Tangewale ka bhai by Saadat Hasan Manto in Hindi Short Stories PDF

ताँगेवाले का भाई

by Saadat Hasan Manto Verified icon in Hindi Short Stories

सय्यद ग़ुलाम मुर्तज़ा जीलानी मेरे दोस्त हैं। मेरे हाँ अक्सर आते हैं घंटों बैठे रहते हैं। काफ़ी पढ़े लिखे हैं उन से मैंने एक रोज़ कहा! “शाह साहब! आप अपनी ज़िंदगी का कोई दिलचस्प वाक़िया तो सनाईए!” शाह साहब ...Read More