Gavaksh - 6 by Pranava Bharti in Hindi Social Stories PDF

गवाक्ष - 6

by Pranava Bharti Matrubharti Verified in Hindi Social Stories

गवाक्ष 6= वे बात करते-करते जैसे बार-बार अपने वर्तमान से भूत में प्रवेश कर जाते थे । अपने क्षेत्र में प्रवेशकर उन्होंने राजनीति की वास्तविकता को समझा था । समाज के लिए कुछ व्यवहारिक कार्य करने का उनका उत्साह ...Read More