Dhundhalee Tasveeren by Vinay Tiwari in Hindi Poems PDF

धुँधली तस्वीरें

by Vinay Tiwari in Hindi Poems

1)ऐसा ज़रूरी नहीं, राह का हर व्यक्ति हँस कर मिलें, कोई गले मिलकर, थोड़ा सा रो दें, और कुछ न कहें। यहाँ पर वो ख़ुशियाँ हर वक़्त क़िस्मत में ना भी मिलें, मगर कोई साथ चलकर हिम्मत देने की ...Read More