RUBI (The A.I Effect) Part 2 in Hindi Science-Fiction by Bhumesh Kamdi books and stories PDF | RUBI (The A.I Effect) Part 2

Featured Books
Share

RUBI (The A.I Effect) Part 2

 

(Next)

 

 --->  ओ sundar पाजी वो जल्दी करो जी, हमें रुबीना दे घर चलना है। 

 

◊  रुबीना के घर जाएगा, कल जो तुम रायता फैलाया ना उधर उसके बाद तुम उसके घर पे जाएगा ना कुत्ता छोड़ देगा तुम्हारे ऊपर। 

 

 --->  पाजी तुसी चलो यार, चलो अंदर बैठो, अरे धक्का मत मारो हम आ रहा है। 

 

◊  तुम्हारे साथ बैठेगा चलो चलो चलो... 

 

(टैक्सी on Roads )

 

 --->  ओ भाई मैंने ना कल आपके जाने के बाद पता लगाया रुबीना मैडम के बारे में और पहली बात वो एक्सपर्ट है वायरलेस टेक्नोलॉजी की लेकिन उसका जो प्यो । 

 

◊  कौन पियो रे बाबा ?

 

---> पिताजी, प्यो मतलब ते पिताजी व उससे भी बड़े एक्सपर्ट थे।

 

◊  कैसे एक्सपर्ट ?

 

---> Artificial Intelligence de (A.I.)  के...   

 

◊  लेकिन इससे हमारा क्या लेना देना पाजी?

 

---> लेना देना है पाजी, रुबीना का प्यो पिछले 4 साल से गायब है।  दुनिया के लिए वो मर चुका है, ना किसी ने उसकी लाश

देखी और ना अंतिम संस्कार हुआ।  और आपने एक बार बात पर ध्यान नहीं दिया जी कल

 

◊  कौन से बात पे ?

 

--->  ओ जी रुबीना के घर पे उसके पिताजी की फोटो पे  कोई हार नहीं पड़ा था इसका मतलब

समझ सकते हैं आप ।

 

◊  हां हम समझ गया है, गाड़ी रोको, आगे सामने गाड़ी लेफ्ट में रोको... 

 

---> एक सेकंड जी ओ की

 

◊  आप बाहर आओ बाहर

 

--->  लेकिन आप बाहर क्यों बुला रहे हो मुझे ?

 

◊  बाहर आओ बाहर आ.. इधर शकल दिखाओ, निकालो ये दाढ़ी

 

---> दादा.. दादा...  क्या कर रहे हो छोड़ो । अरे दाढ़ी असली है, दादा दादा... 

 

◊  मेरा J.D, साला तुम हमारे साथ खेल रहा था, हमको गधा समझा तुम, 

हम जानता था हमारा J.D है।। हमारा J.D बस हमारे साथ आया रहा और हमको बताया भी नहीं साला

 

--->  I'm sorry दादा लेकिन मैं... 

 

◊  अरे चुप साला sorry का बच्चा तुमको पता है हम तुम्हारे बिना कैसे  (Both Best friends, Hugging, Bro-code).

 

--->  i missed you sundar दादा लेकिन, क्या करता दादा मुझे बलविंदर बग्गा बनना ही पड़ा

 

◊  पर तुम हमको बता सकता था ना..? हम तुम्हारे लिए कितना रोया भाई तुमको पता है।

 

--->  माफ करना दादा लेकिन की सेफ्टी के लिए जरूरी था क्यूँ की किसी को यह ना पता लगे कि मैं जिंदा हूं। 

 

◊  लेकिन तुम अगर जिंदा था हमारे सामने क्यों नहीं आया भाई?

 

--->  दादा हेलीकॉप्टर के सिस्टम के हाईजैक होने के बाद मेरे दिमाग में एक प्लान आया Viplav से शहर को बचाने के लिए खुद की मौत का

झूठा नाटक रचने का इससे बेहतर मौका नहीं मिल सकता था। 

खुद को गायब करने के अलावा और कोई रास्ता नहीं था विप्लव सिर्फ J.D के लिए बाहर आता था और अगर J.D ही ना हो तो। 

 

◊  पर इतना दिन तुम कहां था JayDev Sir.. ? कहां खाया, कहां सोया भाई ?

