Chudel - Invitation of Jungle - 11 in Hindi Mythological Stories by Parveen Negi books and stories PDF | चुड़ैल -इनविटेशन ऑफ जंगल - भाग 11

चुड़ैल -इनविटेशन ऑफ जंगल - भाग 11

कहानी का भाग 11

इस वक्त विष्णु और शंकर बेवजह की एक आफत में फंस चुके थे जिसमें इन दोनों के फंसने का कोई इरादा नहीं था, जंगल में चुड़ैल जो एक हफ्ते के लिए जागी हुई थी अब यह दोनों ही जंगल में फर्स्ट चुके थे,,

शंकर बंजारन की बात सुनकर,' क्या कहा, क्या तुम्हें हमारी शक्ल ऐसी नजर आ रही है कि हम तुम्हारे साथ कुछ गलत कर सकते हैं",

बंजारन ,जो शंकर और विष्णु के बीच में बैठी हुई थी," "क्या पता ,, इतनी काली रात ,जंगल का यह सुहावना मौसम, और ऊपर से मुझ जैसी खूबसूरत लड़की ,तुम पुरुषों को और क्या चाहिए"",,

विष्णु ,"अब चुप होकर बैठ जाओ हमें तुम्हारी यह फालतू बात नहीं सुननी है, और हम अगर तुम्हें डर लग रहा है तो तुम उन पुलिस वालों के बीच में जाकर बैठ सकती हो तुम्हारे पास इस वक्त ऑप्शन है,''''

बंजारन लड़की कुछ नहीं बोली थी और अपना चेहरा अपनी दोनों हथेलियों पर रखकर सिर्फ मुस्कुरा कर रह गई थी।

धीरे-धीरे समय आगे की तरफ बढ़ता जा रहा था।

जंगल में अब चुडैल की आवाज इन्हें नहीं सुनाई दे रही थी चारों तरफ गहरी शांति पसर चुकी थी।

विष्णु ,,"'लगता है चुड़ैल ने आज रात का भोजन भरपेट कर लिया है तभी अब उसकी आवाज सुनाई नहीं दे रही है"",

शंकर,," तुमने ठीक-ठाक भाई, ऐसा ही लग रहा है चलो अच्छा हुआ अगर उसका पेट खाली होता तो वह यकीनन अन्य लोगों की तलाश में इस तरफ आ सकती थी,,""'

बंजारन लड़की अब इन दोनों की बातें सुनकर कुछ नहीं बोली थी ।

विष्णु अब उसकी तरफ एक नजर देखते हुए,," अच्छा तुम यहां इस जंगल में कैसे आ गई, क्या तुम्हारा भी इरादा चुड़ैल के सवालों के जवाब देकर अमीर बनने का था,"''

बंजारन लड़की ,,"पहले मेरा नाम तो पूछ लो तुम तो सीधा बात करने लग गए",,

शंकर अब यह बात सुनकर ,,"हां हां क्यों नहीं ,क्या नाम है आपका, चलिए बता दीजिए,,""

बंजारन लड़की,," मेरा नाम चंद्रिका है',,

विष्णु ,,,वाकई में बहुत प्यारा नाम है, लग भी तुम बिल्कुल चांद की तरह ही रही हो,"'

चंद्रिका अपनी आंखों को बड़ा कर लेती है और विष्णु के चेहरे को ध्यान से देखती है,, ""तुम्हारी बात से मुझे ऐसा क्यों लग रहा है जैसे तुम मुझे रिझाने की कोशिश कर रहे हो"",

विष्णु ,,अरे नहीं तुम्हें गलतफहमी हो गई ,मैंने तो बस यूं ही तारीफ कर दी ,, लो अब मैं चुप हो जाता हूं वरना फिर तुम कहोगी हम तुम्हारे साथ कहीं कुछ गड़बड़ तो नहीं करने वाले है"",

अब इन तीनों के बीच में फिर से सन्नाटा पसर गया था।

विष्णु और शंकर एक दूसरे की तरफ देखते हैं और फिर गहरी नजरों से दूर अंधेरे में देखने लगे थे ,,जैसे उन्हें चुड़ैल के आने की प्रतीक्षा हो,,,

चंद्रिका की सुरीली आवाज ने अब फिर इस सन्नाटे को तोड़ दिया था,,"' अच्छा तुम दोनों इस जंगल में क्या करने आए हो'',,

विष्णु,," हमें आपसे बात नहीं करनी है, सुबह तक चुपचाप बैठी रहिये,, सुबह हम आपको जंगल से बाहर निकाल देंगे"",,

शंकर,,"' और हां हमने इंस्पेक्टर साहब को बताया था ना कि हमें गुंडे किडनैप करके यहां ले आए थे ,तुमने भी सुन ही लिया होगा फिर क्यों पूछ रही हो",,,

