Nakaab by किशनलाल शर्मा in Hindi Short Stories PDF

नक़ाब

by किशनलाल शर्मा Matrubharti Verified in Hindi Short Stories

"मै आपको जहमत देना चाहूंगी",नसीम ऑफिस में बैठा रिजर्वेशन ऑफिस से आये चार्टों को देख रहा था।तभी एक औरत उसके पास आकर बोली थी।उस औरत की आवाज मै ऐसा जादू था कि नसीम नज़रे उठाकर देखे बिना नही रह ...Read More