Revenge (The Love) books and stories free download online pdf in Hindi

रिवेन्ज ( The Love )

एक मीटिंग का दृश्य है 10 बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स और एक सीईओ बैठे हैं । सीईओ कहना शुरु करते हैं कि यार आखिर हमारी कंपनी को क्या हो गया है ? हमारा प्रोडक्शन क्यों नहीं हो रहा ? आखिर दिक्कत कहां आ रही है ? मैं सभी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर से पूछ रहा हूं कि हमें क्या सुधार करना चाहिए ।
क्योंकि ऐड में रेगुलर देता हूं टीवी पर भी हमारे एड आते हैं और अखबारों में भी और दीवारों पर भी काफी लिखे हुए हैं। दूसरी और हमारी जो मुख्य कॉम्पिटिटर कंपनी है उसके ऐड भी कम आाते हैं लेकिन फिर भी उसको प्रॉफिट पर प्रॉफिट हो रहा है और हम पहले की तुलना में लगातार घाटे में जा रहे हैं ।
अगर ऐसे ही कंडीशन रही तो जल्दी ही हमें कोई और रास्ता सोचना होगा मगर आप लोग बता क्यों नहीं रहे हो कि क्या सुधार होना चाहिए इस पर सभी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स चुप हुए और एक दूसरे की ओर मुंह करके देखने लगे।

तभी वहां पर एक था मिस्टर वर्मा जी उन्होंने कहा सर हमारी कंपनी में एक बंदा है अगर हम उससे राय लें तो वह शायद कुछ बता सकता है जिससे हमारी कंपनी को कुछ फायदा हो सके । सीईओ ने कहा कि अगर आपकी बात सही है तो उस बंदे को बुलाओ और अगर वह वास्तव में कोई ऐसी बात करता है जिससे कंपनी को फायदा हो तो यकीन मानिए आपको भी कोई फायदा अवश्य होगा ।

अब वर्मा जी उठ कर जाते हैं और राज को बुला कर लाते हैं आते ही राज से पूछते हैं कि बताओ हम अपनी कंपनी को कैसे प्रॉफिट में ला सकते हैं राज कहना शुरु करता है देखिए सर सबसे पहले तो मैं आपको बता दूं कि हमारी कंपनी है वह कोल्ड ड्रिंक्स बनाती है और हमारे जो ब्रांड एंबेस्डर हैं वह एक ऐसा व्यक्ति है जो इस समय ज्यादा पॉपुलर नहीं है हां 5 साल पहले उसकी काफी फिल्में आती थी और वह काफी पॉपुलर था ।

लेकिन आप खुद बताइए सर पिछले 2 साल में आपने उसकी कितनी फिल्में देखी हैं और उसमें से कितनी सुपरहिट हुई है सीईओ सर सोच में पड़ गए राज ने कहा कि पिछले 2 साल में उसकी कोई भी फिल्म हिट नहीं हुई है और इसलिए जब लोगों के बीच में उसका क्रेज ही नहीं है तो उसकी बताई हुई कोल्ड ड्रिंक्स को लोग क्यों खरीदेंगे इसलिए सबसे पहले हमें अपना ब्रांड एंबेसडर चेंज करना होगा ।

और उसके बाद हमें उस नए व्यक्ति को लाना होगा जिसकी फिल्में चल रही है जो यूथ का आइकन है जिसके ड्रेस सेंस फॉलो करता है जिसके कपड़ों को फॉलो करता है अगर हम किसी ऐसे हीरो को अपना ब्रांड अंबेसडर बनाएंगे तो यकीन मानिए हमारे जरूर प्रॉफिट होगा ।

और दूसरी बात और सर हम कम से कम 10 ट्रकों को किराए पर लेंगे और ट्रकों को अपनी कंपनी के पोस्टरों से सजाएंगे और फिर हम रोड शो करेंगे हमारे ट्रक अलग-अलग शहरों में जाएंगे लोगों से कुछ क्वेश्चन पूछेंगे कुछ फिल्मों से रिलेटेड कुछ सामान्य ज्ञान के कुछ टंग ट्विस्टर कुछ ऐसे ही हंसी मजाक वाले जो भी सही आंसर देगा उसे हम अपना एक-एक रिफ्रेश बोतल देंगे और इससे हमारा बढ़िया प्रचार भी होगा और लोगों तक हमारी पहुंच हो जाएगी ।

इसके अलावा हमें जो छोटे शहर है वहां पर भी ध्यान केंद्रित करना होगा और उनके लिए अलग-अलग डिस्ट्रीब्यूटर की मीटिंग आपको खुद को लेनी होगी उन्हें हमें ज्यादा का लालच देना होगा हमें अदर कंपनी से ज्यादा उनको प्रॉफिट देना होगा अगर हम इस प्रकार से चले तो यकीन मानिए सर हमारी कंपनी प्रॉफिट में जा सकती हैं बॉस उसके बातों से बेहद खुश हुए और सभी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने उसके लिए तालियां बजाई जोर से वह राज राज राज इतना बोलते बोलते उनकी आवाज लड़की जैसी हो गई एक बार फिर से राज को शक्ल तो उनकी दिख रही थी लेकिन आवाज किसी लड़की की थी राज राज फिर से इस बार वह सूरत गायब हो चुकी थी सामने लड़की थी वह थी उसकी पत्नी प्रिया उसे जगा रही थी अभी तक जो भी देख रहा था वह सब एक सपना था ।

प्रिया ने राज को जगा दिया था राज ने आंखें खोलते हुए देखा यार कितना अच्छा सपना चल रहा था तुमने बीच में ही खराब कर दिया इस बार प्रिया गुस्से में बोली कि 2 हफ्ते से घर पर ही पड़े हो सपने ही देखते रहोगे या कुछ कमाने भी जाओगे । राज ने कहा यार तू सुबह ही शुरू हो गई अबे अब तो उठा हूं कुछ सोचने तो दे यार कुछ फ्रेश फ्रेश होने दे नहाने दे उसके बाद सोच लूंगा ।

प्रिया ने कहा तुम 2 हफ्तों से घर पर ही हो और आगे तुमने कुछ सोचा भी नहीं है ठीक है लॉक डाउन चल रहा है मैं भी मानती हूं लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि घर पर ही पड़े रहो कमाने भी तो जाना होगा वरना खाएंगे क्या ?
बच्चों की शादी कैसे होगी ? राज ने कहा लेकिन बच्चे कहां है ? प्रिया ने कहा है नहीं तो होंगे नहीं क्या उनके लिए भी तो कमाना है अब राज हंसते हुए बोला यार जो है नहीं उसके लिए इतना परेशान हो रही हो जो है बंदा उसको चैन से सोने नहीं दे रही आखिर चाहते क्या हो तुम ?

प्रिया ने कहा मुझे सिर्फ पैसे चाहिए आप जाओ और पैसे कमा कर लाओ क्योंकि यहां घर पर बैठे हुए मुझे बिलकुल अच्छा नहीं लगता मेरी सभी सहेलियों के पास अच्छी-अच्छी गाड़ियां हैं उनका अच्छा बंगला है हमारा घर तो बिल्कुल नॉर्मल है मैं भी चाहती हूं मेरे पास भी गाड़ी हो मैं भी अपनी सहेलियों के साथ गपशप लड़ाऊं इसलिए आपसे कहती हूं जाओ और कमाओ राज ने कहा यार अभी लॉक डाउन चल रहा है मैं कहां जाऊं तुम ही बताओ ?

प्रिया ने कहा मुझे मुझे इस से मतलब नहीं है मैं केवल इतना जानती हूं कि आप आदमी हो और कमा कर आपको ही लाना पड़ेगा और कितने दिन तक आप बैठे रहोगे ? अगर लॉक डाउन नहीं खुला तो इसका मतलब क्या होगा हमें दूध वाले को भी पैसा देना है राशन भी लाना है ।

राज को अब गुस्सा आने लगा रहा कि सुनो दूधवाला का इस महीने तक का किया हुआ है आगे के महीने के बाद में देखेंगे और वैसे भी वो एक-दो महीने उधार कर सकता है याद करो जब तुम्हारी बहन की शादी थी तुमने उसे गिफ्ट में Ac फ्रिज और साथ ही ₹50 हज़ार का हार दिया था तब भी तो हमने दूध वाले से उधार की थी वह अब भी कर सकता है और रही बात राशन की तो 2 महीने का एडवांस राशन पड़ा है बाद के बाद में देखेंगे तुम आज ही क्यों इस बात के लिए लड़ाई कर रही हो ? प्रिया ने कहा लड़ाई में नहीं कर रही लड़ाई आप कर रहे हो कमाने के आपकी इच्छा नहीं है सुबह उठते ही पत्नी से लड़ना शुरू कर देते हो यह भी कोई आदमी होता है क्या और उसके बाद राज बाहर आ गया ।

शाम को राज के पास अपने दोस्त का फोन आया और उसने ₹2 हजार उधार मांगे थे राज ने कहा कि यार मेरे पास तो अभी है नहीं हां मैं प्रिया से पूछ कर देखता हूं अगर उसके पास होंगे तो तुम्हें जरूर मिल जाएंगे राज ने प्रिया से कहा कि प्रिया तुम 2 हज़ार ₹ उधार देना मेरा एक दोस्त है राहुल उसे चाहिए वह लगभग महीने भर बाद तुम्हें वापस चुका देगा।

और उसके बाद राज अलमारी से प्रिया का पर्स निकालकर उसमें पैसे गिनने लगा तभी प्रिया ने उसके हाथ से पर्स छीन लिया और कहा कि नहीं मैं किसी को कोई उधार नहीं दे सकती और वैसे भी मेरे पास अभी कोई पैसे नहीं है ।
राज को प्रिया की यह बात बुरी लगी उसने कहा यार प्रिया आपको पैसे नहीं देने थे तो आप मना कर सकती थी ऐसे पर्स मेरे हाथ से क्यों छीना ? प्रिया ने कहा कि पैसे मुझे भी चाहिए क्योंकि अब तुम खुद घर पर बैठे हो तो तुम्हारे पास भी पैसे नहीं है कल को तुम इसमें से कुछ और रुपए निकाल लो तो ?

