एहसास प्यार का खूबसूरत सा - 25 in Hindi Novel Episodes by ARUANDHATEE GARG मीठी books and stories Free | एहसास प्यार का खूबसूरत सा - 25

एहसास प्यार का खूबसूरत सा - 25









कायरा का उतरा हुआ चेहरा देख कर , सभी को हैरानी हो रही थी । सभी एक दूसरे का चेहरा देख रहे थे । रूही ने सभी की तरफ देखा , तो सारे दोस्तों ने इशारों में उसे, कायरा से बात करने के लिए कहा।  रूही ने इशारों में ही हामी भरी , और उसने एक नजर आरव की ओर देखा । पर आरव एक टक , कायरा के मायूस चेहरे को देखकर , उसकी परेशानी का अनुमान लगा रहा था । रूही आरव से नजरें हटा कर , कायरा को देखकर उसके गालों पर हाथ रखा , और कहा ।

रूही - कायरा !!!! क्या हुआ है ??? यूं मायूस सी क्यों बैठी है तू ???? ( कायरा ने कोई जवाब नहीं दिया और वह लगातार, अपना सिर झुकाए, जमीन को ताकती रही, तो रूही ने उसका चेहरा अपने हाथों में लिया , और उसका चेहरा अपनी तरफ कर , उसकी आंखों में देख कर कहा ) क्या बात है ??? क्यों उदास है ??? बता जल्दी से .....!!!!!!

कायरा ( अपनी नजरें उठाकर, एक नजर आरव को देखा और फिर रूही से कहा ) - मुझे डांट पड़ी ......। गौरव सर से........।

सभी हैरानी से उसे देख कर बोले - तुम्हें भी 😳😳😳😳!!!!!!

कायरा ( असमंजस की स्थिति में, सभी से बोली ) - तुम्हें भी ..., मतलब ????!!!!!! ( सभी एक दूसरे का चेहरा देख हंस पड़े , तो कायरा ने उन लोगों को घूरते हुए कहा ) मैं तुम सभी से कुछ पूछ रही हूं और तुम सब , दांत दिखा कर हंसे जा रहे हो । ( हल्के गुस्से से सभी को देखते हुए ) क्यों हंस रहे हो तुम लोग??? जल्दी बताओ तुम लोग , वरना .......।

रूही ( बीच में ही उसकी बात काट कर , खिलखिलाते हुए कहती है ) - अरे रुक जा मेरी मां .....। बताते हैं हम तुझे ।

रूही , मुस्कुराकर आरव को देखती है , जो चिढ़ा हुआ सा ,सभी को बारी - बारी से देख रहा था । और उसकी नज़र जैसे ही रूही पर पड़ी , रूही ने उसे चिढ़ाते हुए , कायरा को सब बता दिया , जो कुछ पल पहले आरव ने सभी को बताया था । उसकी बात सुन कायर, रोना सा चेहरा बना कर बोला ।

कायरा - मेरा भी कुछ ऐसा ही हाल है ।

सौम्या ( अपनी हंसी कंट्रोल करते हुए कहती है ) - तो तुम भी अपनी राम कहानी सुनाओ । ( कायरा और आरव की ओर देख कर ) तुम दोनो का तो नहीं पता , पर हम सभी का जरूर आज दिन बन गया । ( कायरा और आरव ने नासमझी से उसे देखा , तो सौम्या ने आगे कहा ) और क्या !!! तुम दोनो ब्रिलियंट स्टूडेंट्स को डांट पड़ने का दिन , बहुत मुश्किल से आता है , और तुम दोनो को डांट पड़ते देख , हम सब को बड़ी हंसी आती है । और तो और तुम दोनो के चेहरे देख सबसे ज्यादा हंसी आ रही है , क्योंकि तुम दोनो इस टाइम किसी जोकर से कम नहीं लग रहे हो ।

सभी खिलखिला कर हंस दिए , तो वहीं आरव और कायरा ने सभी को घूरकर देखने के बाद , मुंह बना लिया । तभी आदित्य ने अपनी हंसी कंट्रोल करते हुए कहा ।

आदित्य - अच्छा कायरा , ये तो बता दो , कि तुम्हें गौरव सर से , किस बात पर डांट पड़ी ।

कायरा ने घूरकर आदित्य को देखा , क्योंकि वह , अभी भी बत्तीसी चमकाए जा रहा था । फिर उसे थोड़ी देर पहले की , गौरव सर की डांट की याद आयी। उसने फिर से उतरा हुआ सा चेहरा बना कर उन्हें सब कुछ बताया .....।

कुछ देर पहले  ..........,

जब आरव सीनियर्स के पास से , प्रिंसिपल सर के पास पहुंचा था । उसी वक्त कायरा को भी , गौरव सर से डांट पड़ रही थी । कायरा म्यूज़िक डिपार्टमेंट के अंदर आयी, और गौरव सर को विश कर , उनकी टेबल के सामने खड़ी हो गई । गौरव सर ने उसे देखते ही , गुस्से से भरकर उससे कहा ।

गौरव सर ( फंक्शन में , होने वाले सिंगिंग परफॉर्मेंस की लिस्ट , कायर को दिखाते हुए बोले ) - ये क्या है , मिस कायरा गर्ग ????? आपने अभी तक , अपने सॉन्ग के लिए , मेल सिंगर नहीं सेलेक्ट किया ??? कहीं भी आपके साथ गाने वाले , मेल सिंगर का नाम नहीं है ।

कायरा ने लिस्ट में देखा , तो उसे याद आया , कि वह डांस के चलते, सिंगिंग परफॉर्मेंस को तो भूल ही गई थी । उसने कुछ नहीं कहा , और अपना मुंह लटका लिया । गौरव सर को जब , कायरा की ओर से कोई रेस्पॉन्स नहीं मिला , तो वे गुस्से से चिढ कर बोले ।

गौरव सर - क्या आपके पास अपनी गलती का, जवाब तक नहीं है ??? अच्छा आप ये बताईए। आपने अभी तक , अपने सॉन्ग की प्रैक्टिस की ??? ( कायरा ने सुना , तो न में सिर हिला दिया । उसकी न में सिर हिलाने को देख कर , गौरव सर को और गुस्सा आया, उन्होंने लिस्ट को टेबल पर पटकते हुए कहा ) वेरी गुड मिस कायरा .... , वेरी गुड...!!!
ना ही अभी तक , साथ में गाने वाला ढूंढ़ा और ना ही अभी तक एक भी प्रैक्टिस की । अगर यही करना था , तो फंक्शन में पार्टिसिपेट क्यों किया आपने ???

