Bharosa - 3 by किशनलाल शर्मा in Hindi Love Stories PDF

भरोसा- -अनोखी प्रेम कथा (भाग 3)

by किशनलाल शर्मा Matrubharti Verified in Hindi Love Stories

वह जाती तो कहा जाती?वह अपने अब्बा के पास लौट आयी।तलाक की बात सुनकर रहीस बहुत दुखी हुआ।पर कर कुछ नही सकता था।उसके धर्म मे ऐसा करना जायज था।मर्द को अख्तियार था कि तीन बार तलाक़ बोलकर बीबी से ...Read More