और मुझे क्या पता अपने दोस्त को ही दे रहे हो । हो सकता है किसी पार्टी में उड़ा दो तो और हां आइंदा आज के बाद मुझसे पूछे बगैर मेरे पर्स के हाथ भी मत लगाना वरना कुछ ऐसा हो जाएगा जो आगे हमारे लिए अच्छा नहीं होगा।

राज को प्रिया की यह बात अंदर तक चुभ गई उसने वही झटके से पर्स को छोड़ा और कहा ठीक है तुम्हें पैसे बहुत प्यारे हैं तुम्हें पैसे ही मिलेंगे मैं जा रहा हूं और उसके बाद राज वहां से निकल गया। पूरे रस्ते राज का मन उदास था और वह बार-बार उस सीन को याद कर रहा था जब उसके हाथ से प्रिया ने अपना पर्स छीन लिया था और उसे कहा कि क्या पता तुम ही मेरा पर्स में से पैसे निकालते हो चोरी छुपे क्या पता अपने दोस्त को भी दोगे या नहीं दोगे ?

राज को आज अपने आप पर गुस्सा भी आ रहा था कि आज इस लॉक डाउन में उसने दूसरी नौकरी क्यों नहीं ढूंढी अच्छा होता अगर वह दूसरे नौकरी करता तो यह परिस्थिति नहीं आती । कभी राज को लगता कि काश किसी कंपनी में जॉब लग जाए कि जहां सिर्फ पैसे ही पैसे कमाओ उसके बाद अपनी पत्नी को केवल पैसे भेजो उससे बात भी नहीं करूं

कभी राज को लगता है कि इस प्रकार की नीरस जिंदगी जीने से तो अच्छा है कि कहीं जाकर मर ही जाऊं क्योंकि घर पर तो बीवी नहीं जीने देती और बाहर लॉक डाउन चल रहा है वैसे कही जा भी नहीं सकता करूं भी तो क्या करूं ?

तभी राज की इच्छा हुई कि वह जाकर के आत्महत्या कर ले लेकिन अब ट्रेन भी नहीं चल रही थी और वैसे ही वह उदास मन से घर के बाहर ही बैठा रहा ऐसे ही लगभग 3 घंटे बीत चुके थे राज की आंखें भी अब गीली हो चली थी उसका मन था कि वह घर जाए लेकिन फिर प्रिया से हुई लड़ाई के बारे में सोचकर वह वहीं पर बैठ गया और अब उसने मन बना लिया कि वह घर नहीं जाएगा लेकिन करें भी तो क्या कभी वह सोचता है कि मैं आत्महत्या कर लूं तो ज्यादा अच्छा रहेगा कभी सोचता कि नहीं यह तो पलायन का रास्ता है मुझे भागना नहीं है मुझे संघर्ष करना है राज चारों ओर से उदास हो चुका था।

उसके दोस्त का फोन आ रहा था बार-बार कि पैसे की व्यवस्था हुई क्या लेकिन उसमें इतनी हिम्मत नहीं थी कि वह फोन को कट कर सके और ना ही उठाकर यह बोल सके कि नहीं यार नहीं हो पाई बहुत ही उदास था तब तक रात के 11:00 बज चुके थे और उसके बाद वहां पुलिस वाले पहुंच गए और राज को कहा कि यहां रेलवे प्लेटफार्म पर बैठना मना है घर पर जाओ वरना यही पर तुम्हें पकड़ कर जेल में डाल देंगे ।

राज को अब घर आना ही पड़ा घर आया तो प्रिया से उसने कोई बात नहीं कि बिना खाना खाए ही चुपचाप सो गया हालांकि उसे नींद नहीं आ रही थी फिर भी वह चुपचाप आंखें बंद किए हुए पड़े रहा अगली सुबह फिर से उसे प्रिया ने उसी तरह जगाया जैसे उसे हमेशा जगाती थी

कि आज तो खड़े हो जाओ पडे पडे कितने दिन हो गए नौकरी नहीं करनी क्या ?आज राज बिल्कुल चारों ओर से उदास हो चुका था अब राज के के मन में बहुत सारी उथल-पुथल चल रही थी और वह फ्रेश होकर नहाने के बाद घर से निकल गया कि आज जैसी भी कंपनी मिलेगी जैसा भी कुछ भी कोई भी खुला होगा कोई दुकान कोई फैक्ट्री कोई कंपनी भी वहीं पर ही जॉब कर लूंगा लेकिन कम से कम इस औरत से तो पीछा छुटे वह चारों और से उदास हो रहा था आज पूरे दिन भर वह घूमता रहा लेकिन कहीं कुछ खुला ही नहीं था क्योंकि लॉक डाउन चल रहा था ।

अब चारों ओर से राज उदास हो चुका था निराश हो चुका था उसे कहीं कोई रास्ता नजर नहीं आ रहा था तब अंत में पास ही में एक बड़ा सारा तालाब था राज की इच्छा हुईं क्यों उसी तालाब में जाकर के छलांग लगा दे और अपनी जीवन लीला समाप्त कर ले क्योंकि इस प्रकार से बेज्जती भरी जिंदगी नहीं जी सकता था इसलिए राज ने अपनी जेब से मोबाइल को निकाला और उसे साइड में रखते हुए मरने के लिए तैयार होने लगा ।

तभी उसे याद आया कि यार वह किसी जमाने में रिया नाम की लड़की से प्यार करता था और वह भी उससे बहुत प्यार करती थी लेकिन उसने घर वालों के दबाव में आकर और अपनी कुछ बिना सोचे समझे उसने प्रिया से शादी कर ली थी तब रिया बहुत रोई थी लेकिन आज रिया शायद खुश होगी और मैं आज बहुत रो रहा हूं जो भी हो पर रिया मेरा पहला प्यार थी और वह मुझे याद रहेगी आज जब मैं मरने जा रहा हूं तो मैं यहां से माफी मांग रहा हूं रिया प्लीज मुझे माफ कर दे यार । अगर भगवान मेरी कहीं बात को कोई सुन रहा है तू रिया तक ये बात पहुंचा देना कि प्लीज रिया मुझे माफ कर दे मैं उस वक्त ज्यादा सोच समझ नहीं पाया था और घरवालों के अनुसार ही शादी कर ली मैंने तुम्हें बहुत दुख दिया है सॉरी यार।

और फिर जैसे ही मरने के लिए कूदने को तैयार हुआ तभी उसका फोन बजा उसकी इच्छा नहीं थी फोन उठाने की लेकिन उसने सोचा कि आज चलो मरने से पहले एक बार बात तो कर लेते हैं क्या पता किसी दोस्त का हो तो उसे बोल देंगे कि यहां आ जाना और उसके बाद लाश तो घर तक पहुंच जाएगी यहां प्रिया भले ही लड़ाई झगड़ा करें लेकिन गांव में मेरे मम्मी और पापा है मेरे भाई और बहन है उनको तो दुख होगा ही लेकिन कम से कम उन तक मेरी खबर तो पहुंचे इसलिए उसने फोन की तरफ देखा और उसे उठाने की कोशिश की ।

उसने देखा बिल्कुल अनजान नंबर पर सामने से आवाज आई हेलो कौन आवाज आते ही राज के मन में जो निराशा थी वह दूर हो गई उसके चेहरे पर एक अजब खुशी थी उसका दिल जोर-जोर से धड़कने लगा था हां वह इस आवाज को पहचान गया था यह वही आवाज थी जिसके लिए उसने 4 साल तक फोन पर काफी बार सुनी थी उसने इस आवाज से बहुत सारी बातें की थी यह आवाज उसके दिल के सबसे करीब थी हां यह रिया का ही फोन था वही रिया जिसे वह याद कर रहा था जो राज का पहला प्यार थी यह रिया का फोन था आज पूरे 3 साल बाद रिया का फोन आया था ।

राज की शादी को 3 साल हो चुके थे उन्होंने अभी प्लान नहीं किया था क्योंकि उनका प्लान था कि जब तक हम अच्छा घर नहीं खरीद लेंगे एक फोर व्हीलर गाड़ी नहीं आएगी तब तक हम बच्चा प्लान नहीं करेंगे ।


आज रिया की आवाज सुनकर राज बहुत खुश हो रहा था उसने पूछा जी बोलिए सामने से आवाज़ आईं आपका कॉल आया था राज ने कहा नहीं मैंने कोई कॉल नहीं किया आप कहां से बोल रहे हैं रिया ने कहा हम मुंबई से बोल रहे हैं राज ने कहा नहीं मुंबई से नहीं आप दिल्ली से ही बोल रहे हैं रोहिणी सेक्टर से रिया ने कहा नहीं नहीं आप हमें गलत समझ रहे हैं राज ने कहा नहीं मैं आपको पहचान गया आप रिया ही हो उसके बाद रिया ने फोन कट कर दिया ।

राज ने फिर से उसी नंबर पर फोन मिलाया एक बार फिर से रिया ने फोन काट दिया लगातार तीन बार प्रयास करने के बाद भी रिया फोन काट रही थी लेकिन राज के पास अब रिया के नंबर आ चुके थे राज ने उस नंबर को सेव कर लिया और अभी तक राज जो मरने की सोच रहा था उसके भीतर एक नई आशा जाग गई थी यह रिया का फोन था और राज के पास रिया के नंबर थे ।

राज का का पुराना प्यार फिर से जग रहा था और उसे रिया में हर खूबी नजर आ रही थी जबकि प्रिया में उसे सिर्फ कमियां ही कमियां नजर आ रही थी आज राज को लग रहा था कि यार मैंने उस दिन अगर प्रिया से शादी ना कर के रिया से शादी की होती तो आज मैं कितना खुश होता हंसी खुशी जिंदगी जी रहा होता लेकिन मैंने यह क्या किया मैंने उस दिन बिना सोचे समझे ही घरवालों को हां कह दी थी शादी की क्योंकि तब मुझे रिया से इतना प्यार नहीं था जितना मुझे प्रिया से शादी करने के बाद रिया के लिए प्यार महसूस हुआ

काश में इस प्यार को उस टाइम पर समझ पाता तो मैं प्रिया से शादी कभी नहीं करता मेरे दिल में केवल और केवल रिया ही थी और मैं उसी से ही शादी करता तो आज खुश होता राज ने आधे घंटे के बाद फिर से फोन पर ट्राई किया इस बार रिया ने फोन उठा लिया था राज ने कहा यार रिया मैं आपसे बात करना चाहता हूं आप बार-बार फोन को क्यों काट रहे हो रिया ने कहा मुझे आपसे बात नहीं करनी ।