 

--->  गुरु के घर

 

◊  गुरु, किसका गुरु ?

 

--->  सतनाम वाहेगुरु, सच्चा गुरु जो अपने दरवाजे से किसी को खाली नहीं लौटने देता। 

दादा मैं कई महीनों से गुरुद्वारे में रह रहा था सच्चे दिल से सेवा की और फिर एक दिन वहां के गुरु ने

मुझसे कहा मुझे उस काम को अब अपना लेना चाहिए जिसके लिए तुम बने हो..

 

◊  लेकिन वो हेलीकॉप्टर क्रैश.. ?

 

--->  वही तो, जब हेलीकॉप्टर का सिस्टम हैक हुआ

तो मुझे एहसास हुआ कि कोई और भी मेरा दुश्मन है, ऐसा दुश्मन जो Viplav की तरह

खेलना नहीं बल्कि मुझे जान से मार देना चाहता है।

 

◊  साला, ऐसा कौन हो सकता है रे भाई ?

 

--->  the "RUBI "ग्रुप एक ऐसी secret society जो किसी गुप्त एजेंडा के लिए बनाई गई है।

वही जिसने अखंड भारत का नक्शा चुराने की प्लानिंग की थी, वही जिसके एक एजेंट को हमने पिछले case में

पकड़ा था याद है।

 

◊  तुमको कैसा पता लगा ये सब J.D ?

 

---> समंदर में गिरने के बाद मुझे कुछ मछुआरों ने रेस्क्यू किया, लेकिन तब तक मुझे क्लियर हो चुका था कि Viplav से पहले

मुझे इस नए दुश्मन को ढूंढना होगा और उसके लिए J.D को मारकर बग्गा को जिंदा करना

जरूरी था। यह दाढ़ी, यह लंबे बाल, ये ये टैक्सी ड्राइविंग, ये सब कुछ तो

 

◊  मतलब कल वो, aviation ऑफिसर सुरेंद्र खन्ना का जो तुमने बात किया, मेरा गाड़ी में पीछा करना ये सब झूठ था ?

 

--->  थोड़ा सच,थोड़ा झूठ... 

सुरेंद्र खन्ना का मेरी टैक्सी में आपका पीछा करना झूठ, लेकिन उसका हेलीकॉप्टर क्रैश में शामिल होना सच। 

 

◊  यह कैसे पता किया भाई ?

 

---> दादा आपको याद होगा कि आपके अलावा सिर्फ तीन लोगों को पता था कि मैं हेलीकॉप्टर use करूंगा। 

उन तीनों में से सिर्फ aviation ऑफिसर सुरेंद्र खन्ना ही ऐसा शख्स था जिसकी अचानक बड़ी तरक्की हुई, इससे मुझे शक

हुआ फिर मैंने उस परे नजर रखना शुरू किया "RUBI ग्रुप"  का हिंट मुझे मिल चुका था। 

धीरे-धीरे इस ग्रुप के लिए काम करने वाले और लोगों को भी मैंने Pin point किया। 

 

◊   कितने लोग हैं भाई इस ग्रुप में ?

 

--->  हजारों, लाखों, शायद...  करोड़ों !

 

◊  अरे बापरे! तो हम इनको पकड़ नहीं सकता मतलब

 

--->  चांस ही नहीं। कोई क्राइम खुल के नहीं करते यह लोग।  कोई सबूत नहीं, कोई गवाह नहीं, सिर्फ नेटवर्किंग और एक दूसरे की हेल्प।

एविएशन ऑफिसर सुरेंद्र खन्ना was probably rewarded क्योंकि शायद उसी ने मेरी इंफॉर्मेशन उस सिस्टम हैकर तक पहुंचाई थी

 

◊  एक बात बताओ J.D SIr को अगर वो सुरेंद्र खन्ना तुम्हारी टैक्सी में नहीं बैठा, तो वो जो तुम हमको code बोल रहा था

A I R U N B वो कैसे मिला?

