dharti ka dard by anita verma in English Short Stories PDF

धरती का दर्द

by anita verma in English Short Stories

धरती का दर्दआवारा बादल ख़ुशी से गुनगुनाता हुआ नीचे जा रही नदी को देख कर दीवाना हो रहा था। साफ़ हवाएँ उनके इश्क़ को देखकर तेज़ी से बहने लगी। मौसमों में मोहब्बतें घुल घुल जा रही थी। पत्ते हिल ...Read More