राज ने कहा यार आपको बात करनी है तभी तो आपने मेरा नंबर मिलाया है और इसलिए मेरा नंबर वही है जो 3 साल पहले था मेरे पास आपका नंबर नहीं था वरना तो मैं कब का ही कॉल कर लेता लेकिन आपको मेरे नंबर याद है अगर आपको बात नहीं करनी होती तो आप फोन क्यों मिलाती रिया ने कहा वह तो गलती से लग गया ।

राज ने कहा इसका मतलब आपको मेरे नंबर याद हैं और गलती से तब लगता है जब कोई नंबर फोन में सेव होता है हम किसी दूसरे फोन को मिलाते हैं और आप मेरे नंबर सेव रखोगी नहीं ?
अब सामने से कोई आवाज नहीं आ रही थी राज ने पूछा यार रिया कुछ तो बता हेलो हेलो तभी रिया ने कहा की यार तेरी आज भी वही आदत है तुम मुझे मेरी ही बातों में फंसा देता है और अपनी बात मनवा ही लेता है।

राज ने कहा यह हुई ना बात अब लगा कि तुम रिया ही बोल रही हो अच्छा हुआ यार तेरा फोन आ गया वरना मैं तो बहुत ही उदास था और हमेशा तेरे फोन का इंतजार करता था रिया ने कहा चल साले झूठे अगर तुझे मेरी याद आती तो तुम मेरे नंबर भी कहीं से भी कबाड़ सकता था लेकिन तुझे तो मेरी याद कहां से आती तू अपनी पत्नी के साथ खुश है प्रिया के साथ मजे कर रहा है । तुझे याद क्यों आएगी तूने कौन सा प्यार किया था ?

राज ने कहा नहीं यार मुझे सच में तेरी याद आती थी मैं जब भी कोई मूवी देखता था तो तेरी याद आती थी। मैं जब भी कोई अच्छा गाना सुनता था तो तेरी याद आती थी । मैं जब भी कोई किसी खाने की चीज को देखता था तो तेरी याद आती थी । मैं जब भी कभी उदास होता था तो तेरी याद आती थी । मुझे तेरी याद हमेशा आती है यार तभी रिया ने कहा चल बहुत हो गया अब ज्यादा मत फेंक ।


राज ने कहा नहीं यार दिया मैं सच कह रहा हूं रिया ने कहा अच्छा तुझे मेरी इतनी याद आती है तो उस दिन याद नहीं आईं जिस दिन तेरी शादी हो रही थी उस दिन तो बहुत खुश दिख रहा था और मेरी शक्ल देखी कैसी थी मैं रो रही थी और तू फिर भी मुझसे पूछ रहा था कि रिया क्या हुआ क्यों रो रही है ? साले तुझे बिल्कुल भी दुःख नहीं हुआ ? मेरे पर क्या बीत रही है ?

एक बार तो मेरी इच्छा हुई कि मैं मर जाऊं लेकिन फिर मेरी एक दोस्त ने मुझे रोका और कहा तुम जैसे आदमी के लिए जान देने जा रही है जो तुझे छोड़कर शादी कर रहा है उस जैसे आदमी के लिए अपनी जान देना व्यर्थ है उसे इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ेगा कि तुम मर गई है हां अगर तुम उसके सामने फिर से खड़ा होकर दिखा तू भी शादी कर तब भी उसे कोई फर्क नहीं पड़ेगा लेकिन तेरी जिंदगी तो अच्छी रहेगी । उस बंदे के लिए मरेगी तो राज को कोई फर्क नहीं पड़ेगा लेकिन हां तेरे मां-बाप को फर्क पड़ेगा तेरे भैया भाभी को पड़ेगा समाज में तुम्हारे घर की जो इज्जत है उसको फर्क पड़ेगा इसलिए मरने का विचार छोड़ और जाने दे उसको यह सोच ले वह तेरा था ही नहीं तब जाकर के मैंने उसकी बातों को सीरियसली लेना शुरू किया लेकिन सच में यार तुझ जैसा कमीना आदमी नहीं देखा जो शादी में खुश हो रहा है और मुझसे पूछ रहा है कि तू क्यों रो रही है क्या हुआ है तुझे ?

उसकी बातों को सुनकर के राज एक बार तो चुप हो गया उसे कुछ समझ में ही नहीं आ रहा था कि वह क्या जवाब दें क्योंकि जो बातें रिया ने कही थी उनमें से कई बातें लगभग कई हद तक सही थी क्योंकि उसने उस दिन रिया से पूछा भी था कि तू रो क्यों रही है जबकि वह अच्छी तरह से जानता था कि इसका कारण क्या है रिया ने कुछ जवाब नहीं दिया सिर्फ उसकी आंखों में देखा राज कि ईतनी हिम्मत नहीं हुई कि वह रिया से नजरें मिला सके ।

राज यह समझ गया था कि रिया के रोने का कारण क्या है वह रिया से बात करना चाहता था और उसे और कोई बहाना नहीं मिल रहा था कि क्या बात करूं इसलिए उसने रिया से इसी नाम पर बात की कि आप रो क्यों रही है रिया के साथ उसकी जो दोस्त से भी राज ने पूछा कि यह रो क्यों रही है रिया की दोस्त ने कहा कि मैं तो इसे कई बार समझा चुकी हूं लेकिन यह नहीं मानती अब मुझे क्या पता यह क्यों रो रही है आप जानो या यह जाने ।

राज को इतनी बातें सुन कर के उसके दोस्त से भी आगे बात करने की हिम्मत नहीं हुई क्योंकि राज जानता था कि वह गलत कर रहा है लेकिन पता नहीं उस टाइम पर राज के दिमाग में क्या कुछ चल रहा था कि वह इस शादी के लिए हां कर बैठा जबकि उसने रिया से बहुत प्यार किया था उसके साथ उसने कई कसमें खाई थी कई वादे किए थे कि हम साथ रहेंगे लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ और राज रिया की बातों को सुनता ही रह गया रिया ने कहा हेलो हेलो क्या राज तुझे सुनाई दे रहा है हेलो राज अचानक सपने से जगा और कहां हां रिया बोलो

रिया ने कहा अब भी मैं ही बोलूं साले कम से कम एक बार तो सॉरी बोल दे ताकि मुझे कुछ तो एहसास हो राज ने कहा सॉरी मैं एक बार नहीं हजार बार बोलूंगा और मैं तब तक बोलता रहूंगा जब तक तुम मुझे माफ नहीं कर दोगी क्योंकि मैंने एक गलती बहुत बड़ी की है माफी के लायक तो नहीं है लेकिन फिर भी तुमसे माफी मांग रहा हूं मैं सच में यार तुमसे प्यार करता था लेकिन पता नहीं उस टाइम पर क्या हुआ और मैं प्रिया से शादी कर बैठा मैं सच कहता हूं प्रिया से शादी के बाद ही मुझे एहसास हुआ कि मेरा प्यार सिर्फ तुमसे था तुम्हारे लिए था यकीन मानो इन 3 सालों में मैं प्रिया के साथ बिल्कुल भी खुश नहीं रहा वह अजीब ही लड़की है उसे केवल पैसे से मतलब होता है सच में यार रिया मैं तुझे बहुत मिस करता हूं आई रियली रियली मिस यू यार रिया ने कहा चल ठीक है अब मेरी सासू आ रही है मैं फोन करती हूं तू बिल्कुल भी मत करना और रिया ने फोन रख दिया।

जो राज कुछ देर पहले मरने की सोच रहा था उसमें अब नया जोश और नई उमंग आ चुकी थी उसे अब लगने लगा था कि उसके जीवन का एक लक्ष्य मिल चुका है हां यह अलग बात है कि उसकी पत्नी है लेकिन फिर भी उसे रिया के पास जाना है उसे रिया को फिर से अपनी और लाना होगा उसे फिर से वही अपना प्यार याद करवानाना होगा हो सकता है कि रिया अभी राज से प्यार करती हो और वह इसीलिए ही राज को याद कर रही हो ।

अब राज के मन में कई सारे सवाल आ चले थे और उसे लगने लगा कि हां अब जिंदगी को फिर से जिया जा सकता है यही सोचते हुए राज अपने घर को आ गया आज उसने प्रिया से कोई लड़ाई भी नहीं कि प्रिया ने जो कुछ जैसा भी कहा चुपचाप सुनता रहा क्योंकि उसे प्रिया की बातें कम सुनाई दे रही थी और रिया के फोन के आने की खुशी बहुत ज्यादा थी उसे पता ही नहीं था कि प्रिया क्या क्या बोल रही है वह बस उसे बार-बार यही बात याद आ रही थी कि आज रिया का फोन आया और अपने पहले प्यार को लेकर के बहुत ज्यादा रोमांचित और उत्साहित हो रहा था ।

राज ने रिया के नंबर सेव कर लिए थे उससे उसे उसके व्हाट्सएप नंबर भी मिल गए थे राज ने हाय लिख कर भेजा सामने से कोई जवाब नहीं आया था लेकिन मैसेज डिलीवर हो चुका था । कुछ देर बाद जब रात के 8:00 बजने वाले थे तब रिया का रिप्लाई आया और उसने भी बदले में हाय लिख दिया था अब राज और रिया के बीच नॉर्मल बातें होने लगी जैसे कैसी हो खाना खा लिया क्या और अन्य ।

एक दिन राज की रात में नींद खुली तो उसने देखा कि रिया अभी ऑनलाइन है रात के लगभग 11:30 बज रहे थे और अभी तक रिया ऑनलाइन है तो राज ने मैसेज में हाय लिख कर भेज दिया बदले में रिया ने भी जवाब दिया कि अभी तक सोए नहीं क्या ? राज नेलिखा हां सो तो गया लेकिन अभी बीच में ही जाग गया व्हाट्सएप पर देखा कि तुम्हारे कोई मैसेज तो आया हुआ नहीं है । मैसेज तो नहीं दिखा लेकिन फिर भी यह देखने के लिए कि तुम कब ऑनलाइन आई थी इसके लिए जब चेक किया तो पता चला तुम अभी ऑनलाइन हो क्या तुम्हें नींद नहीं आ रही रिया ने कहा नहीं जब वह घर में नहीं होते हैं तब मुझे आराम से नींद नहीं आती है राज ने पूछा कहां है वह रिया ने बताया कि वह कनाडा बिजनेस के सिलसिले में गए थे और जब से मोदी जी ने 21 दिन का लोक डाउन किया है तब से वह वहीं पर है सारी की सारी एयरलाइंस बंद है वह अभी नहीं आ सकते और मैं अकेली ही रहती हूं ।

