premchand ka samaj by कृष्ण विहारी लाल पांडेय in Hindi Human Science PDF

प्रेमचन्द का समाज

by कृष्ण विहारी लाल पांडेय Matrubharti Verified in Hindi Human Science

कृष्ण विहारी लाल पाण्डे लेख- प्रेमचन्द का समाजहिंदी कथा साहित्य के प्रतीक रचनाकार प्रेमचंद के अन्य प्रदेशों के साथ उनकी प्रासंगिकता का विशेष उल्लेख किया जाता है । प्रासंगिकता के 2 आयाम होते हैं -एक अपने समय में सार्थक ...Read More