कायरा ( ने डरते - डरते कहा ) - सॉरी सर ...., मैं आज ही ये सारे वर्क कंप्लीट कर लूंगी ।

गौरव सर ( थोड़ा सा , अपना गुस्सा कम कर बोले ) - अब तो आपको करना ही पड़ेगा । वरना आपको मेरे रहते कभी भी , किसी भी फंक्शन में पार्टिसिपेट करने का मौका नहीं दिया जाएगा । ( कायरा ने सिर झुका का हामी भरी , तो गौरव सर ने आगे कहा ) ठीक है , आप जल्द से जल्द अपने साथ गाने वाले , मेल सिंगर से मिलिए । और कल तक उनका नाम , ( फंक्शन की, लिस्ट की ओर इशारा कर )इस लिस्ट में आपके साथ , एड करवाइए । ( सख्त हिदायत देते हुए ) ये काम कल तक हो जाना चाहिए  वरना आपको , इस फंक्शन से आउट कर दिया जाएगा , और आगे किसी भी कॉलेज फंक्शन में, पार्टिसिपेट नहीं करने दिया जाएगा ।

कायरा हां कहा , और तेज़ क़दमों से डिपार्टमेंट के बाहर निकल कर , यहां सभी दोस्तों के पास आ गई ।

वर्तमान में.......,

कायरा ने , सब बता कर, टेंशन से भरे हुए लफ्जों में सभी से कहा ।

कायरा - अब बताओ मैं क्या करूं ??? कहां से , मेल सिंगर लाऊं ।

नील ( ने तुरंत कहा ) - तो सॉन्ग चेंज कर दो ......।

कायरा ( ने उसे देख कर कहा ) - नहीं ...., इतना टाइम नहीं है मेरे पास कि, मैं और कोई सॉन्ग सेलेक्ट करूं और उसकी दोबारा तैयारी करूं । क्योंकि ये सॉन्ग मुझे अच्छे से आता है , इस लिए मैं और कोई रिस्क नहीं ले सकती ।

आदित्य ( तुरंत आंखें चमकाते हुए बोला ) - अरे तो इसकी कोई जरूरत ही नहीं पड़ेगी , और न ही किसी अदर सिंगर को ढूंढना पड़ेगा । ( आरव की ओर मुस्कुरा कर देखते हुए )  हमारा आरव है ना , वो भी तो इस कॉलेज का टॉप सिंगर है । और हम सभी तो इसकी गायकी के फैन हैं ।

आरव उसकी बात पर मुस्कुरा दिया और आदित्य की बात पर सभी ने हामी भी भरी । पर कायरा ने हड़बड़ा कर कहा ।

कायरा - नहीं , मैं इनके साथ , सिंगिंग नहीं करूंगी ।

सभी कायरा की बात सुन हैरान हो गए । आरव को तो उसकी बात सुन , आदित्य के ऊपर गुस्सा आया , कि उसने ये बात ही क्यों उठाई । जबकि रूही सबसे ज्यादा हैरान थी , क्योंकि वह अच्छी तरह से जानती थी , कि कायरा आरव को कितना प्यार करती है , फिर भी उसका, आरव के साथ सिंगिंग में, पार्टिसिपेट करने के लिए मना करना , उसे सबसे ज्यादा आश्चर्य में डालने वाला था । आदित्य ने कायरा से और कुछ कहने की कोशिश की , पर आरव ने उसे रोक दिया ।

ये सब वहीं पर सबके साथ बैठी, मीशा भी देख रही थी , और उसके दिमाग में बहुत कुछ चल रहा था , जिसे सोच कर वह मन ही मन मुस्कुरा रही थी ।  पर तभी रूही ने कायरा से कहा ।

रूही ( कायरा के चेहरे को देखते हुए बोली ) - पर तू क्यों मना कर रही है ???? तू तो .....!!!!

कायरा ( बीच में ही हड़बड़ाते हुए, उसकी बात काट कर कहती है ) - अ......, आ........, आरव के सिर पर आलरेडी बहुत सी , रिस्पांसिबिलिटीस है , जिसे पूरा करने में पूरा दिन निकल जाएगा । इसी लिए , मेरी सिंगिंग की रिस्पांसिबिलिटी देकर, मैं इनका काम और नहीं बढ़ाना चाहती।

सभी ने उसकी बात को समझा और हामी भरी । पर आरव को कुछ तो खटक रहा था...., उसके बोलने के लहजे से । पर आरव ने अभी इस बात को, वहीं पर फुलस्टॉप लगाने में ही भलाई समझी, और वह इसी वजह से शांत ही रहा । नील ने आरव आरव से कहा ।

नील ( उत्सुकता से ) - अब तो बता दे भाई !!! सीनियर्स ने क्या कहा ????

आरव ( टेंशन के साथ कहता है ) - सीनियर्स ने बहुत सारे काम दिए हैं।

राहुल - और वो क्या हैं????

आरव - सीनियर्स ने डांस के सॉन्ग्स की लिस्ट मंगाई है , आज ही । ( सभी की तरफ देखते हुए ) पर क्या अभी तक  हमारे डांस के सॉन्ग्स डिसाइड हुए हैं ????

आदित्य - हां , मैंने और सौम्या ने तो डिसाइड कर लिया है । एंड आई एम श्योर , कि तुम सभी ने भी डिसाइड कर ही लिया होगा। 

कायरा आरव और रूही राहुल को छोड़ कर सभी ने हां में सिर हिलाया । तो आदित्य ने कहा  .....।

आदित्य ( चारों की तरफ देखते हुए ) - तुम लोगों ने अभी तक डिसाइड क्यों नहीं किया है ????

