० लाल                      "तुम क्या समझते हो अपने आपको? मैं तुम्हारी नौकरानी नहीं हूं”। तनु किचेन से चिल्लाते हुए अपने पति सुमेर ...