राज ने पूछा क्या डर नहीं लगता रिया ने कहा शुरु शुरु में तो बहुत लगता था लेकिन धीरे-धीरे आदत हो गई है वैसे भी मेरे पास वाले कमरे में सासू मां और ससुर जी सोते हैं ऒर मेरे साथ मेरा एक लड़का है वह सोता है राज ने पूछा वाह तुम्हारे लड़का भी है कितना बड़ा हो गया है रिया ने कहा दो साल का है राज ने फिर पूछा तो इसका मतलब तुम्हें डर तो लगता है लेकिन फिर भी तुम सोने की कोशिश करती हो ।

रिया ने कहा यार तेरी यही एक बात तो बहुत अच्छी है कि तू मेरी हर एक बात को समझ जाता है मैं जो कुछ कहना चाहती हूं भले ही वह नहीं बोलती हूं लेकिन तू सारी बातों को समझ जाता है । राज ने कहा रिया रिया में अब भी वैसा ही हूं तेरा वही पहले वाला राज हूं रिया ने कहा नहीं अब तुम प्रिया के राज हो और मेरा कोई राज नहीं है नहीं रिया मैं आज भी वही राज हूं जो तुमसे प्रेम करता था प्यार करता था रिया ने फिर कहा नहीं राज तो अब प्रिया का हो चुका है । रिया के पास तो सिर्फ और सिर्फ उसकी यादें थी जो मैंने पहले ही दफन कर दी अपनी शादी से पहले मेरे सब कुछ दफन कर दिया था ।

पता नहीं यार क्यों आज तेरा नंबर लग गया और तुझ से बात होने लगी मैं गलत कर रही हूं मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए था राज ने कहा नहीं रिया
किसी से बात करना कुछ गलत नहीं होता और अभी तो हम नॉर्मल बात कर रहे ह अभी तक हमने कोई रोमांटिक बातें ही नहीं कि जो तुम इतना कुछ कह रही अभी तो सिर्फ हमने एक दूसरे का हालचाल ही पूछा है इस पर भी इतना डर रही हो ? रिया ने कहा मै डर नहीं रही मैं समाज के नियमों को मान रही हैं एक शादीशुदा लड़की के लिए एक अनजान लड़के से बात करना गलत होता है राज ने कहा यार रियां मैं अनजान कहां हूं मैं तो तुम्हारा अपना ही हूं रिया ने कहा अगर तू मेरा अपना होता तो मुझे छोड़कर कभी नहीं जाता साले।

अब राज क्या जवाब दें उसके पास कोई जवाब नहीं था इसलिए राज ने फिर से सॉरी बोली सॉरी कहा रिया ने कहा ठीक है यार अब मुझे नींद आ रही है और बाय बोलकर गुड नाइट लिखा और ऑफलाइन हो गई राज भी अब सोने की कोशिश करने लगा ।

सुबह जब राज उठा 5:00 बजे तो उसने फिर से चेक किया कि हां चलो यार देखते हैं व्हाट्सएप तो उसने फिर से रिया के मोबाइल पर चेक किया तो पता चला सुबह 3:00 बजे तक ऑनलाइन थी जबकि राज को उसने 11:30 ही कह दिया था कि यार मुझे नींद आ रही है इसका मतलब रिया ने राज से झूठ बोला मगर क्यों बोला यही सब राज सोचता रहा ।

राज सुबह उठकर के नहा धोकर बाहर निकल गया प्रिया को इस बात से खुशी थी कि राज कहीं जॉब ढूंढने जा रहा है जबकि राज के मन में चल रहा था कि मैं रिया से बात करूंगा राज घर से निकल गया राज ने पूरी रात मोबाइल को चार्ज लगाया था राज ने गुड मॉर्निंग का एक मैसेज भेज दिया था और राज ने देखा कि बदले में रिया ने भी एक गुड मॉर्निंग का मैसेज भेज दिया अब राज ने अगले मैसेज में कहा कि क्या मैं कॉल कर सकता हूं रिया ने कहा अभी नहीं मुझे घर के काम करने हैं तुम 10:00 बजे कॉल करना राज से 10:00 तक का सब्र नहीं हो रहा था वह बार-बार मोबाइल को चेक कर रहा था कि कब रिया ऑनलाइन आए और उससे बात हो 10:00 बज चुके थे और रिया अभी तक नहीं आई थी ।

राज के मन मे आया कि वह खुद ही फोन कर दे लेकिन फिर रुक गया और देखते-देखते 10:30 होने को आए अंत में राज ने फोन कर ही दीया एक रिंग हुई और अगले ही पल फोन को काट दिया गया था राज के पास मैसेज आया रुक अब राज रुक गया और उसके बाद 11:00 बजे रिया का मैसेज आया हाय आते ही राज ने लिखा फोन करू । रिया ने कहा हां कर।

राज ने जैसे ही फोन मिलाया रिया से बात की हेलो तू तो 10:00 बजे का बोल रही थी अब बजे है क्या 10 रिया ने कहा कि साले दोस्त होकर दोस्त की परेशानी को नहीं समझता मैं घर में लेडीज हूं मुझे घर का काम करना पड़ता है कभी काम 10:00 बजे कंप्लीट होता है तो कभी 11:00 भी बज जाते हैं मैंने तो ऐसे ही 10:00 बजे कह दिया था। राज ने कहा ठीक है यार ओके अब और सुना तेरा तेरी मैरिज लाइफ तो अच्छी चल रही है ना रिया ने कहा हां बहुत अच्छी चल रही है मेरे पति मेरा बहुत ध्यान रखते हैं मुझे खाने-पीने से लेकर के पहनने तक हर एक चीज आसानी से मिल जाती है कई बार जब मैं बीमार होती हूं तो वह दवाई देकर ही घर से जाते हैं और फल का ढेर रखते हैं बार-बार फोन करके पूछते हैं कि सुबह 10:00 बजे की दवाई ले ली क्या दोपहर की दवाई ले ली क्या और शाम को आते ही मेरे हालचाल पूछते हैं मेरा सर भी दबा देते हैं सच में यार वह बहुत अच्छे हैं ऐसे देवता इंसान मिलना इस तरह की दुनिया में बहुत मुश्किल है।

राज को लगा कि यार क्या सच में कोई आदमी इतना अच्छा हो सकता है या रियां उसे केवल जलाने के लिए ही बोल रही है अब धीरे-धीरे राज और रिया आपस में खूब सारी बातें करने लगते हैं ।

उन्हें याद आता है बातों ही बातों में एक दूसरे को बताने लगते हैं कि कैसे हम कॉलेज में मिले थे शुरू शुरू में उन दोनों में खूब झगड़ा होता है लेकिन फिर राज अपने दोस्त शिवम और रिया अपनी सहेली संजना को मिलाने के लिए साथ आते हैं क्योंकि एक बार शिवम ने खुदकुशी करने की कोशिश की थी जब संजना का रिश्ता तय होने वाला था इस बात को राज ने संजना तक पहुंचाने के लिए रिया से कहा कि प्लीज तुम एक बार संजना को बोल दो कि शिवम उससे बहुत प्यार करता है और अगर संजना की शादी कहीं और हो गई तो शिवम अपनी जान दे देगा । रिया ने यह बात संजना तक पहुंचाई संजना भी मन ही मन शिवम को चाहती थी जब उसे यह पता चला कि शिवम ही उससे प्यार करता है तो संजना ने रिया के माध्यम से शिवम को एक खत पहुंचाया था और इस प्रकार उन दोनों को मिलाते मिलाते कब राज और रिया बहुत अच्छे दोस्त बन गए थे उन्हें पता ही नहीं चला ।

लेकिन शिवम और संजना अलग-अलग जाति से थे तो उनका विवाह संभव नहीं था इसलिए शिवम ने घर से भाग जाना ही बेहतर समझा शिवम ने अपना प्लान राज को बताया था और संजना भी उसके बाद के लिए तैयार हो चुकी थी क्योंकि संजना भी चाहती थी कि वह शिवम के बगैर जिंदा नहीं रह सकती और मरने से बेहतर था कि दोनों एक साथ जिए इसलिए संजना ने भी शिवम का साथ देना उचित समझा ।

संजना ने यह अपनी बातें केवल रिया को ही बताई थी और रिया ने संजना की पूरी सहायता की एक दिन रिया संजना के घर गई और उसकी मम्मी से कहा कि मम्मी में एक शादी में जा रही हूं इसलिए मुझे संजना की दो या तीन ड्रेसे चाहिए संजना की मम्मी ने कहा ठीक है ले ले लेकिन हां ड्रेस का नुकसान नहीं होना चाहिए और इस प्रकार से रिया संजना के सामान को घर से बाहर तक ला चुकी थी । इसी प्रकार राज ने भी शिवम के घर जाकर वही सब कहा इस प्रकार राज और रिया ने शिवम और संजना का सामान घर से बाहर लाने में मदद की थी कुछ दिनों के बाद शिवम और संजना घर से बाहर भाग चुके थे हालांकि उसके बाद संजना की मम्मी ने रिया को काफी कुछ कहा लेकिन रिया और उसके परिवार वाले उसके साथ थे उन्होंने यही कहा कि रिया ने ऐसा नहीं किया है ।

अब राज और रिया आपस में खूब बातें करने लगे थे उनकी मैसेज में चैट होने लगी थी और एक दिन राज ने रिया को प्रपोज कर दिया रिया को भी राज अच्छा लगा इसलिए उसने भी एक्सेप्ट कर लिया अब दोनों एक दूसरे से मिलने लगे थे कॉलेज टाइम में भी वह कैंटीन में ही बैठे रहते थे कभी लोन में बैठे रहते राज के पास बाइक थी इसलिए वह रिया को ले करके कभी किसी टूरिस्ट स्पॉट पर निकल जाता कभी किसी और जगह निकल जाता था धीरे-धीरे राज और रिया का प्रेम अपने परवान पर चल रहा था कि 1 दिन रिया ने कहा कि राज अब तुम्हारी ग्रेजुएट कंप्लीट हो गई है तो तुम कोई जॉब ढूंढ लो क्योंकि मेरे घरवाले मेरी शादी के लिए लड़का ढूंढ रहे हैं ।