राहुल - यार......, टाइम ही नहीं मिला।

इतना कह कर वह रूही की ओर देखने लगा । जबकि कायरा और आरव शांत ही थे । तभी आदित्य ने कहा ।

आदित्य - आरव और कायरा के लिए, मैं सॉन्ग सेलेक्ट करूंगा ।

आरव ( सवालिया निगाहों से उसे देखते हुए ) - डांस हम लोग कर रहे हैं ...., और सॉन्ग तू डिसाइड करेगा !!!! ऐसा क्यों ?????

आदित्य ( बत्तीसी चमकाते हुए ) - भाई हूं यार तेरा , इतना तो कर ही सकता हूं तेरे लिए ।

आरव ने कुछ कहा नहीं, पर उसे घूर कर देखा । आदित्य सकपका गया , और शांत हो गया । तभी पीछे से अंशिका ने आकर कहा ।

अंशिका ( मुस्कुराते हुए , आरव के गले में अपनी बाहें रखते हुए बोली ) - इनके लिए सॉन्ग तो मैं डिसाइड करूंगी , ( साइड की टेबल से , एक चेयर खीच कर बैठते हुए बोली ) आखिर मैंने देखा है दोनों को डांस करते हुए , मुझे ज्यादा अच्छे से पता है , कि इन दोनों के डांस स्टेप्स के अकॉर्डिंग, कौन सा गाना इनके ऊपर फिट बैठेगा ।

सभी ने उसकी बात पर , सहमति जताई । तभी राहुल ने रूही से कहा ।

राहुल - आप बताइए , कौन सा सॉन्ग सेलेक्ट करें ।

रूही ( बिना राहुल की ओर देखे बोली ) - आप जो भी सॉन्ग , सेलेक्ट करेंगे , मैं उसी में डांस कर लूंगी ।

राहुल ने कुछ नहीं कहा , आरव ने एक पेपर और पेन सभी की तरफ बढ़ा कर कहा ।

आरव - ये लो पेपर और पेन, और जल्दी से , अपने - अपने सॉन्ग्स का नाम लिख दो, मुझे बाकी क्लास मेट्स के भी , सॉन्ग्स की लिस्ट बनानी है । ( सभी ने अपने - अपने सॉन्ग्स का नाम लिख दिया , तो आरव ने लिस्ट अपने पास रख कर कहा ) एक काम और कहा है, सीनियर्स ने ...।

शिवानी - तो बताओ!!!

आरव - सीनियर्स ने , सभी के ड्रेस कोड की भी लिस्ट मंगाई है ।

सौम्या ( नासमझ सी ) - पर क्यों ????

आरव - उन लोगों ने एक थीम डिसाइड की है , कि सारे कपल्स के ड्रेस कोड का कलर , किसी और कपल के ड्रेस कोड से मैच नहीं होगा ।

सौम्या ( असमंजस की स्थिति में ) - मतलब ????

आरव ( सभी को समझते हुए ) - जैसे कि , मैं और कायरा अभी कपल डांस कर रहे हैं , तो हमारे ड्रेस का कलर मैचिंग होगा । और जैसे कि हमारे ड्रेस का कलर रेड है , ( आरव के रेड कलर बोलते ही कायरा ने घूर कर आरव को देखा , और उसी वक्त आरव की नज़र भी उसके ऊपर गई । आरव ने उसकी नज़र को देख , सकपकाते हुए कहा ) मेरा मतलब है, कि ब्लू  ( आरव के दूसरे कलर के नाम कहने पर , कायरा ने उसे घूरना बंद कर दिया , तो आरव को थोड़ी सी शांति मिली , फिर आरव ने आगे कहा ) हो , तो हमारे सेम ड्रेस से मैचिंग कलर, कोई और कपल डांस करने वाला नहीं पहन सकता ।

रेहान ( झल्लाते हुए बोला ) - ये क्या बात हुई भला ....???? इतने सारे रूल रेगुलेशंस ....।

नील ( तुनंगते हुए ) - हां यार , इतने सारे रूल्स रेगुलेशंस , वेलकम फंक्शन में होते हैं क्या भला ???

आरव ( चिढ़ते हुए ) - इसी लिए तो मुझे गुस्सा आ रहा है । मुझे तो ऐसा लग रहा है , जैसे ये फ्रेशर्स ( स्टूडेंट वेलकम ) पार्टी नहीं , बल्कि इस कॉलेज का एनुअल फंक्शन हो । और ऊपर से हमारे लिए ही फंक्शन रखा गया है और हमें ही सारा काम करना पड़ रहा है ।

आदित्य - हां यार ....., तू सही कह रहा है ।

सौम्या - अच्छा वो सब छोड़ो , ये बताओ कि फंक्शन के लिए ड्रेसेस की शॉपिंग करने , कब जाना है ??? क्योंकि सिर्फ चार दिन बचे हैं फंक्शन के लिए , और जितनी जल्दी हम ड्रेस डिसाइड करेंगे , उतना ही हमारे लिए बेनिफिशियल होगा । क्योंकि ड्रेस की फिटिंग के लिए आज अगर ड्रेस सेलेक्ट कर देंगे , तो हमें तीन दिन बाद , ड्रेस मिलेगी ।

शिवानी - उस हिसाब से तो हमें आज ही शॉपिंग करनी होगी ।

आदित्य - तो फिर बताओ सभी , आज किस टाइम पर चले शॉपिंग के लिए । और हां सभी साथ में जायेंगे।

आरव - हां बिल्कुल , सब साथ में ही जाएंगे । एक काम करते हैं , आज ऑफिस से शाम को जल्दी फ़्री होकर , चलते हैं शॉपिंग के लिए । पर , रूही , रेहान , मीशा , शिवानी और सौम्या , तुम लोग टाइम पर रेडी रहना । ( अंशिका की ओर देखते हुए ) तुम भी चलोगी क्या हमारे साथ शॉपिंग में ?????

अंशिका - नहीं भाई !!!!! हम फ्रेंड्स का आलरेडी आज शॉपिंग पर जाने का प्लान है ।

आरव - ओके , देन हम लोग चलेंगे , और तुम सभी रेडी रहना ।

रूही ( बीच में ही ) - मैं शॉपिंग में नहीं जाऊंगी ।

राहुल ( हैरानी से ) - पर क्यों ?????

