Lavanya - 8 books and stories free download online pdf in Hindi

लावण्या - भाग 8

जैसे ही शीला ने यह बात सुनी वह खुश हो गई उसने तुरंत ही अपने बेटे विक्रांत को फोन लगाया,, और उसे कहा कि वो अभी लावण्या के घर बैठी है,, वो शादी के लिए राजी है ,,,
तू भी वहां आजा,, तुम दोनो आपस मैं बातचीत कर लो सबकुछ ठीक रहा तो हम आप दोनों ने की सगाई तय कर देंगे,,!!
जब विक्रांत ने यह बात सुनी तो उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा,,, उसने बिना देरी किए अपनी मां को बोला
विक्रांत ____
ओके बाय मोम मैं जल्दी आता हुं ,,, थैंक यू थैंक यू थैंक यू सो मच ,,!
और मैं करीब 15:20 मिनट में पहुंच जाऊंगा और उसे फोन रख दिया,,,!

शीला____
सब की ओर देखकर कहा,, विक्रांत यहा आने के लिए निकल गया है ,,, उसने कहा है 10-15 मिनट में यहा पहुंच जाएगा।
फिर उसने लावण्या का हाथ पकड़कर कहा,, बेटा तुम मुझसे एक प्रॉमिस करो ,,
तुम तुम्हारे और लक्ष के बारे में विक्रांत को कुछ भी नहीं बताओगी प्लीज,,
वह चाहे कनाडा में रहता है ,,पर दिल से देशी है,,!!
मैं नहीं चाहती कि तुम्हारे बताने से तुम दोनों का रिश्ता टूटे,,!
या उसके मन में तुम्हारे लिए कोई शक पैदा हो.........

लावण्या___
पर मैंने कोई पाप नहीं किया ,, और किसी भी रिश्ते की शुरुआत झूठ से नहीं होती,, उसकी भी गर्लफ्रेंड रही होगी ना,,?

शीला____
मुझे पता है ,,इसलिए तो मैंने तुम्हारा हाथ मेरे बेटे के लिए मांगा ,,!!
पर कभी-कभी हालात बुरे होते हैं,, और उस वक्त जब यह बात याद आती है ,,तब इंसान का दिमाग दूसरी ओर ही चलता है,,!!
और मैं नहीं चाहती कि तुम दोनों के बीच कुछ भी गलत हो,,,,!! और आज तक उसकी फ्रेंड बहुत सारी है ,, पर गर्लफ्रेंड कोई नहीं है,,!
प्लीज अपनी नई मां की यह रिक्वेस्ट मत ठुकराओ,,,!

लावण्या ____
लावण्या को झुठ बोलना अच्छा तो नहीं लग रहा था ,,पर लावण्या अपनी होने वाली सास की
रिक्वेस्ट को टाल भी नहीं पाई ,,
इसलिए उसने हा ......में गर्दन हिलाई,,,,!!!

थोड़ी देर में विक्रांत की एंट्री हुई,,, वो धीरे धीरे अंदर आ रहा था ,,उसकी नजर सामने सोफे पर बैठी लावण्या पर पड़ी,, वह इतनी खूबसूरत थी कि एक बार कीसी की नजर उस पर पड़े तो वह दुनिया भुल जाये,,,
विक्रांत को तो उसकी फोटो देखकर ही प्यार हो गया था,, पर आज सामने देख कर वो लावी की नशीली आंखों में खो सा गया,,,!!
एक पल के लिए तो वो रुक ही गया था,,, अगर शीला ने उसे आवाज ना दी होती तो वो उसी जगह ठहर जाता ।।
उसने आते ही नाना-नानी मामा-मामी के पांव छुए,,
लावण्या को हलो बोला और ठीक उसके सामने बैठ गया,,,!!
नाना ने विक्रांत के बिजनेस के बारे में,, उसकी पसंद के बारे मे ,, सब कुछ पूछा,,!!!
उसने भी बड़ी अच्छी तरह से सारे जवाब दिए,,,, सब लोग बातचीत कर रहे थे,,,!!
विक्रम की नजर तो लावण्या पर ही थी,,,,, वैसे वो भी दिखने में एकदम हैंडसम था ,,,जिम मै कसा हुआ बोडी क्लीन सेव कर्ली बाल और ब्राउन आँखे, ,,,,, शीला ने देखा कि उसका बेटा लावण्या को ही देख रहा है,,,,
तभी शीला ने अपने बेटे की ओर देखकर कहा,, विकी एक काम करो ,,,,
"तुम और लावण्या अकेले में बैठ कर सारी बातें कर लो ,, " अपनी पसंद नापसंद पूछो,, एक दूजे को जानो ,,!
और तुम दोनों को सही लगे तो हम आज ही रिश्ता पक्का कर देंगे,,!! उसने बाकी लोगो की और देखकर कहा

