Hindi Novels and Stories Download Free PDF

You are welcome to the world of inspiring, thrilling and motivating stories written in your own language by the young and aspiring authors on Matrubharti. You will get a life time experience of falling in love with stories.


Languages
Categories
Featured Books

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा By Kishanlal Sharma

22 जनवरी2024
इतिहास के पन्ने में दर्ज एक तारीख ही नही है।सनातन के पुनर्जागरण के श्री गणेश का दिन भी है।और राम के14 वर्ष के वनवास से लौटने के बाद त्रेता युग मे दिवाली मनाई गई थी।कल...

Read Free

भगवान्‌ के चौबीस अवतारों की कथा By Renu

अचिन्त्य परमेश्वर की अतर्क्स लीला से त्रिगुणात्मक प्रकृति द्वारा जब सृष्टि-प्रवाह होता है तो उस समय रजोगुण से प्रेरित वे ही परब्रह्म परमात्मा सगुण होकर अवतार ग्रहण करते हैं। वस्तुत...

Read Free

ब्रम्हशिर By Shailesh Chaudhari

प्रकृति मेरी अध्यक्षतामें सम्पूर्ण चराचर जगत् को रचती है। हे कुन्तीनन्दन ! इसी हेतुसे जगत् का विविध प्रकारसे परिवर्तन होता है।

महाभारत का युद्ध समाप्त हो चुका था, दुर्योधन के सं...

Read Free

राजकुमारी शिवन्या By Mansi

दोस्तो यह कहानी का स्थल , नाम पूरी तरह से काल्पनिक है इसका हमारे पुराने इतिहास से कोई लेनादेना नहीं है , आप सिर्फ इस कहानी के पढ़ने का आनंद लीजिए , तो चलिए कहानी शुरू करते है।

क...

Read Free

रामायण की कथा भजन के माध्यम से मेरे शब्दों में By Dave Rup

हम कथा सुनाते राम सकल गुणधाम की,
ये रामायण है पुण्य कथा श्री राम की।।

श्लोक – ॐ श्री महागणाधिपतये नमः,
ॐ श्री उमामहेश्वराभ्याय नमः।
वाल्मीकि गुरुदेव के पद पंकज सिर नाय,
सुमि...

Read Free

पौराणिक कथाये By Devaki Ďěvjěěţ Singh

कार्तिक माह में शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को गोवर्धन पूजन किया जाता है। खासतौर पर यह त्यौहार मनुष्यों के द्वारा प्रकृति के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने के लिए गोवर्धन का ये पर्व मन...

Read Free

रामायण By Kartik Arya

गोस्वामी तुलसीदास ने जब रामायण अपनी प्रादेशिक भाषा अवधी मे लिखी, तो उसपर बहुत विवाद हुआ। परंतु गोस्वामी जी ने अपना फैसला नहीं बदला क्योंकि उन्हें इस का विश्वास था कि रामायण की कहान...

Read Free

चुड़ैल - इनविटेशन ऑफ जंगल By Parveen Negi

यह कहानी किसी भी जाति वर्ग स्थान भाषा धर्म लिंग से मैच नहीं खाती है इसे लिखने का मुख्य उद्देश्य सिर्फ मनोरंजन है और इसे मनोरंजन के लिए ही लिखा गया है फिर भी अगर कुछ तथ्य मिलते हैं...

Read Free

गुरुपत्नी रुचि और ऋषि विपुल By Kishanlal Sharma

"यज्ञ--लेकिन रुचि
ऋषि देवशर्मा अपने ही विचारों में उलझे थे।ऋषि की यज्ञ करने की इच्छा पिछले कुछ दिनों से काफी बलवती हो रही थी।लेकिन रुचि को लेकर वह चिंतित थे।जब वह यज्ञ करने के...

Read Free

महादेव... मेरी नजर से By Jaimini Brahmbhatt

"आदि है वो अंत है,आकार नहीं साक्षात्कार है वो, निराकार निर्विकार ओमकार है,वो अंत है अनादि है, जगतपिता जगत व्यापी है, जो हर कन मे बसे है हर मन मे बसें है बस हम उनसे अलग हो जाते...