रूही ( कुछ सोच कर बोलती है ) - मेरे पास , बहुत सी न्यू ड्रेसस रखी हुई हैं , इस लिए मैं और अदर शॉपिंग ना कर ,  उन्हीं ड्रेसेस को पहनूंगी ।

शिवानी - बट कलर ......।

रूही ( राहुल की ओर देख कर ) - वो आप मुझे बता दीजिएगा , मेरे पास सभी कलर की ड्रेसेस हैं , इस लिए आपके बताए कलर के अकॉर्डिंग, मैं ड्रेस सेलेक्ट कर लूंगी ।

सभी ने कुछ नहीं कहा और उसकी बात पर हामी भर दी । पर तभी कायरा ने बीच में कहा ।

कायरा - मैं भी शॉपिंग पर नहीं जाना चाहती ।

सौम्या ( हैरानी से ) - पर क्यों ???

कायरा - मुझे कुछ जरूरी काम है घर का , जो आज ही पूरा करना जरूरी है । इस लिए  मैं नहीं जा सकती ।

रूही ( हैरानी से उसे देखते हुए बोली ) - फिर तुम , ड्रेस कब सेलेक्ट करोगी ???

कायरा - मैं बाद में कर लूंगी । ( सभी की तरफ देखते हुए ) बट सॉरी , मैं आप लोगों के साथ शॉपिंग पर नहीं आ पाऊंगी।

सभी ने कुछ नहीं कहा । पर आरव, ये बहुत अच्छे से समझ रहा था , कि कायरा झूठ बोल रही है । पर वह झूठ क्यों बोल रही है , यही सोच - सोच कर उसे गुस्सा आ रहा था । आरव ने , लिस्ट ली और आदित्य को, बाद में ऑफिस में मिलने का बोल, सीनियर्स के पास चला गया । कायरा भी , ऑफिस के लिए निकल गई । आदित्य और नील भी ऑफिस के लिए निकल गए । पर राहुल रूही का हाथ पकड़ कर ,उसे गार्डन में ले आया और गुस्से से उसके करीब आकर रूही से कहा ।

राहुल ( रूही की आंखों में देखते हुए ) - क्यों नहीं आना चाहती तुम शॉपिंग में, हम सभी के साथ, रूही ??? आखिर क्या छुपा रही हो तुम हम सभी से ????( रूही के थोड़ा और करीब आकर उसके बाहों में, अपने दोनो हाथों की पकड़ मजबूत करते हुए कहता है ) तुम्हारी, ये मेरे सामने खामोशी, ये चेहरे की उदासी , आंखों की मायूसी बहुत कुछ कहती है । पर तुम इन सभी को छुपा कर, आंखों पर झूठ की पट्टी क्यों ओढ़े रहती हो ???? मैं बहुत अच्छे से जानता हूं , कि तुमने अभी सभी दोस्तों के सामने झूठ कहा है । ( बेबसी से उसे देखकर उसके चेहरे को अपनी हथेलियों मे भर कर कहता है ) अगर कोई बात है तो कहो ना !!!!!! मुझसे कहो , कायरा से बोलो , पर ऐसे झूठ तो मत बोलो , खामोश मत रहो , मुझे अच्छी नहीं लगती तुम्हारी ये उदासी ।

राहुल की बात सुन , रूही एक टक बस उसे देखती ही रही । पर अगले ही पल उसने राहुल का हाथ झटक कर , उसे अपने से दूर ढकेल कर गुस्से से कहा ।

रूही - आप ये क्या कर रहे हैं ??? हिम्मत कैसे हुई आपकी , मेरे इतना करीब आने की , वो भी बेवजह !!!!

राहुल ( गुस्से से ) - तुम तो ऐसे कह रही हो , जैसे हम पहली बार इतने करीब आए हों !!!

रूही ( उसी अंदाज़ में, राहुल की आंखो में देखकर, कहती है ) - पहले जब हम एक दूसरे के इतने करीब आएं हैं , तो उस समय हमारा करीब होना, मात्र डांस स्टेप का एक हिस्सा था । पर अभी हम यहां, इस वक्त कोई भी डांस स्टेप नहीं कर रहे हैं । तो आप मेरे इतना करीब कैसे आ सकते हैं , बातें तो दूर रहकर भी की जा सकती हैं ना , तो किस हक़ से आप मुझ पर गुस्सा कर रहे हैं और मुझे अपने इतने नजदीक लाकर बात कर रहे हैं ????

राहुल ( गुस्से से मुट्ठी भींचते हुए उसके करीब आकर कहता है ) - मेरा तुम पर हक़ क्या है , ये मैं अभी बताना जरूरी नहीं समझता । तुम सिर्फ मुझे मेरे सवालों का जवाब दो ।

रूही ( उसकी आंखों में देख कर कहती है ) - जब तक आप मेरे सवालों का जवाब नहीं दे देते , तब तक मुझसे किसी भी जवाब की उम्मीद मत रखिएगा । और दोबारा मेरे इतने करीब आने की सोचिएगा भी मत , कोई अधिकार नहीं हैं आपको मेरे इतना करीब आने का ।

इतना कह कर रूही, अपने आंखों में आंसू लिए वहां से चली गई । पर उसके आंखों के आसूं राहुल नहीं देख पाया । उसे रूही की बात सुन बहुत गुस्सा आ रहा था । वो सोच रहा था , कि उसने क्यों अपने दिल की बात रूही से नहीं कही। और सबसे ज्यादा हैरानी उसे, रूही के किए गए बर्ताव से हो रही थी । तभी आदित्य का उसे कॉल आया , वह कॉल अटेंड कर , आदित्य के पास जाकर , वहां से ऑफिस की ओर बढ़ गया ।

इधर आरव , भी अपना काम खत्म कर ऑफिस के लिए निकल गया । रास्ते में उसे एक लड़की सड़क के किनारे अपनी स्कूटी के साथ खड़ी दिखी । वह अपनी कार को उसकी तरफ ले गया। तो देखा, कि वह कोई और नहीं बल्कि कायरा थी , जो बार - बार एक्सीलेटर को घुमा कर स्कूटी स्टार्ट करने की कोशिश कर रही थी , पर स्कूटी स्टार्ट नहीं हो रही थी । आरव ने उसके नजदीक ही , अपनी कार रोक दी , और अपनी कार से उतर कर कायरा के पास आया । इस वक्त कायरा , स्कूटी को स्टार्ट करने की नाकाम कोशिश कर रही थी , पर स्कूटी है कि जैसे कसम खाए बैठी थी , कि स्टार्ट ही नहीं होगी । आरव ने उसके पास आकर कहा ।

आरव - क्या हुआ???? तुम यहां पर क्यों खड़ी हो ??? ऑफिस क्यों नहीं गई अभी तक?????