राज तब तक रिया को लेकर के उतना ज्यादा सीरियस नहीं था इसलिए राज ने कहा कोई बात नहीं यार ढूंढ लूंगा अभी तो टाइम है और 1 दिन राज को पता चला कि रिया को देखने लड़के वाले आए हैं राज के मन में बहुत बुरा फील हुआ और उसे ऐसा लगा कि वह रिया को भगा कर ले जाएगा लेकिन रिया इसके लिए साफ मना कर चुकी थी उसने कहा कि संजना के भाग जाने के बाद मैंने उसके मम्मी और पापा की हालत देखी है मैं नहीं चाहती कि मेरे मम्मी और पापा की भी वही हालत हो जो संजना के माता-पिता की हुई है इसलिए अगर तुम जॉब लगते हो तो रिया तुम्हारी होगी वरना किसी और की होगी ।

राज ने कुछ कोशिश तो की लेकिन वह कामयाब नहीं हो पाया था इसी बीच एक दिन राज के लिए रिश्ता आ गया और राज ने सोचा कि रिया की शादी तो होगी ही आज नहीं तो कल हो जाएगी इसलिए राज ने शादी के लिए हां कर दी और अब राज की प्रिया से शादी हो चुकी थी शादी वाले दिन जब रिया उनके घर आई क्योंकि राज और रिया एक दूसरे के पड़ोसी थे यानी एक ही मोहल्ले में रहते थे उनके घर के बीच 10 मिनट का ही फासला था इसलिए राज ने रिया से वही सब पूछा था जो रिया ने फोन पर कहा था अब दोनों की बातें कंप्लीट होने लग गई थी और रिया की आवाज से राज को लगा कि वह थोड़ी उदास हो गई है ।

इसलिए राज ने कहा यार तू तो पुरानी बातों को याद करके उदास हो गई रिया ने कहा नहीं अब मैं पहले वाली रिया नहीं रही वह रिया तो तेरी शादी वाले दिन ही मर गई थी यह दूसरी रिया है इसलिए मैं अब ऐसी चीजों से कुछ भी फर्क नहीं पड़ता उसके बाद रिया ने कहा ठीक है यार मुझे सोने दे नींद आ रही है राज अभी बाहर बैठा था दोपहर को खाने का टाइम हो चुका था राज ने सोचा चलो घर जाकर खाना खाकर आ जाता हूं तब तक रिया से भी बातें हो जाएंगी ।

जैसे ही राज घर के पास था तभी रिया का मैसेज आया कि हाय राज वहीं से फिर से घूम गया और उसने तुरंत कॉल कर लिया रिया से कहा कि क्या हुआ नींद नहीं आई रिया ने कहा नहीं यार कुछ कोशिश की थी लेकिन नहीं आई राज ओर रिया फिर से बातें करने लगे धीरे-धीरे राज को पता चलने लगा कि रिया अभी उसे बहुत याद करती है राज चाहता था कि रिया उसके साथ चले उसने रिया को एक दो बार कहा कि यार हम दोनों अभी साथ हो सकते हैं रिया ने कहा नहीं यार मैं नहीं आ सकती क्योंकि मैं शादीशुदा हूं मेरे साथ अब दो जिंदगियां और जुड़ गई है एक मेरे बच्चे की और एक मेरे पति की।

राज ने कहा कि अभी तुम अपनी जिंदगी जियो फोन रख दिया था उधर राज को लगातार रिया की बात याद आ रही थी उसे यह महसूस हो रहा था कि उसने रिया के साथ बहुत गलत किया और अपने आप को दोषी मांन रहा था और साथ ही यह भी सोच रहा था कि अच्छा हुआ जो रिया की शादी मुझसे नहीं हुई वरना वह भी आज परेशान होतीे और मैं इस लोक डाउन में उसे कैसे खुश रख पाता जबकि रिया अब आराम से मजे कर रही है ।

धीरे-धीरे राज को रिया की बहुत ज्यादा याद आने लगी थी वह हर वक्त मोबाइल को अपने पास ही रखता था मोबाइल को चार्ज में लगाते समय भी उसके पास ही बैठा रहता था और बार-बार देखता रहता था कि रिया कब ऑनलाइन आए जैसे ही रिया ऑनलाइन आती है वह उसे तुरंत हाय लिख कर भेज देता था और उसके बाद कभी रिया जवाब दे देती और कभी रिया जवाब नहीं देती थी अब धीरे-धीरे राज को रातों की नींद भी उड़ने लग गई थी उसे हर वक्त सिर्फ और सिर्फ रिया का ही ध्यान रहता था जब भी वह टीवी देखता था तो उसमें चाहे कोई भी हीरोइन हो उसे वह रिया से मिलती लगती थी किसी का नाक रिया से मिलता था तो किसी की आंखें रिया से मिलती थी तो किसी की मुस्कुराहट रिया जैसी थी तो कोई चलते वक्त रिया में मिलती थी तो कोई साड़ी पहन कर के जब रहती थी तब रिया में मिलती थी कभी किसी की बॉडी रिया जैसी थी तो किसी का फिगर रिया जैसा था किसी की बात करने की स्टाइल रिया जैसी थी तो कोई हंसती थी तो रिया जैसी लगती थी उसे हर एक हीरोइन में रिया से रिलेटेड कुछ ना कुछ चीज जरूर मिल ही जाती थी ।

जब भी रिया अपना व्हाट्सएप में स्टेटस लगाती तो उसकी फोटो जब भी देखता था उसे हर वक्त रिया एक नए रूप में नजर आती थी कभी रिया की आंखों को गौर से देखता था कभी उसकी नाक को कभी उसके गालों को कभी उसकी मुस्कुराहट को उसे हर एक फोटो में एक अलग ही रिया नजर आती थी कई बार उसे लगता कि क्या वह रिया को सच में पहचानता भी है या नहीं पहचानता क्योंकि हर फोटो में रिया बिल्कुल सुंदर और अलग ही नजर आती थी राज को लगता था कि रिया जैसी सुंदर और दुनिया में कोई हो ही नहीं सकती इसलिए वह रिया की फोटो देखता रहता था ।

1 दिन रिया ने राज को मैसेज किया कि आज फोन मत करना क्योंकि आज मेरी ननद आई हुई है तो मैं उनसे बात करूंगी प्लीज फोन मत करना राज ने जब यह मैसेज देखा उसके बाद उदास हो गया क्योंकि जब वह रिया से बात नहीं करता था उसे ऐसा लगता था जैसे उसके शरीर में कोई वजह नहीं नहीं है उसके शरीर में कोई जान ही नहीं है उसके सारी ताकत खत्म हो गई हो और वह एक निढाल सा होकर के गिर जाता था पड़ जाता था और रिया के बारे में ही सोचता रहता था ।

कई बार जब प्रिया राज को कहती कि इस मोबाइल में ही खोए रहते हो कहीं और कुछ जाकर क्यों नहीं करते तो राज प्रिया से लड़ बैठता था और कहता था तुम्हें उससे क्या मतलब है मैं अपने मोबाइल को कैसे भी रखो तुम अपने मोबाइल को रख मैंने तुझ से पूछा है क्या प्रिया कहती कि पहले तो कभी मोबाइल से इस तरह चिपके नहीं रहते थे कि चार्ज में लगाते वक्त भी साथ ही बैठे रहो लेकिन अब तो मोबाइल को छोड़ते तक नहीं हो बाथरूम में जाते हो तब भी साथ ले कर के ही जाते हो राज कहता है कि तुझे इससे क्या मतलब है तुझे जो चाहिए वह बोल ।

राज आजकल कुछ विचित्र ही गाने सुनता था जैसे कबीर सिंह का तुझे कितना चाहने लगे हम कभी वह सुनता था शुक्रिया शुक्रिया दर्द जो तुमने दिया जो भी देवदास और दुख दर्द भरे गाने थे उन्हें राज सुनता रहता था हां ऑफिस उसका अभी भी नहीं खुला था इसलिए वह सुबह नहा धोकर तैयार होकर घर से बाहर निकल जाता था और कहीं किसी लोन में बैठकर के रिया के ऑनलाइन आने का इंतजार करता रहता था ।

अब उसे लगने लगा था कि रिया उसकी जिंदगी में एक बहुत ज्यादा जरूरत बन गई है रात को वह बाहर बैठकर के तारों को निहारा करता था उसे आकाश में दो तारे बड़े नजर आते थे जिनमें एक को वह रिया कहता था और दूसरे को स्वयं कहता था जो रिया नाम का तारा था राज उससे बातें करता था रात को सोने से पहले उसे गुड नाईट बोला करता था उसने देखा रिया के पास एक और तारा चमकता था एक दिन राज ने रीया से फोन पर कहा कि यार मैंने आकाश में तुम्हारा नाम का एक तारा रख रखा है जो दक्षिण दिशा में उगता है काफी चमकीला है मैं उससे खूब सारी बातें करता हूं उसके ठीक पास एक और तारा है हालांकि वह इतना चमकीला तो नहीं है लेकिन तुम्हारे पास होने के कारण उसमें भी चमक आ गई है और दूसरी और मैं जो हूं मैं तुमसे बहुत दूर हूं मैं पश्चिम दिशा में रहता हूं जो जो तुम मेरे पास आते जाते हो मैं और दूर होता जाता हूं पता नहीं यार क्या रिया ने कहा कि ध्यान से देख मेरे नाम को जो तारा है उसके नीचे एक तारा और मिलेगा वह मेरे बेटा है

और आज अगले दिन राज ने ध्यान से देखा तो उसे पता चला कि हां उस तरह के पास एक तारा और था यानी कि रिया की हर बात उसे सच लगने लगी थी उसे प्यार से फोन में कभी पागल लिख देती थी तो कभी और कुछ लिख देती थी लेकिन राज कभी रिया की बात का बुरा नहीं मानता था ।

