awadh vihari pathak-samiuksha-alochna ek aur path by कृष्ण विहारी लाल पांडेय in Hindi Book Reviews PDF

अवध बिहारी पाठक-समीक्षा-आलोचना एक और पाठ

by कृष्ण विहारी लाल पांडेय in Hindi Book Reviews

आलोचना की जड़ता को तोड़ता विमर्श -अवध बिहारी पाठक प्रसिद्ध आलोचक शंभुनाथ ने एक जगह कहा है कि "आलोचना का पहला काम पीछे लौटती सभ्यताओं के छली बिम्बों पर प्रति आक्रमण तेज करते हुए उस साहित्य की पुनः प्रतिष्ठा ...Read More