कायरा ( उसकी आवाज़ सुन , उसे देखकर चिढ़ते हुए बोली ) - दिख नहीं रहा है आपको ??? स्कूटी स्टार्ट नहीं हो रही है । अब मेरे पैरों में इतनी ताकत तो नहीं है, कि मैं  इतनी दूर पैदल चल कर, आपके ऑफिस तक पहुंच सकूं ।

इतना कह कर वह फिर से स्कूटी स्टार्ट करने लगी । कायरा की बात सुन आरव को बेहद गुस्सा आया , और उसने गुस्से से मुट्ठी भींचते हुए कहा ।

आरव - तुम्हें आज हो क्या गया है ??? किसी भी बात का सीधी तरह से जवाब नहीं दे सकती तुम ???? या तो पहले जवाब देती नहीं हो और अब जब तुमने जवाब दिया , तो वह भी नीम की तरह कड़वे शब्दों में ।

कायरा ( इरिटेट होते हुए बोली ) - जब आपको पता ही है , कि मैं आपको जवाब नहीं देना चाहती, तो फिर बार - बार मुझसे सवाल ही क्यों कर रहे हैं आप ???

आरव को उसकी बात पर अब और ज्यादा गुस्सा आया और उसने कायरा की एक बांह को कस कर अपने हाथ में जकड़ते हुए, उसे अपने करीब लाकर कहा ।

आरव - क्योंकि मुझे जानना है, तुम्हारे इस बदले हुए बर्ताव का रीजन ।

कायरा ने सुना तो , उसकी आंखों में आसूं उतर गए , और उसने अपनी आंखें बंद कर ली । कायरा को चुप देख कर आरव का गुस्सा और ज्यादा बढ़ने लगा , उसने कायरा की बांह को और कस कर जकड़ते हुए कहा ।

आरव - बता क्यों नहीं रही हो तुम , अपने इस बदले हुए बिहेव का रीजन !!!???

कायरा ने कुछ नहीं कहा , पर उसकी आंखें बंद करने से , उसके आंसू आंखों से रिस कर गालों पर आ गए । और इस वक्त आरव की हाथो की मजबूत पकड़, उसके हाथों पर पड़ने से , उसकी बांह में दर्द भी होने लगा था । आरव ने जब , कायरा के आंसू देखे , तो एक झटके से उसे छोड़ दिया । कायरा ने अपनी आंखें खोली और वह जमीन को ताकने लगी । आरव ने अपना गुस्सा पिया और एक लम्बी सांस ली और फिर स्कूटी के पास आकर, स्कूटी को चैक करते हुए , कायरा से कहा ।

आरव - क्या हुआ है स्कूटी को ??? क्यों स्टार्ट नहीं हो रही है ???

कायरा ( धीमी सी आवाज़ में बोली ) - नहीं पता ।

आरव ( एक नजर कायरा को घूरकर देखने के बाद , स्कूटी को अच्छी तरह से चैक कर कहा ) - पेट्रोल नहीं है इसमें । ( कायरा को घूरते हुए ) घर से निकलने से पहले तुम , स्कूटी का पेट्रोल चैक नहीं कर सकती थी ।

कायरा को एहसास हुआ कि , उसने दो दिन से स्कूटी में पेट्रोल डलवाया ही नहीं था । उसने धीमी आवाज़ में ही आरव से कहा ।

कायरा - वो मैं भूल गई थी ।

आरव ( गुस्से से उसे ताना मारते हुए बोला ) - वेरी गुड । इलाज करवाओ अपने दिमाग का, जो तुम्हें सारी चीजें अच्छे से याद करवा सके । ( कायरा ने उसकी बात पर , सिर ऊपर कर उसे घूरकर देखा , तो आरव ने भी उसे घूरकर देखा और उसके थोड़ा पास आकर कहा ) ऐसे क्या मुझे देख रही हो !!!! मुझे घूरकर देखने से स्कूटी स्टार्ट नहीं हो जाएगी और जो भी कह रहा हूं सही कह रहा हूं । अब मेरे साथ चलकर कार में बैठो , मैं तुम्हें ऑफिस ले जाऊंगा ।

कायरा ( तुरंत बोली ) - मैं आपके साथ कहीं नहीं जाऊंगी ।

आरव ( झल्लाते हुए बोला ) - तो क्या यहां पर , इतनी तेज़ धूप में , पापड़ सुखाओगी, अपनी स्कूटी के साथ खड़े होकर ??? ( उसने अपने आस - पास देखकर कहा ) यहां पर इस तरह, अकेले खड़े रहना, ठीक नहीं है । इस लिए चलो मेरे साथ । वैसे भी तुम्हारी वजह से मुझे भी लेट हो रहा है ।

कायरा ( गुस्से से ) - आपको लेट हो रहा है तो जाइए , मैं आपको पहले ही कह चुकी हूं , कि मैं आपके साथ नहीं जाऊंगी ।

कायरा इतना कह कर , स्कूटी को पकड़ कर, सड़क के और किनारे में पार्क लगी और हेल्प के लिए टैक्सी का वेट करने लगी । आरव ने जब ये देखा , तो गुस्से से उसकी बांह पकड़ कर खींच कर गाड़ी में बैठाया । कायरा उसे मना करती रही , पर आरव ने उसकी एक ना सुनी । और उसे बैठाने के बाद , उसकी स्कूटी की चाभी लेकर , उसका सारा सामान स्कूटी की डिग्गी से निकाला और अपने कार के, बीच की सीट पर रख दिया । और आकर ड्राइविंग सीट पर बैठ गया । उसने कायरा को , सीट बेल्ट लगाने को कहा । पर कायरा ने गुस्से में सीट बेल्ट नहीं लगाया , तो आरव ने गुस्से में भर कर उसका सीट बेल्ट खुद से लगाया , जबकि कायरा उसकी इस हरकत से निष्तब्ध हो गई । उसके होठों से , शब्द ही नहीं निकले आरव को कुछ कहने के लिए।

