Free Best trending stories in gujarati, hindi, marathi and english language

    ज्यादा जोगी मठ उजाड़
    by Bhupendra Dongriyal
    • (1)
    • 6

              "ज्यादा जोगी मठ उजाड़"                             (1)      एक राजा था । एक दिन उसे यह ज्ञात ...

    तक्सीम - 1
    by Pragya Rohini
    • (1)
    • 12

    ये शहर भी अजीब हैं न अनोखे? लाख गाली दे दिया करें रोज मैं और तू इन्हें पर इनके बिना तेरे-मेरे जैसों का कोई गुजारा है बोल? कितने साल ...

    कैदी नंबर 306
    by The Real Ghost
    • (2)
    • 218

    कैदी नंबर 306 कई कहानियों का संग्रह है जोकि भारतीय समाज से जुड़ी हुई कानूनी समस्याओं को विशेष तौर पर उन समस्याओं को जिन्हें आम इंसान देखना ही नहीं ...

    एक जिंदगी - दो चाहतें - 12
    by Dr Vinita Rahurikar
    • (2)
    • 29

    और तभी परम को लगने लगा उसके मन में तनु को लेकर कोमल भावनाएँ और ईच्छाएँ जन्म लेने लगी हैं। अपने आप में ये ईच्छाएँ बहुत पवित्र और नाजुक ...

    कविताएँ ज़िन्दगी की, ज़िन्दगी से
    by Shubham Maheshwari
    • (1)
    • 75

    The poem for every day life...official language is Hindi... I shubham maheshwari well known as shubham36 on wattpad...i am here with my most precious poems for you.

    बिराज बहू - 5
    by Sarat Chandra Chattopadhyay Verified icon
    • (4)
    • 54

    दो दिन बाद नीलाम्बर ने पूछा- “बिराज! सुन्दरी दिखाई नहीं पड़ रही है।” बिराज ने कहा- “मैंने उसे निकाल दिया।” नीलाम्बर ने उसे मजाक समझा, कहा- “अच्छा किया, मगर उसे हुआ ...

    आसपास से गुजरते हुए - 28 - Last part
    by Jayanti Ranganathan Verified icon
    • (1)
    • 46

    मुझे लगा था कि अप्पा अब मेरी शादी की बात नहीं उठाएंगे। पर दो दिन बाद बहरीन से त्रिवेन्द्रम आया, नगेन्द्रन अपनी बड़ी बहन के साथ मुझे देखने चला ...

    सत्या - 6
    by KAMAL KANT LAL
    • (1)
    • 21

    सत्या 6 सत्या ने जो मकान ख़रीदा था, वह बिल्कुल जर्जर स्थिति में था. एक कमरे की खपरैल की छत पूरी तरह टूट कर गिर गई थी. फर्श पर ...

    गुमशुदा की तलाश - 39
    by Ashish Kumar Trivedi Verified icon
    • (7)
    • 69

                    गुमशुदा की तलाश                           (39)दीप्ती की सूचना मिलने के बाद इंस्पेक्टर ...

    अफसर का अभिनन्दन - 30
    by Yashvant Kothari Verified icon
    • (2)
    • 46

    बधाई  से आर आई  पी तक                            यशवंत कोठारी    इन दिनों सोशल मीडिया पर जिन  शब्दों का सब से ज्यादा मिस यूज हो रहा है उन में इन ...

    अमर प्रेम - 6
    by Pallavi Saxena
    • (1)
    • 194

    उधर राहुल के मन की खुशी भी चौपाये नहीं चुप रही है। बहुत नसीब वाले होते हैं वो जीने प्यार को मंजिल मिला करती है। वरमाला गले मैं पड़ते ही दोनों ...

    प्रभु तू मेरे बस की बात नहीं है
    by Ajay Amitabh Suman Verified icon
    • (1)
    • 21

    मैं यहाँ पे तीन कविताओं को प्रस्तुत कर रहा हूँ (1) प्रभु तू मेरे बस की बात नहीं हैं (2) जग में डग का डगमग होना ,जग से है ...

    मेरे खुदा - तू ही है हर जगह
    by Deepti Khanna
    • (1)
    • 101

    यह कहानी है सच ,जो सुनाऊं मैं आज इस मंच के माध्यम से आज l खाए धोखे मैंने हजार , लोगों ने ताने मार मार तोरा मेरा आत्मविश्वास l ...

    फ़ैसला - 1
    by Rajesh Shukla
    • (3)
    • 159

    जून का महीना। उफ! ऊपर से ये गरमी। रात हो या दिन दोनों में उमस जो कम होने का नाम नहीं ले रही थी। दिन की चिलचिलाती धूप की ...

    बस अब और नहीं
    by Jyotsna Kapil
    • (6)
    • 64

    बस अब और नही कावेरी बड़ी तल्लीनता से बोलती जा रही थी, और मीटिंग में शामिल सभी सदस्य प्रशंसा के भाव लिए उसे देख रहे थे। उसके खामोश होते ...