नाना जी ने इस बात पर हामी भरी ,,
क्योंकि उन्हें पता था लावण्या ने एक बार जो तय कर लिया तो वो उस बात से मुकरेगी नहीं ,, और फिलहाल उसने शादी कर ने के लिए सोच लिया था।
उन दोनो की शादी होनी ही है,," तो एक दूसरे को जानना भी बहुत जरूरी है,,!!
इसलिए उन्होंने लावण्या को कहा....... कि जाओ बेटा विक्रांत को अपने रूम में ले जाओ,,,,!!
लावण्या ने अपने नाना जी को कहा,, जी नानु
लावण्या और विक्रांत वहां से उठकर लावण्या के कमरे में ऊपर चले गए ,,,!
जैसे ही विक्रांत अंदर एंटर हुआ उसने पूरा रूम एक नजर मे देखा ।।
फिर थोड़ी देर बाद उसने ही बात की शुरुआत करते हुए कहा ,,
इस रुम का इंटीरियर डिजाइ बहुत अच्छा है,,
लावण्या_____
थैंक यू मैं ने खुद ही डिजाइन किया है,,!!
विक्रांत____
(ने इंप्रेस होते हुए कहा)
वाउ यार तुम तो बड़ी टैलेंटेड हो,,,!! अगर हमारी शादी हुई तो हमारा बैडरूम तुम ही डिजाइन करना,,,

लावण्या_____
लावण्या ने सोचा नहीं था कि विक्रांत इतनी जल्दी उस्से खुलकर बात करेगा ,,, वो सिर्फ उसे देखती रही उसने कोई जवाब नहीं दिया।

विक्रांत ____
ने लावण्या को देखा तो उसे लगा कुछ ज्यादा हो गया है,, उसने बैड की बीच वाली दीवार पर लगी हुई फोटो को देखकर कहा ये फोटो मैं तुम्हारे दोस्त है क्या,,,,,?

लावण्या__
हा ........मेरे बेस्ट फ्रेंड है,, दो से बात होती है, और दो से अब कोई वास्ता नहीं उसने अर्थ और लक्ष की तरफ देखते हुए कहा,,,!

विक्रांत___
सॉरी,,
लावण्या ____
कोई बात नहीं,,!!

विक्रांत___
तुम यह शादी किसी प्रेशर में आकर तो नहीं कर रही ना ,, मैंने ये इसलिए पूछा कि मेरे लिए यह बात जानना बहुत जरूरी है,!!

लावण्या____
ने कहा मुझे देखकर और मेरी फैमिली को देखकर लगता है आपको ,, कि कोई मुझे फोर्स करेगा या मेरे साथ जबरदस्ती करेगा........
सब मुझे बहुत प्यार करता है ,,,अगर मैं शादी के लिए ना भी कहदुं तो कोई मुझे कुछ नहीं कहेगा,,,!!

विक्रांत _____
ने कहा यह तो बहुत अच्छी बात है ,,,और एक बात पूछूं ,,??बुरा मत लगाना,,!
तुम्हारां कोई बॉयफ्रेंड था,,,??

लावण्या_____
इस बात पर फिका मुस्कुराई ,,,और उसने विक्रांत की ओर देखकर कहा ........ जस्ट आपके आने से 1 घंटे पहले ही हमारा ब्रेकअप हुआ है,,!!