1 दिन राज ने रिया से कहा कि यार मेरा तुम्हारे बिना मन नहीं लगता हर वक्त तुझे ही सोचता रहता हूं मुझे लगता है कि अब अगर तू जिस दिन मुझसे बात नहीं करें उस दिन मैं कुछ भी नहीं कर पाता हूं हर वक्त तेरी ही याद आती रहती है सोते जागते उठते बैठते खाते-पीते चाहे कोई भी काम करूं तेरी बोली हुई हर बात याद आने लगती है मैं हर वक्त तेरी ही यादों में खोया रहता हूं क्या ऐसा नहीं हो सकता कि हम दोनों फिर से एक हो जाएं रिया ने कहा कि नहीं अब ऐसा नहीं हो सकता क्योंकि मेरी शादी हो चुकी है और मेरे एक बच्चा भी है मैं उनके साथ कोई धोखेबाजी नहीं कर सकती और तू भी शादीशुदा है तू भी ऐसा मत सोच ।

लेकिन राज कुछ सुनने को तैयार ही नहीं होता था राज कहता था कि यार सच में मुझे अब एहसास हुआ है प्यार क्या होता है हर पल हर वक्त तेरी ही याद आती रहती है मुझे हर जगह तू ही तू दिखती है कहीं किसी शादी में जाता हूं तो जब भी किसी लड़की को देखता हूं तो मुझे उसमें तू दिखती है मेरा मन करता है कि शायद यहां तो आई होगी क्या पता तुम्हारे कोई रिश्तेदार हो जिसकी वजह से तू भी शादी में आई हो इसलिए मैं उसके सभी शादी में खाना कम खाता हूं और लोगों के चेहरे ज्यादा देखते घूमता रहता हूं क्या पता यार कहीं तो दिख जाए।

रिया ने कहा कि इन बातों में कुछ नहीं रखा है अब आज के बाद हम कभी एक दूसरे से बात नहीं करेंगे क्योंकि तुझसे जब भी मैं बात करती हूं तो मुझे भी तेरी बातें याद आने लगती है मुझे लगता है कि मैं अपने इमानदार पति के साथ धोखेबाजी कर रही हूं राज ने कहा कि इसमें धोखेबाजी वाली बात कौन सी है हम दोनों ने कभी भी एक दूसरे से कोई गलत बात नहीं की हमने कभी एक दूसरे से कभी हम मिले भी नहीं मैंने कभी भी तुम्हें टच तक नहीं किया फिर धोखेबाजी वाली बात कहां से हो गई रिया ने कहा नहीं यार फिर भी मैं तुमसे बात नहीं करूंगी ओके बाय और रिया ने फोन रख दिया राज को भी गुस्सा आया और उसने अपने फोन को स्विच ऑफ कर कर दिया और अगले 24 घंटे तक उसने अपने फोन को स्विच ऑफ ही रखा।


अगले दिनजब राज ने अपना मोबाइल स्विच ऑन किया तो उसमें 200 मैसेज थे जिनमें से 190 से अधिक रिया के फोन से आए हुए थे जिसमें रिया ने लिखा कि यार तुम से बात करने की आदत हो गई है कहां हो अपना मोबाइल क्यों नहीं ऑन कर रखें सुबह से कितनी बार मैसेज किया है कुछ तो जवाब दो हाय हाय कई एंग्री रिएक्शन भी थे तो कहीं ग्लास फल फ्रूट और भी बहुत सारे इमोजीस बने हुए थे लास्ट में लिखा हुआ था कि अभी तक नहीं आए चलो मैं तुम्हें ब्लॉक कर देती हूं आइंदा अगर कभी नहीं आए तो मैं निश्चित ही ब्लॉक कर दूंगी राज को यह सब पढ़कर बहुत ही खुशी हुई क्योंकि जेसै उसने सोचा था वैसा ही हुआ मतलब रिया अभी भी राज से ही प्यार करती थी

राज ने अपने मोबाइल से मैसेज किया सॉरी मोबाइल खराब हो गया था और उसके बाद एक गुड मॉर्निंग का मैसेज भेज दिया थोड़ी देर बाद रिया ने सीधा ही फोन किया और कहा कि कहां मर गया था फोन क्यों नहीं किया मैसेज का जवाब क्यों नहीं दे रहा बात नहीं करनी है क्या राज ने कहा सॉरी यार मैंने बताया ना फोन खराब हो गया था इसलिए कहां से करता रिया ने कहा कि दूसरे फोन से कर सकते थे राज ने कहा कि मुझे नंबर ही याद नहीं है रिया ने कहा देख ले साले तू झूठ बोलता है मुझसे कहता है मैं तुझसे प्यार करता हूं और तुझे मेरे मोबाइल नंबर तक याद नहीं है राज ने कहा यार कभी जरूरत ही नहीं पड़ी मुझे लगा कि यह सब याद करने की जरूरत ही नहीं है तुम्हारा नाम देख तो सीधा डायल कर देता था इसलिए नंबर कभी याद किया ही नहीं रिया ने कहा मुझे कैसे याद है तुझे याद है इस बार मैंने 3 साल बाद तुझे फोन किया इस बीच मैंने भी कितने मोबाइल बदले होंगे लेकिन तेरा नंबर अभी भी मेरे दिमाग में था और तुझे मेरा नंबर तक याद नहीं है और झूठ ऐसा बोलता है जैसे प्यार करता है राज ने कहा यार अब यह कौन सा सबूत हो गया कि जिसके मोबाइल नंबर याद नहीं है वह प्यार नहीं कर सकता

रिया ने कहा चल ठीक है साले फोन रखती हूं मुझे और भी बहुत सारे काम है राज ने कहा यार जब तो ऐसे बोलती है फोन रखने को तो मुझे ऐसा लगता है जैसे तुम मुझसे बहुत दूर जा रही हैं मेरे दिल धड़कने लगता है सांसे तेज चलने लगती है और ऐसा लगता है जैसे अब तो फिर कभी बात ही नहीं करेगी रिया ने कहा कि मैं कोई मर नहीं रही मैं तो सिर्फ यही कह रही हूं मुझे काम है थोड़ी देर बाद करती हूं और रिया ने फोन रख दिया ।

राजा बैठे-बैठे सोचने लगा कि यार अभी कुछ दिन पहले ही तो मैं कितना निराश और उदास था और आज कितना खुश हूं यह सब इस रिया की वजह से ही है काश अगर रिया मुझे पहले मिल जाती या मैं रिया को छोड़कर किसी और से शादी नहीं करता तो कितना अच्छा होता और ऐसे ही सोचने लगा

राज के मन में अब एक प्लान बनने लगा था राज ने सोचा कि अगर मैं और रिया दोनों ही एक साथ इस बार कहीं भाग चले तो कितना अच्छा होगा हम दोनों पूरी जिंदगी आराम से साथ गुजार सकेंगे अगर पूरी जिंदगी ना भी मिले तो हमारे साथ का एक पल जो होगा वह भी बहुत अच्छा होगा अगर हम 1 हफ्ते भी रह पाए तो उसमें भी हम पूरी जिंदगी जी लेंगे

1 दिन राज के मोबाइल में रिया का मैसेज आया कि फ्री है क्या यार तुझसे कुछ बात करनी है राज ने मैसेज देखते ही तुरंत रिप्लाई किया हां फ्री हूं बोलो और रिया ने तुरंत ही कॉल किया और राज से पूछने लगी कैसा है यार खाना खा लिया क्या और क्या कर रहा है राज ने कहा यार तू आज इस प्रकार से कैसे बात कर रही हैं और तेरी आवाज मुझे कुछ अजीब लग रही है क्या हुआ है रिया ने कहा कुछ भी नहीं राज ने कहा नहीं यार तेरी आवाज से ऐसा लग रहा है या तो तू रोई है या तू बीमार है रिया ने कहा ऐसा कुछ नहीं ऐसा कुछ नहीं है राज ने कहा कि खा मेरी कसम रिया ने कहा नहीं यार तेरी कसम तो नहीं खा सकती तो फिर बता क्या बात है

रिया ने कहा यार तुझे याद है हम पुष्कर मेले में जाया करते थे और कितने मजे किया करते थे शादी के बाद आज 4 साल होने को आए लेकिन मैं एक बार भी पुष्कर मेले में नहीं गई मैं हर बार उनसे पूछती हूं कि मुझे जाने दो और वह हर बार मना कर देते हैं पता नहीं इस बार तुझसे बात करने के बाद मुझे ऐसा लगा कि इस बार मुझे पुष्कर मेला जरूर देखना चाहिए मैंने उनसे पूछा तो उन्होंने साफ मना कर दिया मैंने कहा कि आपने 4 सालों में मुझे एक बार भी इस मेले में नहीं भेजा है और इस बार मेरी जाने की इच्छा है तो मैं जरूर जाऊंगी उन्होंने कहा कि ठीक है अगर मेरी अनुमति के बगैर जाती है तो फिर यहां मत आना मैंने गुस्से में कह दिया कि ठीक है नहीं आऊंगी

कुछ समय बाद उन्होंने मेरी मम्मी और पापा से बातें की और कहा कि आपकी रिया मेरा कहना नहीं मान रही है यह मेरे मना करने के बाद भी अगर आपके यहां आकर पुष्कर मेला देखने आती है तो फिर आप इसे वापस मत भेजना और ना ही मैं इसे लेने आऊंगा क्योंकि जो मेरी बात नहीं मानती मैं उसके साथ क्यों रहूं और उसके बाद मम्मी और पापा का मेरे पास फोन आया और उन्होंने मुझे खूब डाटा और समझाया और कहा कि जब तक तेरा पति नहीं चाहेगा तब तक तू यहां नहीं आएगी

राज ने मौके को देखते हुए कहा कि यार अगर तुम मेरे पास होती तो हम दोनों पुष्कर मेला देखने साथ ही जाते और खूब मजे करते रिया ने कहा तो साले मना किसने किया था साथ रहने को छोड़कर तो तू ही भागा था तुझे ही बहुत जल्दी थी शादी करने की