आरव ने उसका सीट बेल्ट लगाकर , अपने मोबाइल से , आदित्य को लेट आने का मैसेजेस किया । और गाड़ी स्टार्ट कर आगे बढ़ा दी । जबकि कायरा बस उसके चेहरे को देख , उसी में खोई रही । और आरव उसे इग्नोर कर बस, गुस्से में कार ड्राइव करता रहा । कुछ सेकंड्स बाद, गाड़ी के  तेज़ हॉर्न की आवाज़ से कायरा की तंद्रा टूटी और उसकी नज़र आरव से हट कर , रास्ते पर गई । उसने उस रास्ते को देखकर हैरानी से , आरव को देखा और कहा ।

कायरा - हम कहां जा रहे हैं ??? ये रास्ता तो ऑफिस का नहीं है !!!!! ( आरव ने कोई जवाब नहीं दिया और एक झटके से गुस्से से गेयर लगाया , गनीमत रही कि गेयर टूट कर उसके हाथ में नहीं आया , वरना दोनों ही आज बुरी तरह ऐक्सिडेंट में मारे जाते । कायरा ने उसका जवाब ना पाकर गुस्से में कहा ) आप जवाब क्यों नहीं दे रहे हैं ??? मैं आपसे कुछ पूछ रही हूं ।

आरव ( गुस्से से भरी निगाहों से कायरा को देख कर बोला ) - तुमने मेरे सवालों का जवाब दिया ????

आरव की बात सुन कायरा चुप हो गई । और चुप - चाप चलती हुई, सड़क की ओर देखने लगी । आरव ने इसके आगे कुछ नहीं कहा , और दिल में गुस्से का अंबार लेकर गाड़ी ड्राइव करता रहा ।

लगभग आंधे घंटे बाद वो लोग , एक बड़े से मॉल के सामने पहुंचे । आरव ने गाड़ी पार्क की और कायरा की साइड के दरवाज़े को ओपन कर , उसे उतरने को कहा । कायरा हैरान सी कभी आरव को तो कभी मॉल को देख , समझने की कोशिश कर रही थी, कि आरव उसे आखिर यहां क्यों लाया है । जब आरव ने कायरा को इस तरह सोच मे डूबे देखा , तो उसका हाथ पकड़ कर झटके से उसे कार से उतरा और तेज़ आवाज़ के साथ कार के दरवाज़े को बंद कर , कायरा का हाथ पकड़ कर , मॉल में ले गया । कायरा को अब आरव की इस हरकत से बहुत गुस्सा आया और वह गुस्से से अपना हाथ छुड़ाने लगी । पर मॉल के अंदर जाते ही उसने अपने हाथ छुड़ाने कि कोशिश बंद कर दी । क्योंकि उसे समझ आ गया था, कि आरव अब उसका हाथ नहीं छोड़ेगा , और वहां पर उपस्थित लोग आरव को बड़े ध्यान से देख रहे थे । कायरा बहुत अच्छे से जानती थी , कि अगर वह आरव से अपना हाथ छुड़ाएगी तो दोनों के बीच झगड़ा होगा , और अगर झगड़ा हुआ तो मॉल में उपस्थित लोग , उन्हें अजीब नजरों से देखने लगेंगे और उस वजह से सीधा असर आरव के नाम और कंपनी की रेपोटेशन पर होगा । इसी वजह से कायरा ने इस वक्त शांत रहना ही ठीक समझा ।

आरव उसे लेकर सीधे लेडीज क्लोथ्स के शॉप पर गया।  वहां उसने कायरा के लिए ड्रेसेस दिखाने को कहा और वहीं रखी हुई चेयर पर बैठ गया, और कायरा को भी अपनी बगल वाली चेयर पर बैठा दिया । जबकि कायरा बस उसे गुस्से से घूरे जा रही थी और आरव उसे इग्नोर किए जा रहा था । जब कायरा के बर्दास्त से बाहर हुआ तो वह आरव के थोड़ा सा पास आकर , चिढ़ते हुए धीमी आवाज़ में बोली ।

कायरा - आप ये सब क्यों कर रहे हैं ???

आरव ( ने एक नजर उसे देखा और फिर कहा ) - क्योंकि मैं बहुत अच्छे से जनता हूं , कि तुम्हें आज शाम, कोई काम नहीं है । तुमने सिर्फ मुझसे बचने के लिए , सारे दोस्तों के साथ, शॉपिंग पर जाने के लिए मना किया है । और तुमने ऐसा क्यों किया है , इसका जवाब तो तुम ही दे सकती हो , तो बताओ , तुमने ऐसा क्यों किया ?????

कायरा को विश्वास ही नहीं हुआ उसकी बात पर , क्योंकि कोई भी इतने कम समय में इतनी अच्छे से उसे कैसे समझ सकता है, यही सोच कर उसे हैरानी हो रही थी  । पर तब भी कुछ सोच कर, कायरा ने गुस्से से उसे घूरते हुए कहा ।

कायर - मैंने ऐसा क्यों किया है , किस लिए किया है, इसके पीछे का रीजन क्या है , ये बताना मैं आपको जरूरी नहीं समझती ।

आरव ( हैरानी और गुस्से से उसे देखते हुए बोला ) - पर क्यों ???? क्यों तुम मुझे ये सब नहीं बताना चाहती ??? चल क्या रहा है तुम्हारे मन में ???

