Sattva, Raja and Tama by Rudra S. Sharma in Hindi Spiritual Stories PDF

सत्त्व, रज और तम

by Rudra S. Sharma Matrubharti Verified in Hindi Spiritual Stories

सत्त्व, रज और तमगुण :- गुण का अर्थ होता है अनुकूलता अर्थात् जिसमें कर्ता का या धारण करने वाले का हित निहित होता हैं। कर्ता की धारण करने वाले का हित अर्थात् संतुष्टि निहित होती हैं। संतुष्टि से तात्पर्य ...Read More