Radharaman vaidya-bajar ki shiksha v shiksha ka bajar - 5 by राजनारायण बोहरे in Hindi Human Science PDF

राधारमण वैद्य-आधुनिक भारतीय शिक्षा की चुनौतियाँ - 5

by राजनारायण बोहरे Matrubharti Verified in Hindi Human Science

बाजार की शिक्षा या शिक्षा का बाजार शिक्षा का स्वरूप समाज का निर्माण करता है और सामाजिक प्रयोजन शिक्षा के स्वरूप को बदलता है। शिक्षा का अस्तित्व समाज से अलग नहीं होता। शिक्षा सदैव समाज सापेक्ष होती है। ...Read More