Bevajah - 5 by Harshad Molishree in Hindi Women Focused PDF

बेवजह... भाग ५

by Harshad Molishree in Hindi Women Focused

अब तक...ठक ठक की आवाज़ स सरला जाग गयी, सरला समझ गयी कि दरवाज़े पर ठाकुर होगा... मारे घबराहट के सरला पसीने मैं लटपट होचुकीथी, सरला वही घबराहट के मारी बैठी रही, सरला की हिम्मत ही नही हो रही ...Read More