पिताजी चुप रहते हैं: ज्ञानप्रकाश विवेक

by राज बोहरे Matrubharti Verified in Hindi Book Reviews

कहानी संग्रह पिताजी चुप रहते हैं: ज्ञानप्रकाश विवेक कविता का मजा देती कहानियाँ कुछ आलोचक जो कविता और कहानी में गलत फहमिया पैदा करके दोनों की भाषा , शिल्प, विशय वैविध्य आदि के आधार पर कहानी में संवेदना ...Read More