चंद्रिका,," अरे तुम दोनों तो नाराज हो गए हो, देखो ऐसी कोई बात नहीं है,,मैं तो बस समय व्यतीत करने के लिए बात कर रही हूं,,,,,

"""अच्छा,,, तो तुम दोनों यहां लालच से नहीं आए हो, मुश्किल में फंसे हो ,पर अगर आ ही गए हो तो चुड़ैल के सवालों के जवाब दे ही दो ,,क्या पता तुम्हारी किस्मत भी बदल जाए,,"''

विष्णु ,,,चुप करो हमें चुड़ैल के हाथों मरना नहीं है हमें कोई लालच भी नहीं है"",,

चंद्रिका अब तिरछी नजरों से दोनों के चेहरों को देखती है ""',लग तो मुझे ऐसा रहा है जैसे तुम बेहद परेशान हो तुम्हारे पास धन की बहुत कमी है, फिर तो तुम दोनों को रिस्क ले ही लेना चाहिए ,,क्या पता किस्मत साथ दे जाए,""""

शंकर मुंह लटकाते हुए ,,"हां बात तो तुम्हारी ठीक हैं, पर यह खतरनाक है क्या पता हम सवालों के जवाब ना दे पाए और मारे जाएं,,'''

चंद्रिका ,,"हां ऐसा भी हो सकता है, वैसे चुड़ैल पर सवालों का जवाब आज तक कोई नहीं दे पाया है"",,,

विष्णु अब यह बात सुनते ही ,"'यह क्या कह रही हो शहर में कई लोग हैं जिसने चुड़ैल के सवालों का जवाब दिया है और इस वक्त बेहद अमीर बने हुए हैं'",,,

चंद्रिका उसकी आंखों में देखते हुए ,,"यह झूठ है चुड़ैल के सवालों का जवाब किसी ने नहीं दिया है ,,जो लोग अमीर बने हैं वह धोखेबाज हैं, उन्होंने गलत तरीकों से धन कमाया होगा और उसे चुड़ैल का नाम दे दिया,,'''

विष्णु और शंकर यह बात सुनकर हैरान रह गए थे ,और फिर एक-दूसरे की आंखों में देखने लगे थे।

शंकर,,,"" तुम यह बात कैसे जानती हो'',,

चंद्रिका अब एकदम से ,,"वह दरअसल मेरे बापू ने मुझे बताया,, चुड़ैल के सवाल बहुत मुश्किल होते हैं "",,फिर चेहरे पर एकदम खुशी के भाव लाते हुवे,,,"'' अच्छा मैं तुम दोनों से सवाल पूछूं '",,,

विष्णु ,,"क्या कहा तुम हमसे सवाल पूछोगी,,, पर किसलिए"",,

चंद्रिका ,,"क्या पता,, चुड़ैल घूमते हुए इधर आ जाए और वह तुम दोनों को पकड़ ले ,,,तब तो तुम्हें या तो उसके सवालों के जवाब देने पड़ेंगे या फिर मरना पड़ेगा ,,इसके लिए तुम अभी से थोड़ी तैयारी तो कर ही सकते हो , और दूसरी बात हमारा समय भी व्यतीत हो जाएगा, सवाल जवाब करते हुए,,'''',

विष्णु,," हां , तुम्हारा कहना ठीक है ,पर अगर चुड़ैल यहां आ गई और उसने हम दोनों दोस्तों को पकड़ लिया तब तो मैं उससे यही कहूंगा कि हम दोनों से एक साथ ही सवाल पूछे ,,,,

'''हो सकता है किसी सवाल का जवाब मैं ना दे सकूं और मेरा दोस्त दे दे, और किसी सवाल का जवाब यह ना दे पाए और मैं दे दूं,,"''',

चंद्रिका हंसते हुए ,,"तुमने बिल्कुल ठीक कहा,, ऐसा ही करना ,,,तो फिर ठीक है मैं सवाल पूछती हूं देखती हूं तुम दोनों का दिमाग उसका उत्तर दे पाता है या नहीं"",,,,

शंकर ,,"हां हां पूछो,,, सवालों का उत्तर देने में तो मैं एक्सपर्ट हूं ,,,और तुम जैसी बंजारन लड़की के सवालों का तो मैं चुटकियों में जवाब दे दूंगा"",,,

क्रमशः

क्या चुड़ैल इन तीनों तक पहुंचेगी,, जानने के लिए बने रहे इस धमाकेदार हॉरर के साथ,,,


Rate & Review

Balkrishna patel

Balkrishna patel 4 months ago

Megha

Megha 4 months ago