Manav Dharm by Seema Jain in Hindi Short Stories PDF

मानव धर्म

by Seema Jain Matrubharti Verified in Hindi Short Stories

अचानक इंसान महसूस करता है जीवन कितना छोटा है और हमेशा जैसा कुछ नहीं है ।सब कुछ मन मुताबिक घट रहा था, कोई कमी नहीं थी तो नीतू को गुमान हो गया अपनी योग्यता से कुछ भी हासिल किया ...Read More