    इंतज़ार
    by Anju Gupta
    • (7)
    • 184

    कहते हैं प्यार किया नहीं जाता बस हो जाता है ! पर ना जाने क्यों, ये अक्सर वहीं क्यों हो जाता है, जहाँ कायदे से इसे नहीं होना चाहिए ...

    फ़ैसला - 2
    by Rajesh Shukla
    • (3)
    • 63

    डाक्टर साहब के नौकर ने दौड़कर गेट खोला और कार ने उनके घर में प्रवेश किया। कार का दरवाजा खोलकर सिद्धेश ने नीचे उतरते ही नौकर से पूछने लगा। अरे! ...

    मम्मी पढ़ रही हैं - 3
    by Pradeep Shrivastava Verified icon
    • (3)
    • 109

    रिसीव करूं न करूं यही सोचते-सोचते रिंग खत्म हो गई। इसके बाद ऐसा तीन बार हुआ।कॉल रिसीव न करने पर उसने एस.एम.एस. किया कि फ़ोन नहीं उठाएंगी तो मैं ...

    न्यूड ग़ज़ल - 2
    by Junaid Chaudhary Verified icon
    • (4)
    • 70

    रात को फिर दानिश से बात करने की बेचैनी हुई तो  इंस्टा खोल लिया,उसका (गुड मॉर्निंग)  के मेसज के साथ दोपहर में (कहाँ हो ) भी पड़ा हुआ था,मेंने ...

    डॉमनिक की वापसी - 32
    by Vivek Mishra Verified icon
    • (1)
    • 55

    शिमोर्ग को आज अपने चारों ओर पहाड़ों का हरा रंग देखकर बचपन की होली याद आ रही थी, ऐसा ही गहरा रंग पोत देते थे, एक दूसरे के मुँह ...

    ‘बराबाद’ .... नहीं आबाद
    by Pragya Rohini
    • (3)
    • 87

    ‘‘ क्या नाम लेती हो तुम अपने गांव का... हां याद आया गन्नौर न। सुनो आज गन्नौर में दो प्यार करने वालांे ने जान दे दी ट्रेन से कटकर।’’ ‘‘हे ...

    सबरीना - 11
    by Dr. Shushil Upadhyay
    • (2)
    • 23

    सबरीना चुप हो गई और सुशांत गाड़ी से बाहर देखने लगा। सूरज ढले हुए काफी देर हो गई थी। कब चारों तरफ धुंधलका सा छा गया, पता ही नहीं ...

    बिराज बहू - 4
    by Sarat Chandra Chattopadhyay Verified icon
    • (12)
    • 124

    छ: माह बीत गये। पूंटी की शादी के समय ही छोटा भाई अपना हिस्सा लेकर अलग हो गया था। नीलाम्बर कर्ज आदि लेकर बहनोई की पढ़ाई व अपना घर ...

    प्रकृति मैम- बढ़ रही थी उम्र
    by Prabodh Kumar Govil
    • (2)
    • 334

    7. बढ़ रही थी उम्र, छोटा हो रहा था मैंैैंैंैैमैं मुंबई आ गया।पहले भी आता रहा था, मगर अब इस तरह आया कि मुंबई को अपना शहर कह सकूं।मेरा ...

    प्रकृति मैम - आई हवा
    by Prabodh Kumar Govil
    • (1)
    • 90

    10. आई हवागर्मी की छुट्टियां आई ही थीं कि घर से वो खबर भी आई कि मेरी मां, छोटा भाई और बहन कुछ दिन के लिए घूमने मुंबई आ ...

    फूल गुलाब सी वह लड़की
    by Ashish Dalal
    • (5)
    • 194

    फूल गुलाब सी वह लड़की शुचि. विश्वास और साहस से भरा वह लड़का अनिकेत. यह उनकी किस्मत ही थी कि कॉलेज की सीढ़ियां साथ उतरकर जिन्दगी की सीढ़ियां चढ़ते ...

    तेरे प्यार से इनकार नहीं
    by Ashish Dalal
    • (3)
    • 51

    नजरों को तेरे प्यार से इनकार नहीं है।अब मुझे किसी और का इन्तजार नहीं है।खामोश अगर हूं मैं तो ये वजूद है मेरा।तुम ये न समझना कि तुमसे प्यार ...

    आखर चौरासी - 32
    by Kamal
    • (1)
    • 33

    जिस समय विक्की अपना सफर पूरा कर बस से उतरा, दोपहर ढल चुकी थी। वैसे भी ठंढ के मौसम में दिन छोटे होते हैं। शाम गर्मियों कि अपेक्षा जल्द ...

    बेटा ही होगा...
    by Sarvesh Saxena Verified icon
    • (10)
    • 150

    दोस्तों, कभी कभी मेरे दिमाग मे कई बार सवाल आते हैं, जिनका जवाब मैं समाज से पूछना चाहता हूं |दोस्तों आज मैं अपने इन प्रश्नों और विचारों को कहानी ...