Dil ki zameen par thuki kile - 15 by Pranava Bharti in Hindi Short Stories PDF

दिल की ज़मीन पर ठुकी कीलें - 15

by Pranava Bharti Matrubharti Verified in Hindi Short Stories

दिल की ज़मीन पर ठुकी कीलें (लघु कथा-संग्रह ) 15-नंदू "ओय ---देख दीदी आ गईं ---" नंदू ने रिक्शा देखते ही चिल्लाकर अपने नौकर हेमू को आवाज़ दी | "दीदी ! नमस्ते ----" नंदू और हेमू दोनों के चेहरे ...Read More