अक्षयपात्र : अनसुलझा रहस्य - 1

by Rajnish in Hindi Short Stories

अक्षयपात्र : अनसुलझा रहस्य (भाग - 1) चारों तरफ दर्शक दीर्घा को देखते हुए.... विवेक बंसल: यश! कुछ भी हो, आज भी लड़कियों के बीच में तुम्हारा जादू बरकरार है (चुटकी लेते हुए) तभी उद्घोषणा कक्ष से सूचना प्रसारित ...Read More