 

--->  मैंने पिछले कई महीनों में सुरेंद्र खन्ना के जरिए लगभग 30 लोगों को identify किया जो "RUBI ग्रुप"

के members हो सकते हे। उनमेसे 8 लोगों के laptops, devices मेने अलग-अलग तरिकेसे access किए । कभी कबाड़ से खरीदा, कभी it expert बनके देखा सबके keyboards पे ये 6 letters सबसे ज्यादा used मिले। 

 

◊  ज्यादा used मिले मतलब कि, वो 6 keys  सबसे ज्यादा घिसे हुए थे

 

--->  हां, मतलब कि काफी frequently keys टाइप होते थे , शायद किसी website  का पासवर्ड होगा या किसी System का LOgIn. i dont know 

फिर कल जब आपने रुबीना का नाम लिया तो

A I R U N B बन गया "R U B I N A" 

 

◊  यानी  "RUBI ग्रुप" का सारा लोग रूबीणा के नाम का पासवर्ड यूज कर रहा

है। साला बहुत डेंजरस लगता है ये लेडी तो

 

--->  डेंजरस भी और बहुत स्मार्ट भी,

She has a very clean image, कल जब उसके फादर का कनेक्शन पता लगा तो मेरा शक यकीन में बदल

गया कि RUBI से जुड़ा हुआ कोई बड़ा झोल जरूर है और वही जानने के लिए हम वहां जारहे हैं ।

जब सबूत और गवाह काफी ना हो तो यकीन का दामन थामकर आगे बढ़ना चाहिए दादा

 

 ◊  तो चलो फिर बग्गा पाजी Let's go to rubina's home.

 

 

(Door knocks, rings)

 ◊  हेलो रुबीना जी

 

●  आप फिर से आज तो आपका अपॉइंटमेंट भी नहीं था।  आप ऐसे कैसे?

 

--->  मुसीबत कभी अपॉइंटमेंट लेकर नहीं आती रुबीना जी ।

 

●  मुसीबत, कैसी मुसीबत? 

 

 ◊  अरे यह तो आप बताएंगे हमको, I'M inspector sundar babu (मुंबई पुलिस) बैठने नहीं बोलेंगे हमको। 

 

● What's going on? you are a Filmmaker.

 

--->  वो झूठ था, वैसा ही झूठ जैसा आपने दुनिया को बोल रखा है।

 

●  कैसा झूठ ?

 

--->  यही कि आपके फादर मर चुके हैं । 

 

●  कौन हो तुम ?

 

 ◊  JayDev Sir (J.D)

 

●  लेकिन वो तो मर चुके है ?

 

--->  sorry to disappoint you रूबिन जी,  मगर अफसोस मैं जिंदा हूं और इस वक्त सवाल तो यह है कि क्यों आपने अपने फादर की मौत को fake किया हुआ है?

कहां है उनका वह Artificial intelligence का software जिस पर वह काम कर रहे थे?  उसका क्या गलत इस्तेमाल कर रही हो तुम ?

 

●  मैं कुछ नहीं जानती ।

 

--->  of course, you know everything. तुम ही जानती हो सारी दुनिया को स्मार्टफोन के फायदे बताने वाली खुद नॉर्मल सा फोन यूज करती है क्यों?

हेलीकॉप्टर का सिस्टम हैक होता है तो पूरी दुनिया के 22 लोकेशंस में से तुम्हारा ip address भी निकल के आता है, क्यों ? एक secret society के सारे मेंबर्स तुम्हारे नाम का इस्तेमाल किसी तरह के code में करते हैं क्यों ?

बताओ रुबीना, वरना तुम्हें फांसी के फंदे तक पहुंचने से कोई नहीं रोक पाएगा। 

 

●  फांसी का फंदा, huh मे खुद तीन बार ट्राई कर चुकी हूं, अब मुझे मौत का कोई डर नहीं लेकिन जिंदा रहने के लिए मजबूर हूं।

और सच कहूं तो जो तुम्हारे गुनहगार है उनको तुम फांसी दे ही नहीं सकते। 

 

 ◊  तुम ना शक्ल से जितना भोला लगता है ना, उतना एकदम नहीं है हम सब जानता है।

 

●  आप कुछ नहीं जानते, आप, एक सेकंड।। बस  रुक रुकिए 

 

--->  यह क्या लिख रही है आप ?