कायरा ( एटिट्यूड से उसे देख कर बोली ) - आपसे मतलब !!!??? मैं कहीं जाऊं या ना जाऊं, कोई भी बात किसी रीजन से कहूं या ना कहूं , इससे आपको क्या ???  ( आरव ने सुना , तो गुस्से से अपना मुंह फेर लिया । कायरा ने अपने शब्दों को कंट्रोल कर , आरव के कुछ भी ना कहने पर कहा ) वैसे आपके पास शायद कोई जवाब नहीं है । खैर छोड़िए। ( कपड़ों को देख कर उसने कहा ) हमें यहां से चलना चाहिए , क्योंकि मुझे अपने लिए कोई भी ड्रेस नहीं लेनी है , तो आप इन क्लोथ्स शोअर को , क्लोथ्स दिखाने के लिए मना कीजिए और यहां से चलिए , हमें ऑफिस के लिए लेट हो रहा है ।

कायरा वहां से उठकर जाने लगी, तो आरव ने उसका हाथ पकड़ कर, वापस चेयर पर बैठाया और उससे कहा ।

आरव - शांति से यहां पर बैठ कर , ड्रेस सेलेक्ट करो । ( एटिट्यूड दिखा कर बोला ) क्योंकि मैं बिल्कुल भी नहीं चाहता , कि मेरे साथ डांस करने वाली, मेरी डांस पार्टनर, मुझसे कम स्मार्ट लगे । इस लिए चुप - चाप कपड़े सेलेक्ट करो ।

कायरा ( उसे घूरते हुए बोली ) - और अगर ना सेलेक्ट करूं तो ???

आरव ( गुस्से से उसे घूरते हुए बोला ) - तो फिर दिनभर मेरे साथ यही पर बैठना होगा । जब तक मैं तुम्हें यहां से उठने को ना कहूं, तब तक ।

कायरा ने सुना तो मुंह बना कर, चुप - चाप ड्रेस सेलेक्ट करने में ही अपनी भलाई समझी । कायरा ने एक पिंक कलर की सिम्पल सी गाउन सेलेक्ट की । पर आरव को वो गाउन पसंद नहीं आयी। तो उसने कायरा के हाथ से वो गाउन छुड़ा कर , वापस रख दी । और वहां क्लोथ्स शोअर से बेस्ट ड्रेस दिखाने को कहा । क्लोथ्स शोअर ने बहुत सी अच्छी - अच्छी ड्रेसेस लाकर वहां पर रख दी । आरव ने उनमें से एक रेड कलर की सुंदर सी गाउन निकाली । वह गाउन हाफ सोल्डर थी , और उसके नेक पर बहुत सुंदर सी, व्हाइट कलर की मोतियों से, डिजाइन बनी हुई थी । और वह ज्यादा भड़कीली भी नहीं थी । सीधे - सीधे कहा जाए तो वह सिम्पल एंड शोवर और बहुत सुंदर दिखने वाली ड्रेस थी।  आरव ने कायरा को खड़े होने बोला , पर कायरा अपनी सीट से हिली तक नहीं । तो आरव ने कायरा को पकड़ कर खड़ा किया और उस गाउन को अपने हाथों से पकड़ कर , कायरा के बदन से लगाकर कर देखने लगा । वह गाउन , कायरा के ऊपर बहुत सुंदर लग रही थी , और वह गाउन उसके एड़ियों तक आ रही थी , जिससे कायरा को डांस करने में भी ज्यादा परेशानी नहीं होने वाली थी । आरव ने उस ड्रेस को और कायर को देख कर कहा ।

आरव - वेरी नाइस ......। ये गाउन तो तुम्हारे ऊपर बहुत सुंदर लग रही है । और जब तुम इसे पहनोगी तब तो और भी ज्यादा सुंदर लगोगी । इसी को फाइनल करते हैं , तुम यही ड्रेस, परफॉर्मेंस के टाइम पर पहनोगी ।

कायरा ने उसे घूरकर देखा , क्योंकि आरव ने रेड कलर की ड्रेस ही क्यों सेलेक्ट की थी , इसका रीजन वह बहुत अच्छे से जानती थी । कायरा आरव के दिल के जज़्बात उसकी आंखों से पढ़ चुकी थी , इस लिए उसे आरव का रेड कलर ही पसंद करने के पीछे का मोटिव, बहुत अच्छे से समझ आ रहा था । उसने उसे घूरते हुए कहा ।

कायरा - मैं ये ड्रेस बिल्कुल भी नहीं पहनूंगी ।

आरव ( क्लोथ्स शोअर को ड्रेस थामते हुए कायरा से बोला ) - तुम यही ड्रेस पहनोगी, वरना ......।

कायरा ( उसे घूरते हुए ) - वरना .....????

आरव ( आंखें मटकाते हुए बोला ) - वरना दिनभर यहां पर बैठने के किए रेडी हो जाओ । ( कायरा का उसकी बात सुनकर, एक बार फिर मुंह बन गया , आरव को उसकी शक्ल देख हंसी आ गई , पर उसने अपनी हंसी कंट्रोल कर उससे कहा ) जल्दी से जाकर , ड्रेस को ट्राय करो, उसकी फिटिंग वगेरह देख लो , और ड्रेस डिजाइनर से, ड्रेस का तुम्हारे फिटिंग के अकॉर्डिंग रेडी होने का टाइम पूछ लेना । फिर हम सीधे ऑफिस के लिए निकलेंगे ।

कायरा ने बिना कुछ कहे , वहां के डिजाइनर के पास चली गई । और आरव दूसरे साइड मेन्स शॉप में आकर , अपने लिए कपड़े देखने लगा । उसने अपने लिए ब्लैक कलर का   ब्लेजर , कायरा की ड्रेस से मैचिंग रेड कलर की शर्ट और साथ में ब्लैक जीन्स खरीदा । वह वापस लेडीज शॉप पर आकर कायरा का वेट करने लगा । कुछ पल बाद कायरा भी आ गई । आरव और जयारा नीचे रिसेप्शन पार आ गए । आरव ने अपने कपड़ों का बैग वहां से लिया और दोनो की ड्रेस की पेमेंट करने लगा , तो कायरा ने उसे रोकते हुए कहा।

कायरा - मेरी ड्रेस की पेमेंट मैं खुद करूंगी ।

आरव - पर ड्रेस खरीवाने के लिए तो मैं तुम्हें लाया था ।

कायरा - वो सब मुझे नहीं पता , पर मुझे दूसरों के एहसान लेने की आदत नहीं है ।

आरव ने उसकी बात सुनी तो उसे , आरव को दूसरा कहना अच्छा नहीं लगा । पर उसने कुछ नहीं कहा , और दोनों ही पेमेंट कर मॉल से बाहर निकल गए ।

तो वहीं दो आंखें उन्हें , जलती हुई आंखों से देख रही थी । और वो आंखें थी राजवीर की । जो किसी काम से वहां पर आया था , पर कायरा और आरव को एकसाथ देख, वह लगातार उनका मॉल में पीछा कर रहा था । उसने गुस्से में जहरीली आंखों से उन्हें जाते हुए देखा और फिर वह भी ऑफिस के लिए निकल गया ।

एक घंटे बाद कायरा और आरव ऑफिस पहुंचे । दोनों ही अपने - अपने केबिन में जाकर , अपने - अपने काम में लग गए । आरव को कुछ ही पल हुए थे अपने केबिन में आए , कि पीछे से आदित्य उसके केबिन में पहुंच गया । और उसे छेड़ते हुए बोला ।

आदित्य - ओ ... हो.......। आज तो कोई शॉपिंग करके आया है । ( चेयर पर बैठते हुए बोला ) और बता , कैसी रही कायरा के साथ तेरी शॉपिंग ???

