Free Best trending stories in gujarati, hindi, marathi and english language

    जेबकतरा
    by राज कुमार कांदु
    • 180

    कलुआ एक जेबकतरा है। आठ नवम्बर 2016 को मोदीजी के आर्थिक सर्जिकल स्ट्राइक का सबसे बड़ा पीड़ित पक्ष अगर कोई है तो वह है कलुआ जैसे छोटे मोटे जरायम पेशा ...

    ठंडे जी का स्टार्टअप
    by Prabodh Kumar Govil

    अब साल पूरा होने में केवल दो ही दिन बचे थे। न - न ...आज कोई उनतीस दिसंबर नहीं था। आज तो अठारह दिसंबर ही था। लेकिन आप सोच ...

    कोड़ियाँ - कंचे - 10 - अंतिम भाग
    by Manju Mahima

    Part- 10 अन्दर बहुत सारी महिलाएं घूँघट निकाले बैठी थीं, गायत्री जी थोड़ी चकित हुई, पराग ने आगे बढ़कर ‘मम्मी’ कहा और उनको लेकर गायत्री जी के साथ अलग ...

    विष कन्या - 7
    by Bhumika

            आगे हमने देखा कि महाराज और राजगुरु मृत्युंजय का परिचय राजवैद सुमंत से करवाते है। और राजवैध मृत्युंजय का परिचय अपनी सहायक और कनकपुर के ...

    तीजा
    by Sanjay Kale
    • 192

    डॉक्टर समीर: मैं मानस चिकत्सक डॉक्टर समीर। यह मेरा असली नाम नहीं हैं। इस कहानी में सारे नाम काल्पनिक हैं। क्योंकि पेशंट का नाम बताना इथिक्स के खिलाफ़ है। ...

    उजाले की ओर - 22
    by Pranava Bharti
    • 474

      उजाले की ओर  -------------- आ. एवं स्नेही मित्रो      नमस्कार        आजकल गायों के बारे में बहुत संवेदनशील हो गए हैं लोग ! गाय माता है दूध ...

    ताज़िया
    by आदित्य अभिनव
    • 402

                                             ताज़िया     प्रो. रामेश्वर उपाध्याय नित्य नियमानुसार वॉकिंग पर जाने ...

    वेंडिग इनविटेंशन .....A Horro Story
    by Henna pathan
    • (27)
    • 3.5k

    आज कल की शादीयों में भी खास करके भारतीय शादियों में 'अहम' भूमिका निभाता है! जहाँ इसके बिना शादियां अधुरी  रहती है और आज कल तरह तरह के डिजाइनर ...

    मुलाकात - 1
    by दिलीप कुमार
    • 261

    शाम का समय था... हल्की हल्की हवाओं के साथ छोटी छोटी बारिस की बूंदे पड़ रही थी। बड़ा ही सुहाना मौसम था...मैं ग्राउंड में टहल रहा था अचानक मेरे ...

    ब्रिस्बेन में जीत के मायने।
    by विवेक वर्मा
    • 129

    कोहली,अश्विन ,शमी,इशांत ,जड़ेजा ,उमेश ,बुमराह ,राहुल ये भारतीय टीम की पूरी बैकबोन है।लेकिन ये सभी बाहर थे।ब्रिस्बेन का गाबा मैदान आस्ट्रेलिया को इतना शूट करता है की 32 साल ...

    मिडिल बर्थ - 4
    by Ajay Kumar Awasthi
    • 210

    मिडिल बर्थ पार्ट 4 आज मैं उसके घर पर था । उनका घर बहुत सुंदर था । सामने आंगन में हरियाली थी आम का पेड़ था और बहुत से ...

    मैं तो ओढ चुनरिया - 1
    by Sneh Goswami
    • 297

      मैं तो ओढ चुनरिया अध्याय एक      कोई भूखा मंदिर इस उम्मीद में जाय कि उसे एक दो लड्डू या बूंदी मिल जाय तो रात आराम से ...

    चेक मेट - 17
    by Saumil Kikani
    • 291

                   एपिसोड 17क्लब में सूमित से मिलने के कामिनी बहार आती है और अपने पर्स से वो चेक फिर से देखती है। अपना ...

    अनफॉरट्यूनेटली इन लव (प्रेमि और प्रेमिका?) 18
    by Veena
    • 189

    उसका दिमाग सुन्न हो गया, और वह बिल्कुल नहीं जानती थी कि उसे क्या कहना चाहिए। उसका मुँह थोड़ा खुल गया, और घबड़ाकर, मूर्खता से, वो उसे घूरती रहीं। एक ही ...

    मरखना
    by Prabodh Kumar Govil
    • 426

    बंगले की छत से पीछे कुछ दूरी पर ग़ज़ब की हरियाली दिखाई देती थी। उस दिन मेरी बड़ी बहनजी मिलने आईं तो मैं उन्हें बंगला दिखाते हुए छत पर ...

