Punarjanm by Mamta in Hindi Short Stories PDF

पुनर्जन्म

by Mamta in Hindi Short Stories

पुनर्जन्म गुरुद्वारे की ठंडी ठंडी सीढ़ियों पर कदम रखती हरदीप आँखो में नमी और हृदय में आशा लिए वाहे गुरु का जप करती जा रही थी ।रोज़ की तरह आज फिर वाहेगुरु से अरदास करेगी अपनी ...Read More