मेरी हिंदी कविताएं

by Falguni Shah Matrubharti Verified in Hindi Poems

✍️शफ़क़✍️मेरी हर शफ़क़ कोइत्र सी महका जाती हैमेरी रुह में बसकर बिख़र जाती हैतेरी वो बेसुमार महोब्बत की कशीशजो आज भी तेरी ख़ामोशीऔर मेरे इंतज़ार के दरम्या भीकुछ तो राब्ता होने कीनायाब उम्मीद लेकर आती हैजो हमें हर शफ़क़ ...Read More