bharosa - 1 by किशनलाल शर्मा in Hindi Love Stories PDF

भरोसा--अनोखी प्रेम कथा - 1

by किशनलाल शर्मा Matrubharti Verified in Hindi Love Stories

"वाह--ब्यूटीफुल-अतिसुन्दर-बेमिसाल",बाएं हाथ मे लगी मेहंदी को देखकर प्रफ्फुलित होते हुए दाया हाथ आगे करते हुए रीना बोली,"राजेश देखेगा तो खुश हो जाएगा।""राजेश कौन?""हसबेंड--मेेरा पति।"आज करवा चौथ थी।सुहागनों का त्यौहार।औरतो ने अपने सुुहग की ...Read More