Read Free

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा By Kishanlal Sharma

22 जनवरी2024
इतिहास के पन्ने में दर्ज एक तारीख ही नही है।सनातन के पुनर्जागरण के श्री गणेश का दिन भी है।और राम के14 वर्ष के वनवास से लौटने के बाद त्रेता युग मे दिवाली मनाई गई थी।कल...

Read Free

भगवान्‌ के चौबीस अवतारों की कथा By Renu

अचिन्त्य परमेश्वर की अतर्क्स लीला से त्रिगुणात्मक प्रकृति द्वारा जब सृष्टि-प्रवाह होता है तो उस समय रजोगुण से प्रेरित वे ही परब्रह्म परमात्मा सगुण होकर अवतार ग्रहण करते हैं। वस्तुत...

Read Free

ब्रम्हशिर By Shailesh Chaudhari

प्रकृति मेरी अध्यक्षतामें सम्पूर्ण चराचर जगत् को रचती है। हे कुन्तीनन्दन ! इसी हेतुसे जगत् का विविध प्रकारसे परिवर्तन होता है।

महाभारत का युद्ध समाप्त हो चुका था, दुर्योधन के सं...

Read Free

राजकुमारी शिवन्या By Mansi

दोस्तो यह कहानी का स्थल , नाम पूरी तरह से काल्पनिक है इसका हमारे पुराने इतिहास से कोई लेनादेना नहीं है , आप सिर्फ इस कहानी के पढ़ने का आनंद लीजिए , तो चलिए कहानी शुरू करते है।

क...

Read Free

रामायण की कथा भजन के माध्यम से मेरे शब्दों में By Dave Rup

हम कथा सुनाते राम सकल गुणधाम की,
ये रामायण है पुण्य कथा श्री राम की।।

श्लोक – ॐ श्री महागणाधिपतये नमः,
ॐ श्री उमामहेश्वराभ्याय नमः।
वाल्मीकि गुरुदेव के पद पंकज सिर नाय,
सुमि...

Read Free

पौराणिक कथाये By Devaki Ďěvjěěţ Singh

कार्तिक माह में शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को गोवर्धन पूजन किया जाता है। खासतौर पर यह त्यौहार मनुष्यों के द्वारा प्रकृति के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने के लिए गोवर्धन का ये पर्व मन...

Read Free

रामायण By Kartik Arya

गोस्वामी तुलसीदास ने जब रामायण अपनी प्रादेशिक भाषा अवधी मे लिखी, तो उसपर बहुत विवाद हुआ। परंतु गोस्वामी जी ने अपना फैसला नहीं बदला क्योंकि उन्हें इस का विश्वास था कि रामायण की कहान...

Read Free

चुड़ैल - इनविटेशन ऑफ जंगल By Parveen Negi

यह कहानी किसी भी जाति वर्ग स्थान भाषा धर्म लिंग से मैच नहीं खाती है इसे लिखने का मुख्य उद्देश्य सिर्फ मनोरंजन है और इसे मनोरंजन के लिए ही लिखा गया है फिर भी अगर कुछ तथ्य मिलते हैं...

Read Free

गुरुपत्नी रुचि और ऋषि विपुल By Kishanlal Sharma

"यज्ञ--लेकिन रुचि
ऋषि देवशर्मा अपने ही विचारों में उलझे थे।ऋषि की यज्ञ करने की इच्छा पिछले कुछ दिनों से काफी बलवती हो रही थी।लेकिन रुचि को लेकर वह चिंतित थे।जब वह यज्ञ करने के...

Read Free

महादेव... मेरी नजर से By Jaimini Brahmbhatt

"आदि है वो अंत है,आकार नहीं साक्षात्कार है वो, निराकार निर्विकार ओमकार है,वो अंत है अनादि है, जगतपिता जगत व्यापी है, जो हर कन मे बसे है हर मन मे बसें है बस हम उनसे अलग हो जाते...

Read Free