विक्रांत______
कुछ देर के लिए चुप हो गया,,,, उससे समझ नहीं आया कि वो कैसे रिएक्ट करें,,,!!
फिर वह जोर-जोर से हंसने लगा ,,,,, यार तुम कमाल की हो,,,
लावण्या को लगा था कि इस बात पर वह उस्से सवाल करेगा,,,, पर उस ने कोई सवाल नहीं किए ,,,! लावण्या ने पूछा कि आप मुझसे कुछ और बातें करना चाहते हो,,,???
तो विक्रांत ने मुस्कुराते हुए कहा ,,, जितना जाना है तुम्हें ,,,
इतना काफी है """मेरे लिए,,!!
चलो नीचे चलते हैं,,,और हमारी और से हा बोलते है,,,!
और दोनों नीचे आ गए,,,,,!!
लावण्या और विक्रांत दोने इस रिश्ते के लिए हा बोल दी थी। शीला बहुत खुश थी,,
लावण्या के घर वाले खुश थे पर दुखी भी क्योंकि उन्हें लावण्या के हालत के बारे में पता था।
शीला_____
ने कहा अगर दोनों तरफ से हां है तो हम पंडित जी को बुलाकर उनसे मुहूर्त निकलवा देते हैं,,,
नानाजी____
अगर सब कि हा है तो हमें भी कोई प्रॉब्लम नहीं है,,,!
तभी विक्रांत ने कहा _____
प्रॉब्लम है ,, मेरी कंपनी को एक बड़ा प्रोजेक्ट मिला है अभी तो मेरे दोस्त और मेरा सेक्रेटरी यह सब कुछ संभाल लेंगे,,मगर मेरे पास अब सिर्फ 15 दिन की ही छुट्टी है,,
अगर आप लोगों को एतराज ना हो तो, हम क्या जल्दी शादी कर सकते है,,
कोर्ट मैरिज तो हो जाएगी,, मेरा दोस्त एडवोकेट ही है ,,तो उसमें कोई प्रॉब्लम नहीं आएगी,,!!
मैं चाहता हूं की एक विक के अंदर ही सब कुछ हो जाए,,,!! और
मैं फिर से ऑफिस ज्वाइन करुं उससे पहले मुझे लावण्या के साथ टाइम स्पेंड करना है,,!!
फिर आप सबकी मर्जी
सब बडों ने चर्चा की फिर उन्होंने सोचा वैसे भी शादी 15 दिन की बाद हो या पहले हो क्या फर्क पड़ता है शादी तो करनी है,,,
मामा जी ने पंडित जी को बुलाया ,,,शादी का मुहूर्त निकाला 6 दिन के बाद शादी का मुहूर्त निकला,,,,,,,
सब कुछ बहुत जल्दी हो गया था ,,, वैसे भी लावण्या चाहती थी कि जल्द से जल्द वो इंडिया से बाहर निकल जाए,,,!
शादी की सारी शॉपिंग हो गई ,,,,जो करीबी रिश्तेदार थे उनको फोन पर बात कर के बुला लिया था,,,!!
शादी सिंपल मंदिर में ही रखी थी,,,, और बाद मे कोर्ट मैरिज,,!
देखते-देखते दिन कैसे गुजर गए पता ही नहीं चला,,, लावण्या अपने कमरे में बैठी हुई थी,,,, कल शादी थी और उसी रात को कनाडा जाने के लिए फ्लाइट थी,,, उसके पास पासपोर्ट था तो टिकट मिलने मैं कोई दिक्कत नही हुई। ।।
लावण्या ने अपना सारा लगेज पैक कर लिया था,,,!!!!

लावण्या भारी मन से बैठी थी,,, उसने अपना फोन हाथ में लिया और दो _तीन _चार_ बार लक्ष को फोन ट्राई किया रिंग बजी,,, पर उसे पता था वो फोन नहीं उठायेगा और वही हुआ उसने फोन रिसीव नहीं किया,,!!
लावण्या ने टैक्स मैसेज टाइप किया,,,,,,!!

✍✍ इतनी नाराजगी यार,,, दुश्मन भी एक बार सामने आता है,,!!तुमने कहा तुम मुझे भुल चुके हो ,,, हमारे बीच अब कुछ भी नहीं रहा,,,
कैसे मान लूं यार ,,,
आज भी व्हाट्सएप पर वही प्रोफाइल है जो मैंने खुद मेरे हाथों से सेट की थी,,,
पता नहीं क्या गलती हुई मुझसे,,,चलो अब मैं दूर जा रही हुं,,,!! इतनी दूर कि तुम चाह कर भी मुझे मिलना चाहो फिर भी नहीं मिल पाओगे,,, मेरी एक झलक के लिए तड़पोगे.....
मैं चाह कर भी तुम्हारे पास नहीं आ पाऊंगी,,,!! एक बात कहें......
तुम पहले इंसान थे,,
जिसे पाने के लिए हम रोए थे ,,,,!!!
और खोने के बाद भी.........
कल मेरी शादी होने जा रही हैं,, मैं आखरी बार मिलना चाहती थी, पर मुझे पता है ,, तुम मिलोगे नहीं,,!
सोचा मैसेज ही कर दुं,,,,,,
जाते जाते ज्यादा कुछ नहीं मांग रही ,,,, पर तुम शादी तोहफ़ा तो दोगे ना ,,,???
तो जैसे ही मैसेज रिड करो ,, ""एक ब्लैक हार्ट मुझे सेंड कर देना ,,,,,,
मैं खुश हो जाओगी........
तुम्हारी होना चाहती थी पर तुम्हारी ना हो सकी लावण्या💔

लावण्या ने मैसेज सेंड कर दिया था और वो फोन बैड पर छोड़कर आ गई,,,!! उसकी आंखों में अजीब सी उदासी और आंखों में नमी सी थी,,,,
वो खिड़की के पास आकर बैठ गई ,, दूर कहीं कोई सॉन्ग बजा रहा था,,, ऐसा लग रहा था जैसे उसके दिल का हाल ही बयां कर रहा हो...........

