Krishna- This conversation is mine and yours - 2 by Meenakshi Dikshit in Hindi Poems PDF

ये मेरा और तुम्हारा संवाद है #कृष्ण – 2

by Meenakshi Dikshit in Hindi Poems

1. तुम्हारे स्वर का सम्मोहन तुम्हारे अनुराग की तरह, तुम्हारे स्वर का सम्मोहन भी अद्भुत है, अपनत्व की सघनतम कोमलता, और सत्य की अकम्पित दृढ़ता का ये संयोग तुम्हारे पास ही हो सकता है. और स्वरों के इसी अपरिमेय ...Read More