मैं,भूपेन्द्र डोंगरियाल, मातृभारती पर पिछले कुछ दिनों से अपनी रचनाएँ आप सभी के समक्ष रखता आ रहा हूँ. एक गुमनाम रचनाकार की रचनाओं को पढ़ने के लिए आप सभी का हार्दिक आभार .