Duri n rahe koi - 1 by किशनलाल शर्मा in Hindi Adventure Stories PDF

दूरी न रहे कोई ( पार्ट 1)

by किशनलाल शर्मा Matrubharti Verified in Hindi Adventure Stories

"क्या लेंगे आप?""तुम कौन हो?" दरमियाने कद की युवती को अपने साामने खड़ा देखकर राजन बोला था।"मैं इस बार मे नौकरी करती हूँ"वह औरत बोली,"वेटर हूँ।""औरत होकर बार मे वेटर?"राजन ने कहा तो दिया लेकिन उसे अपनी कही हुई ...Read More