    पथराई हुई औरत
    by Neelam Kulshreshtha
    • 210

    [ नीलम कुलश्रेष्ठ ] [ अब तक आपने लेखिका की चार कहानियां 'औरत सीरीज़ 'की पढ़ीं हैं -'वो दूसरी औरत', 'कटी हुई औरत ', उस पार की औरत ', ...

    तेरा साथ है तो मुझे क्या कमी हैं?
    by Saroj Verma
    • 174

    तेरा साथ हैं तो मुझे क्या कमी है? मम्मा! आपका टिफिन, फिर छोड़ दिया ना किचन में,आज फिर आपको कैन्टीन का लंच करना पड़ता, कितनी लापरवाह हैं ना आप! ...

    कर्मा - 6 - दिस इज़ वन वे रोड
    by Sushma Tiwari
    • 111

    दिस इज़ वन वे रोड... (गतांक से आगे) दूसरे दिन जब सिद्धार्थ चंदन के साथ कॉलेज पहुंचा तो उसका मन भटकते हुए पिछली रात में अटका हुआ था। आरती ...

    हरम सुलतान
    by Satish Sardana Kumar
    • 276

    जहाँ पर आज वर्तमान देश तुर्की है वहाँ कभी ओटोमन साम्राज्य हुआ करता था।ओटोमन तुर्क राजाओं में सबसे प्रसिद्ध और शक्तिशाली राजा सुलेमान हुआ है।सुलेमान को उसकी ताक़त और ...

    पुरस्कार
    by Alok Mishra
    • 162

           बहुत दिनों से सोच रहा था, कि कुछ नहीं बोलूंगा क्योंकि हम बोलेगा तो बोलोगे कि बोलता है। फिर हमें चुप रहना आता ही कहाँ है ? अब ...

    एक यात्रा समानान्तर - 2
    by Gopal Mathur
    • 153

    2 होटल के काॅरीडोर के आखिर में छोर पर है उसका कमरा, जहाँ इस समय वह अकेली लेटी हुई है. रात आहिस्ता आहिस्ता सरकती आ रही है, पर ड्रिंक्स ...

    कभी ना भूल पाने वाला सफर !
    by Swty Sharma
    • 210

    मैं अंकल को देख रही थी , अंकल काफी परेशान थे ,, देख कर लग रहा था अंकल को कुछ परेशानी हो रही है । मुझसे रहा नहीं गया और ...

    रत्नावली 17
    by ramgopal bhavuk
    • 231

     रत्नावली रामगोपाल भावुक                                   सत्रह                                            जब जब सोमवती का अवसर आता है। रत्नावली स्थूल शरीर से तो राजापुर में ही बनी रहतीं। लेकिन सूक्ष्म शरीर से वह ...

    वो लड़का
    by Yogesh Kanava
    • 195

        वो लड़का आज फिर से दीपेश बाॅस की डाँट खाकर आया। वो बिल्कुल उखड़ा हुआ था। रोज-रोज की डाँट खाने से तो अच्छा है मैं ही कुछ ...

    प्रायश्चित - भाग-3
    by Saroj Prajapati
    • 285

    शिवानी सोने की बहुत कोशिश कर रही थी लेकिन पिछली यादें जिन्हें वह भूलने की कोशिश में इतने सालों से लगी थी मानो आज फिर से जीवित हो उठी ...

    यादों के साये में....
    by Jyoti Prajapati
    • 246

    अपनी शादी की एल्बम में फ़ोटो देखते हुए दिव्या ने अपने पति की फोटोफ्रेम को हाथ मे उठाया और बोली, "सूनो..!याद है तुम्हे अपनी वो पहली मुलाकात जब तुम ...

    सपनों की उड़ान - 4
    by Shaikh Sabreen
    • 120

    यहां बड़ी माँ शगुन के परिवार को अपने घर बुलाती है। बाडे पापा ने शगुन के परिवार को ताना मरते है। उनका कहना है कि उन्होंने गठबंधन के लिए ...

    पश्चाताप के आंसू
    by Gyaneshwar Anand Gyanesh
    • 276

    कहानी "पश्चाताप के आँसू" आज हमारा समाज अनेक बुराइयों और कुरीतियों से ग्रस्त है। जिसमें सबसे बड़ी और भयंकर बुराई है "दहेज प्रथा" आज इसी बुराई के कारण हमारे ...

    सुलोचना - 9
    by Jyotsana Singh
    • 438

    भाग-९ सुलोचना मदमस्त नार सी तैयार होने के लिए स्नान घर के भीतर चली गई और मणि उसे जाते हुए स्नेह से देखता रहा और सोचता रहा। “एम.के.दादा और ...

    भेद - 9
    by Pragati Gupta
    • (18)
    • 846

    9. सृष्टि के ग्रेजुएशन फाइनल ईयर के इम्तिहान होने के बाद जैसे ही रिजल्ट आया सभी ने घर पर खूब मिठाइयां बांटी क्योंकि उसने पूरी यूनिवर्सिटी में टॉप किया ...