ओ कुछ ऐसा कर कमाल
के तेरा हो जाऊँ,
ओ कुछ ऐसा कर कमाल
के तेरा हो जाऊँ

मैं किसी और का हूँ फ़िलहाल
मैं किसी और का हूँ फ़िलहाल
के तेरा हो जाऊँ
मैं किसी और का हूँ फ़िलहाल
के तेरा हो जाऊँ

ऐ गल ते गलत ऐ
जो वी कर रेया जानी
और ऐ वी देख तेरे बिन
किंझ मर रेया जानी

ओ मरजांगे लै संभाल
ओ मरजांगे लै संभाल
के तेरा हो जाऊँ
मैं किसी और का हूँ फ़िलहाल
के तेरा हो जाऊँ

मैनु पता के दुनिया नूँ
ऐ गवारा नयी हो सकदा
पर झूठ कैंदे ने सारे
के प्यार दुबारा नयी हो सकदा
पर झूठ कैंदे ने सारे
के प्यार दोबारा नयी हो सकदा

तू मैनु पुच्छ ना कोई सवाल
चल दूर किते मेरे नाल
के तेरा हो जाऊँ

मैं किसी और का हूँ फ़िलहाल
के तेरा हो जाऊँ
मैं किसी और का हूँ फ़िलहाल
के तेरा हो जाऊँ
ओ किसी और का हूँ फ़िलहाल
के तेरा हो जाऊँ

हुण रोना मैं, पछतौना मैं
के चन्न नि होया चकोर दा
हुण तूँ वी ऐ किसे होर दी
मैं वी आ किसे होर दा

हुण रोना मैं, पछतौना मैं
के चन्न नि होया चकोर दा
हुण तूँ वी ऐ किसे होर दी
मैं वी आ किसे होर दा

मेरा दिल करदा ऐ सवाल
तेरी मोहब्बत दा की हाल
के तेरा हो जाऊँ
मैं किसी और का हूँ

मैं किसी और का हूँ फ़िलहाल
ओ....

फ़िलहाल तो यूँ हैं के कुछ कर नही सकते
तेरे बिन ही मरना होगा साथ मर नही सकते
फ़िलहाल तो यूँ हैं के कुछ कर नही सकते
क़िस्मत तो देखो के झड़ नही सकते
फ़िलहाल तो यूँ हैं के कुछ कर नही सकते

वहा लक्ष ने मैसेज रिड किया उसकी आंखों से आंसू निकल गए,,,
वो अपने पापा के बार काउंटर पर बैठे-बैठे शराब पी रहा,,, जैसे ही अंजना जी ने देखा वो गुस्से में आई ,,, उसके हाथ से ग्लास खींच कर नीचे फेंक दिया,,,, चारों और कांच कांच टूट कर बिखरे थे,,!!
लक्ष तुम हमको सजा क्यों दे रहा है,,,, इन 3 सालों में एक बार भी मेरी बात नहीं सुनी,,, कभी मेरी या अपने दोस्तो की बात नहीं सुनता ,,,!!!
यह आखिरी बार है अगर तूने कभी भी शराब को हाथ लगाया तो .......तुम्हें लावण्या की कसम ,,,!!!
और वह गुस्से में वहां से निकल गई

लक्ष दर्द मैं मुस्कुराते हुए........
तुम नहीं फिर भी तुम ही तुम हो .......पहले कोई बात,, तुम्हें आगे करके मंनवाते थे,,
अब तुम्हारी कसम देकर मनाते हैं,,,!!

लावण्या सिर्फ तुम मेरी लाइफ से गई हो,, मेरे दिल से मेरे जेहन से और मेरी आसपास की दुनिया से नहीं,,,!!! तुम्हारे बिन मैं अधुरा हुं,, वह मैं तुम्हें कभी नहीं बता सकूंगा,,!!

कुछ अधूरे ख्वाब थे मेरे ,,,,
जो सिर्फ तुम्हारे साथ पूरे हो सकते थे ,,!!
पर मुझे पता है वह दिन कभी नहीं आएगा,,,😔

क्रमश........