राज ने कहा यार अब जो भी हो जो हो गया लेकिन अब हम अपनी आगे की जिंदगी सुधार सकते हैं तो क्यों ना हम दोनों यहां से भाग जाएं और फिर साथ रहे रिया ने कहा कि यार मैं जाना तो चाहती हूं लेकिन फिर कई बार सोच में पड़ जाती हूं आज जो मेरी हालत है उसके हिसाब से तो मुझे भाग ही जाना चाहिए क्योंकि बार-बार इन का आर्डर मानकर मुझे ऐसे लगता है जैसे मैं एक नौकरानी हो गई हूं मैं अपने मन की मर्जी से अपने पीहर नहीं जा सकती मैं उस गांव नहीं जा सकती जहां मैंने जन्म लिया है जहां मेरा बचपन बीता है जहां मैंने पढ़ाई की है उसके लिए भी मुझे बार-बार पूछना पड़ता है कई बार तो ऐसा लगता है कि जैसे मैं उनकी पत्नी ना हो करके कोई नौकरानी हूं

राज को अब ऐसा लगा कि यही सही मौका है राज ने कहा तो फिर ऐसा करते हैं हम दोनों ही यहां से कहीं दूर चलते हैं और अपने मन की मर्जी से जिएंगे मैं तुझे आज भी बहुत प्यार करता हूं हर पल मुझे तेरी याद आती रहती है मैं सच में यार कसम खाकर कहता हूं तुझे कभी किसी चीज के लिए मना नहीं करूंगा बस एक बार आजा प्लीज यार

रिया कुछ सोच में पड़ गई और राज से कहा कि ठीक है यार मैं कुछ समय बाद बात करती हूं लगभग घंटे भर बाद राज के व्हाट्सएप पर रिया की ओर से रोने वाला इमोजी आया राज ने रिप्लाई किया और पूछा क्या हुआ यार कुछ तो बताओ रिया ने लिखा कॉल करूं क्या राज ने कहा हां और राज ने खुद ही कॉल कर लिया क्या हुआ यार रिया ऐसे ही रोने वाली इमोजी क्यों भेज रही है तू ठीक तो है ना

रिया ने कहा हां यार ठीक तो हूं लेकिन वह बात अब आगे बढ़ती ही जा रही है आज उन्होंने ऑफिस से आने के बाद खाना भी नहीं खाया और मुझसे फिर से झगड़ने लगे और कहा कि तुमने यह कैसे सोचा कि तुम मेरे कहे बगैर कहीं जा सकती हो हमारी कोई बात भी नहीं हो रही ना ही वह मेरा बनाया हुआ खाना खाए और ना ही वह बेड पर सोए वह दूसरे रूम में जाकर सो गए हैं

राज ने कहा कि यार जब वह तेरे साथ ऐसा करते हैं तो तू तो तुम अब मेरे साथ क्यों नहीं जा सकती इस प्रकार घुट घुट कर मरने से तो अच्छा है तू एक बार ही अपनी अच्छी जिंदगी जी ली अब भी वक्त हैं अभी रात के 10:00 बजे हैं और वह दूसरे रूम में सोए हुए हैं तो क्या ऐसा हो सकता है कि मैं आपके पास 12:00 बजे तक बाइक लेकर आ जाऊं तुम उस में बैठकर मेरे साथ चली जाओ ।

हम दुनिया में कहीं भी हो कितने भी दुख में हो लेकिन खुशी से रह लेंगे क्या होगा अगर हमारे पास पैसे की कमी होगी लेकिन प्यार से तो खुश रहेंगे ना तू आज हिम्मत कर ले यार मैं तेरे पास 12:00 बजे तक पहुंच जाऊंगा और उसके बाद जब तक लोगों को नींद से जागेंगे तब तक हम कहीं बहुत दूर पहुंच चुके होंगे

रिया ने कहा कि यार दिल तो यही चाहता है लेकिन दिमाग फिर कहता है कि नहीं ऐसा मत कर मुझे कुछ भी समझ में नहीं आ रहा है राज ने कहा अगर नहीं आ रहा है तो अपनी आंखें बंद कर और फिर देख क्या तुझे हमारे कॉलेज वाले दिन याद आ रहे हैं जब तुम और मैं घंटों बैठे बातें करते रहते थे उसने कहा हां दिखाई दे रहा है क्या तूम उस टाइम पर ऐसे ही दुखी थी नहीं मैं बहुत खुश थी तो क्यों ना अब फिर से वही खुशी ले सकते हैं चल यार कहीं चले जाते रिया ने कुछ नहीं कहा तो राज ने कहा इसका मतलब तुम चलने के लिए तैयार हो मैं आ रहा हूं तुम तैयार रहना

राज बहुत खुश हो रहा था और खुशी से फूले नहीं समा रहा था हर और उसे सिर्फ खुशी ही खुशी नजर आ रही थी यह जो हवा चल रही थी उससे भी राज को लग रहा था कि यह हवा भी आज बहुत खुश हैं और सोच रही हैं कि राज आज अपने प्यार के साथ जा रहा है ऊपर चंद्रमा को देखकर राज ने कहा यार तेरा धन्यवाद कि आज तेरी वजह से मैं अपनी रिया से मिल पा रहा हूं मैं हमेशा ही तुझे रिया समझ कर बातें किया करता था लेकिन आज तो तुझ से भी बढ़कर चांद के साथ में रहने जा रहा हूं आज असली चांद के पास जा रहा हूं ।

राज को ऐसा लग रहा था जैसे उसे जमाने भर की खुशियां मिल गई ही हो अब उसे किसी से कोई मतलब नहीं था उसे ऐसा लग रहा था जैसे वह हवा में उड़ रहा हो उसके पांव जमीन पर ही नहीं टिक रहे थे उसे लग रहा था वह काफी हल्का हो गया है घर आते ही राज ने प्रिया से कहा कि यार प्रिया मैंने एक जॉब ढूंढ ली है और अब मैं वही जा रहा हूं तुम अपना ध्यान रखना।

प्रिया बहुत खुश होते हुए बोले सच्ची वाओ कितना अच्छा है अब तुम जाओ मैं कल ही फोन करके अपनी मम्मी और छोटी बहन को बुला लेती हूं वह यहीं रह जाएंगे मेरे पास मुझे भी डर नहीं लगेगा राज उसकी बात को अनसुना करते हुए अपने बैग पैक करने लगा ।


राज बार-बार यही सोच रहा था कि कब जल्दी से मैं पहुंच और रिया के साथ जाऊं वह अपनी तीन चार ड्रेस और जरूरी डाक्यूमेंट्स और ज्यादा से ज्यादा रकम लेना चाहता था इसलिए उसने अपने एटीएम भी साथ ले लिया राज ने रिया मैसेज किया आई एम कमिंग और जल्दी से अपनी बाईक स्टार्ट करने लगा प्रिया ने पूछा कि क्या तुम अभी जाओगे सुबह तक नहीं रुक सकते राज ने कहा नहीं यार जरूरी है सुबह तक में पहुंचकर वहां अपना अपॉइंटमेंट ले लेना चाहता हूं क्या पता लेट हो जाऊं तो उसको क्या लगे इसलिए मैं किसी भी प्रकार का कोई रिस्क नहीं लेना चाहता तुम मेरे जाने के बाद गेट बंद कर लेना और आराम से सो जाना और आगे जैसे तुम्हें अच्छा लगे वैसे करना ।

राजराज लगातार अपनी स्पीड में उड़े हुए जा रहा था और जल्दी से जल्दी रिया के पास पहुंचना चाहता था वह आप मोटरसाइकिल अपनी पूरी स्पीड में चला रहा था उसे एक पता ही नहीं लग रहा था कि कब वह फुल स्पीड में चल रहा है वरना राज की यह आदत नहीं थी वह हमेशा मीडियम स्पीड में चला करता था लेकिन आज तो जैसे उस को पंख लग गए हो वह लगातार चल रहा था हवाएं उसे ऐसा लग रही थी जैसे बहती हुई हवाएं उसे कांग्रेचुलेशन बोल रही हो यह पेड़ पौधों के उड़ते हुए पत्ते उसे ऐसा लग रहा था जैसे राज को उसके प्यार तक पहुंचने की बधाई दे रहे हो ।

आखिरकार राज हवा से उड़ता हुआ बधाइयां लेता हुआ पहुंच ही गया था रिया के घर के थोड़ा पास वहां पहुंच कर उसने बाइक रोकी और रिया को मैसेज किया हाय मैं आ गया हूं तुम भी आ जाओ ना रिया ने मैसेज का जवाब दिया और कहा ओके।

राज लगातार एक टक नजरों से रिया के घर के तरफ वाली गली में देखे जा रहा था कि कब रिया बाहर को आए रात के लगभग 12:30 बज चुके थे ऐसे में रिया को बाहर आने में कहीं कोई परेशानी नहीं हुई हालांकि उसके गेट में थोड़ी सी आवाज करने की कोशिश की लेकिन उसने गेट को उतना ही खोला जितने में वह आराम से निकल सके

जब रिया आ रही थी तो उसके हाथ में कोई बैग नहीं था तो राज ने सोचा कि शायद है रिया ने यह सोचा हो कि मैं ससुराल की कोई भी चीज अपने साथ नहीं ले कर जाना चाहती राज की जो इच्छा होगी जैसे होगा वही मुझे दिला देगा इसलिए वह और ज्यादा खुश हो गया ।

जैसे-जैसे रिया अपने नाजुक कदमों से चलते हुए राज के पास आ रही थी राज का दिल जोर-जोर से धड़क रहा था राज का जी चाहता था कि अभी जाकर के रिया को अपने गले लगा लूं लेकिन वह वही बाइक पर खड़ा हुआ इंतजार करने लगा।

जैसे ही रिया राज के बिल्कुल पास आए राज ने अपनी बाहें फैला कर उसे गले लगाना चाहा राज कहने लगा कि यार रिया आज तेरे लिए मैं अपना सब कुछ छोड़ कर आ गया हूं अब तू भी जल्दी से बाइक पर बैठ और फिर हम कहीं बहुत दूर निकल जाते हैं राज अपनी बांहें फैलाकर रिया को अपनी बाहों में भरने लगा तभी रिया ने उसके हाथ को अपने हाथों से रोक दिया और उससे कहा कि नहीं ।

