दुनिया ️️️हमारा परिवार है ॥ सभी अपने है चाहे वो कोई पत्थर हो या पानी ॥ इस दुनिया की हर प्राकतिक सम्पति हमारी है ।उसकी इज्जत करे II I ।० V९ ५०५ ॥ इसमे २ह ने वाले सभी लोग हमारे अपने है । ।सभी से प्रेम करे और इज्जत भी करे उनकी ॥ क्योकि कभी भी कोई भीकाम आ सकता है छोटे बड़े का भेद.न करे ॥ शुरूआत अपने घर से करो॥ धन्यवाद Pankaज

    No Novels Available

    No Novels Available