 

●  लीजिए, ट्रस्ट मी, प्लीज 

 

--->  जरा यहां कोने में आइए, अपना फोन यहां टेबल पर रख दीजिए ना।

रखिए ना यहां रख दीजिए। 

 

 ◊  अच्छा रख दिया, क्या हुआ?

 

---> रुबीना  ने मुझे एक चिट्ठी दी  है, जिसम लिखा है कि हमारी बातें सुनी जा रही है।  स्मार्टफोन हमारे बंद करने पड़ेंगे ।

 

 ◊  अरे थू , इसका नया चाल है ये ! शक्ल देखो इसका काट के फेंक डालेगा हम दोनों को। 

 

--->  हमारे पास और कोई चारा नहीं है, अपने स्मार्टफोन जाके switch-off कर देते हैं चलिए, चलिए ,मेरी बात मानिए  दादा trust me ..

 

(Mob. switched off)

 --->    ठीक है लीजिए रुबीना जी, जैसा आपने चिट्ठी में

लिखा था वैसे हमने अपने स्मार्टफोन बंद कर दिए, अब बताइए क्या चल रहा है?

 

●  (Sobbing, crying) J.D.......  J.D, मैं जो आपको बताने वाली हूं शायद आपको मेरी बात पर विश्वास ना हो। 

    J.D मुझे बचा लीजिए, प्लीज... मेरे पापा को बचा लीजिए। 

    मुझे, मुझे  कुछ समझ नहीं आ रहा, प्लीज मेरी मदद कीजिए। 

 

 ---> तुम्हारा ये भोला शक्ल वाला नाटक नहीं करना, एकदम एकदम चुप करो, एकदम चुप करो। 

 

 --->  दादा... दादा प्लीज, रुकिए ।

       लीजिए, पानी पीजिए, पानी पीजिए।  बोलिए घबराइए मत बताइए। 

 

●  J.D sir,  inspector sundar babu

   हम हम सब किसी बहुत बड़ी मुसीबत में फसने वाले हैं, ये update 2024 

ये नया software प्रोग्राम, उसमें देखिए अगले तीन घंटों में कुछ बहुत खतरनाक होने वाला है। 

मुझे सब कुछ तो नहीं पता पर जितना पता है उतना बता सकती हूं। 

हमें लेकिन वक्त निकला जा रहा है, हमें तुरंत निकलना होगा।  चलिए प्लीज मेरे साथ चलिए। 

 

 ◊  खूब भालो वाह ... ये RUBi के रुबीना पे भरोसा..। हम कहीं नहीं जाएगा, इसके साथ हम कहीं नहीं जाएगा और इसके साथ जाना बहुत डेंजर है

 

● Oh , come on, please.

 

 ---> okay, हो सकता है दादा।  लेकिन अगर ये सच कह रही है तो मासूम लोग भी इस वक्त डेंजर में होंगे। 

RUBI ग्रुप की अगली चाल से सबको बचाने के लिए ये खतरा हमें उठाना ही होगा।

 

●  Thank You.. Thank you JayDev Sir.

मुझे पता था, मुझे पता था इस प्रॉब्लम से सिर्फ J.D मुझे निकाल सकता है।

मैं ना तुमसे पहले ही contact करने वाली थी पर तुम्हारी मौत की खबर सुनकर मेरी हिम्मत टूट गई। 

हमारे पास वक्त काफी कम बचा है और यह काम मैं अकेले नहीं कर सकती।  लेकिन... अब

 

 ---> लेकिन अब, अब J.D वापस आ गया है। 

        इससे पहले कि RUBI की ये तलवार सबकी गर्दन पर चले, हमें उस हाथ को काटना होगा । 

 

        [  My Dear R.U.B.I  --->  J.D iss Back.   ]