राज के चेहरे का रंग उड़ गया उसने पूछा यार क्यों जब हम साथ जाने वाले हैं जब हम अपनी जिंदगी साथ बिताने वाले हैं तो फिर गले लगने में क्या बुराई है रिया ने कहा जिसके साथ जिंदगी बिताने वाले हैं उसके साथ गले लगने में कोई बुराई नहीं है राज ने पूछा तो फिर यार फिर क्यों मुझे मना कर रही हो और एक बार फिर से बाहें फैलाकर रिया को बाहों में भरने लगा इस बार रिया ने अपने दोनों हाथों से राज के हाथों को पकड़ा और जोर से नीचे कर दिया ।

इस बार इस बार राज को एक धक्का सा लगा और उसके चेहरे की सारी खुशियां पल भर में गायब हो गई थी उसने रिया से कहा यार रिया यह तुम क्या कर रही हो रिया ने कहा वही जो मुझे करना चाहिए राज ने कहा ठीक है रिया अब गुस्सा मत करो सॉरी मैं माफी मांगता हूं मुझे आने में थोड़ी लेट हो गई अब जल्दी से मेरी बाइक पर बैठ जाओ और हम यहां से चले तुम्हें जो गुस्सा करना है वह बाद में भी कर लेना अभी तो पूरी जिंदगी पड़ी है और रिया के एक हाथ को पकड़ कर उसे बाइक पर बैठाने की कोशिश करने लगा ।

रिया ने राज के हाथ से अपना हाथ छुड़ा लिया राज ने अपने कान पकड़ते हुए कहा सॉरी यार मैं माफी मांग रहा हूं और इस बार अपनी बाहें फैलाते हुए रिया को बाहों में भर ही लिया तभी रिया ने एक झन्नाटेदार थप्पड़ राज के गाल पर लगा दिया राज को लगा कि जैसे वे अभी हवा में उड़ रहा था और अब जमीन पर आ गया हो उसकी आंखों से आंसू आने लगे उसने रिया की तरफ देखा जैसे पूछ रहा हो यह क्या है ?


रिया ने कहा तूने सोच कैसे लिया कि मैं तेरे साथ चली जाऊंगी तू तो वही है ना जो मुझे उस दिन छोड़कर भाग गया था जब मुझे सबसे ज्यादा तेरी जरूरत थी और तू अपनी शादी में मस्त था मेरी आंखों से लगातार आंसू बह रहे थे और तू फिर भी पूछ रहा था मैं क्यों रो रही हूं कल को अगर तुझे कोई और लड़की अच्छी लगी तो तू उसके साथ भाग जाएगा और मैं फिर से रोती रहूंगी तू तो यह पूछने भी नहीं आएगा कि रो क्यों रही है नहीं यार अब मैं ऐसा कोई काम नहीं करूंगी जिससे मुझे फिर से रोना पड़े ।

राज अब अपने दोनों घुटनों के बल सड़क पर गिर पड़ा था उसकी आंखों से आंसू आ रहे थे जो हवाएं चल रही थी उसे ऐसा लग रहा था जैसे खतरनाक बिजली कड़क रही हो और जोरदार बारिश हो रही हो राज रोते हुए रिया से पूछने लगा यार जब तुम्हें मेरे साथ नहीं चलना था तो तूने फिर से मुझे फोन क्यों किया और क्यों तूने मुझे यह कहा कि तेरे पति के साथ तेरी नहीं बनती और क्यों तू मेरे साथ चलने को तैयार हो गई आखिर तूने ऐसा क्यों किया ।

रिया ने कहा कि मैंने यह कभी नहीं कहा कि मेरे पति के साथ मेरी नहीं बनती वह तो तुझ से बहुत अच्छे हैं हां या अलग बात है कभी-कभी हमारी नोकझोंक हो जाती है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि मैं उन्हें छोड़कर उस आदमी के साथ चली जाऊं जिसने मुझे बहुत पहले ही छोड़ दिया था ।

मैंने भगवान से हमेशा यही दुआ की थी कि अगर मेरा प्यार सच्चा है तो मुझे मेरा राज जरूर मिले मैं यह सोचती थी कि तुम्हारा प्यार मेरे लिए मुझ से भी ज्यादा होगा लेकिन साले मैं गलत थी और तू अपनी शादी में खुशी से नाच रहा था और मुझसे पूछ रहा था कि रो क्यों रही है इसका मतलब तुझे मुझसे प्यार था ही नहीं जब मैंने फिर से तुझे कांटेक्ट किया और तुझसे बातें की तब तू ने भी स्वीकार किया था कि हां तुझे मुझसे इतना प्यार नहीं था लेकिन अब तुम मुझसे सच में प्यार करने लगा है मैं यही देखना चाहती थी क्या तुम सच में मुझसे प्यार करने लगा है या अब भी पहले की तरह कोई झूठे वादे या दिखावा कर रहा है।

राज लगातार उसके और देखे जा रहा था और रिया की बातों को सुनता जा रहा था राज ने कहा यार तू ही बता दे अब तुझे क्या लग रहा है ?

रिया ने कहा हां अब मुझे लग रहा है कि शायद तू भी अब उस स्टेज पर पहुंच गया है जहां पर तेरी शादी के वक्त में थी मैं तुझ से उस टाइम बहुत प्यार करती थी हर पल हर घड़ी तेरे लिए दुआ मांगती थी तेरे साथ को मांगा था तुझसे जिस दिन बात नहीं होती उस दिन ऐसा लगता जैसे जिंदगी नहीं जी रही हूं मर गई हूं हर पल तुझसे बात करने की इच्छा होती थी न जाने मैंने कितने सपने सजाए थे शादी के बाद के यह करूंगी वह करूंगी लेकिन साले तू मुझे छोड़कर किसी और के साथ भाग गया तूने शादी कर ली और मुझे रोते हुए अकेला छोड़ दिया ।

इसलिए मैंने तय किया की मैं ऐसी कोशिश जरूर करूंगी कि तू मेरे प्यार को समझ पाए जब मैंने तुझसे फिर से बातें करनी शुरू की उसके बाद धीरे-धीरे मुझे ऐसे लगने लगा कि हां तू भी मुझसे सच्चा प्यार करने लगा है तो मैं उस दिन का इंतजार कर रही थी जिस दिन तू अपना सब कुछ छोड़ कर मेरे लिए आए और आज वह दिन आ गया है जिस दिन तू अपना सब कुछ छोड़ कर मेरे लिए आया है ।

आज मुझे मेरे प्यार का बदला मिल गया है मैं तुझे केवल यह एहसास दिलाना चाहती थी कि जब किसी को अपनी जान से ज्यादा चाहो वह वह तुम्हें बीच राह में छोड़ कर चला जाए तो तुम्हें कैसा लगता है मैं तुम्हें यह एहसास दिलाना चाहती थी की जिसे तुम सच्चा प्यार करो अपनी जान से ज्यादा चाहो वही तुम्हें बीच राह में छोड़ कर किसी और के साथ चला जाए तो तुम्हारे दिल को कैसा महसूस होता है तुम कितने के लोगों से अपने आंसू छुपा सकते हो तुम कब तक कितने दिन तक भूखे रह सकते हो किसी की याद में लगातार पूरी रात कितनी रातों तक तुम रोते हुए बिता सकते हो यह एहसास तुम्हें करवाना था और मुझे लगता है कि मैं इसमें कुछ हद तक सफल हुई हूं आज के बाद तुम वही सब महसूस करोगे जो मैंने तुम्हारी शादी होने पर किया था ।

आज मेरा रिवेंज पूरा हुआ मैंने अपने लव का रिवेंज वैसे ही लिया जैसे मैं चाहती थी हां मेरे दिल में अभी तुम्हारे लिए कुछ प्यार जरूर है लेकिन वह इतना नहीं है कि मैं उस आदमी को छोड़ कर आ जाऊं जिसने मुझे मान सम्मान दिया जिसने अपनी पूरी गृहस्ती मेरे हवाले कर दी इसलिए मैं तुम्हारे साथ कभी नहीं आऊंगी लेकिन हां मुझे इस बात का गर्व रहेगा कि मेरा प्यार भी सच्चा था ।

यह हमारी आज लास्ट मुलाकात थी इसके बाद ना तो तुम मुझे कभी कोई कॉल करोगे और ना ही मैं तुम्हें करूंगी अगर तुमने मुझसे सच्चा प्यार किया है तो मुझसे वादा करो कि तुम मुझे कभी कोई कॉल या मैसेज नहीं करोगे

रिया वहीं से घूम कर वापस अपने घर को चलने लगी इस बात से अनजान कि दो नजरें उसका पीछा कर रही थी और उसकी बातों को भी सुन रही थी घर आकर रिया ने दरवाजा बंद किया और अपने रूम में जाकर सोने की कोशिश करने लगी लेकिन जो दो नजरें थी उन नजरों में रिया की बातों को सुनकर आंखों में आंसू थे और मन में इस बात की खुशी थी कि रिया ने आज मुझे चुना है अपने प्यार को छोड़कर अपने पति को चुना है और आज के बाद में कभी रिया से ऊंची आवाज में बात नहीं करूंगा मैं हमेशा रिया को अपनी पलकों पर बैठा कर रखूंगा ।

तो रिया भी अपने रूम में में अपने आंसुओं को छुपाने की कोशिश कर रही थी और सोच रही थी कि यार जिस आदमी को मैंने हमेशा हंसाना चाहा आज उसे ही रुला दिया जिससे मैंने हमेशा सच्चा प्यार किया आज उसे ही रुला दिया जिसे मैं हमेशा हंसते हुए देखना चाहती थी आज उसी रोता हुआ छोड़ कर आ गई हूं ।

वही राज अब भी घुटनों के बल सड़क पर बैठा था उसकी आंखों से लगातार आंसू बह रहे थे और वह ऊपर चांद की ओर देख कर कह रहा था कि हे भगवान तूने जो भी किया सही किया काश मैं उस वक्त रिया के प्यार को समझ पाता काश मुझे रिया से इतना प्यार तब हो पाता जितना आज है तो यह नौबत नहीं आती मैंने सच में रिया के प्यार को समझा ही नहीं और आज जब मुझे रिया से सच्चा प्यार हुआ है तो रिया मुझे मिली नहीं मैंने सच में रिया के साथ गलत किया था और धीरे-धीरे राज ने रिया के घर की तरफ देखा रिया के घर की सारी लाइट बंद हो चुकी थी और दूर अंधेरा में उसका घर कहीं खो गया था राज अभी भी वैसे ही घुटनों के बल रो रहा था ।