Vaishya ka Bhai - 2 by Saroj Verma in Hindi Classic Stories PDF

वेश्या का भाई - भाग(२)

by Saroj Verma Matrubharti Verified in Hindi Classic Stories

कुछ वक्त के बाद केशर बाई की पालकी नवाबसाहब की हवेली के सामने जाकर रूकी,साथ में बब्बन और जग्गू भी पीछे पीछे आ पहुँचें,केशरबाई जैसे ही पालकी से उतरी और उसके कद़म जैसे ही हवेली के दरवाज़े पर पड़े ...Read More


-->