Na moujudagi by HeemaShree “Radhu” in Hindi Poems PDF

ना मौजूदगी

by HeemaShree “Radhu” in Hindi Poems

ना - मौजूदगीखाली नहीं है नामौजूदगी तेरी, ये भरी हुई है तेरी याद से, तुझसे की थी मैंने हर उस बात से... जाना भरी हुई है ना मौजूदगी तेरी, किनारों तक तेरे एहसास से... इस कमरे का जो ये ...Read More