Dil ki zameen par thuki kile - 3 by Pranava Bharti in Hindi Short Stories PDF

दिल की ज़मीन पर ठुकी कीलें - 3

by Pranava Bharti Matrubharti Verified in Hindi Short Stories

अचानक उन्हें टी वी पर देखा, संगीत पर कुछ चर्चा चल रही थी।थोड़ा सा समय लगा पृष्ठ पलटने में लेकिन लगभग तीस वर्ष पूर्व की प्रथम कक्ष की रेलगाड़ी की यात्रा ने उनके दिल के द्वारा पर दस्तक दी ...Read More


-->