आरव ( उदास होकर बोला ) - कैसी होगी यार !!!!! मेरे आज के दिन की तरह ही , इरिटेटिंग थी ।

आदित्य ( नासमझ सा ) - मतलब !!!???

आरव ( अपना ध्यान लेपटॉप से हटा कर , पीछे चेयर से टिकते हुए बोला ) - क्या बताऊं भाई !!!! आज पता नहीं उसे क्या हो गया है , सुबह से मुझे बस सुनाए ही जा रही है । अजीब सा बिहेव कर रही है , जैसे मैं उसका दोस्त नहीं दुश्मन हूं । एक दम दूर - दूर भाग रही है मुझसे , जैसे मैं उसे खा जाऊंगा । इसी बात पर मुझे उसके ऊपर बेहद गुस्सा आ रहा है ।

इतना कह कर उसने सुबह से लेकर शॉपिंग तक की, सारी बातें आदित्य को कह सुनाई । आदित्य ने सारी बात सुनकर आरव से कहा ।

आदित्य - कोई भी कारण हो उसका, तेरे साथ ऐसे बिहेव करने का  , पर तुझे उसपर गुस्सा नहीं करना चाहिए था । अरे भाई , प्यार है वो तेरा । और अपने प्यार पर गुस्सा करके , तू उसे सिर्फ हर्ट ही करेगा । जिससे उसे बहुत बुरा लगेगा भाई ।

आरव ( कायरा के बारे में सोचते हुए बोला ) - हां भाई , कह तो तू सही रहा है । पर ना मैं आज बुरी तरह से इरिटेट हो चुका हूं ।  सुबह से इतना कुछ हो रहा है ना मेरे साथ , कि मेरा दिमाग ही खराब हो गया है । ऊपर से उसका इतनी रूडली मुझसे बिहेव करना , मेरे इरीटेशन और गुस्से को और हवा दे रहा था । इस लिए मेरा गुस्सा उसके ऊपर उतर गया ।

आदित्य - कोई बात नहीं भाई , तू समय देख कर, उससे सॉरी बोल देना और शांति से उसके बिहेव का रीजन पूछना ।

आरव - यू आर राइट यार । मैं कल उससे बात करूंगा । और अपने बिहेव के लिए उससे सॉरी भी बोल दूंगा ।

आदित्य उसकी बात सुन मुस्कुरा देता है और वो लोग बिजनेस को लेकर कुछ डिसकशन करने लगते हैं ।

यहां कायरा अपने केबिन में बैठ कर अपना काम कर रही थी कि तभी राजवीर अपने हाथ में एक फाइल लेकर कायरा के केबिन के अंदर आया । उसे देखकर कायरा खड़ी हो गई , और गुस्से से उससे बोली ।

कायरा - तुम यहां ???? क्या कर रहे हो तुम यहां पर ???

राजवीर ( नॉर्मल बनते हुए बोला ) - रिलेक्स कायरा , ( हाथो मे पकड़ी फाइल की ओर इशारा कर कहता है ) मैं तो बस इस प्रेजेंटेशन को लेकर तुमसे कुछ डिस्कशन करने आया था ।

कायरा ने कुछ नहीं कहा, तो राजवीर कायरा के एकदम करीब आकर , उसे फाइल दिखा कर, डिजाइन्स और प्रेजेंटेशन के बारे में बात करने लगा । राजवीर धीरे - धीरे कायरा से डिस्कशन के बहाने , उसके नजदीक जा रहा था । कायरा उसकी हरकतों को बहुत अच्छी तरह से नोटिस कर रही थी । जब राजवीर ने उसके कंधे से, अपने कंधे को टच किया, तो कायरा ने एक झटके से राजवीर को दूर ढकेल दिया और गुस्से से उससे बोली ।

कायरा - खबरदार राजवीर !!!! जो तुमने काम के बहाने मेरे साथ कुछ ग़लत हरकत करने के बारे में सोच भी तो ।

राजवीर को गुस्सा तो बहुत आया । पर उसने अपने गुस्से को झटक कर नॉर्मल बिहेव करते हुए कहा।

राजवीर - अरे कायरा!!! तुम मुझे गलत समझ रही हो । मैं तो बस तुमसे ऑफिस से रिलेटेड, काम की बात करने ही आया था ।

कायरा ( गुस्से से उसे देखते हुए बोली ) - मैं बिल्कुल सही समझ रही हूं राजवीर । मैं तुम्हारे इंटेंशन्स और तुम्हें बहुत अच्छे से जानती हूं । और मैं पहले भी तुम्हें वार्न कर चुकी हूं । आज फिर कह रही हूं , दूर रहो मुझसे वरना तुम्हारे लिए अच्छा नहीं होगा ।

राजवीर उसके नजदीक आया और उसे तीखी आंखों से देख कर बोला ।

राजवीर - क्या बात है कायरा !!!! मुझे दूर रहने के लिए बोल रही हो , और उस आरव के साथ तो तुम पूरे मॉल में शौक से घूम रही थी । ( कायरा उसकी बात सुन हैरान ही गई, तो राजवीर ने आगे कहा ) मैंने तुम्हें और आरव को, मॉल में देखा था । ( कायरा के और नजदीक जाकर उससे कहता है ) क्यों मैं सही कह रहा हूं ना मिस कायरा गर्ग !!!???

कायरा ने एक बार फिर उसे गुस्से से धक्का दिया और उससे बोली ।

कायरा - ये मेरे शौक और मेरी मर्ज़ी है। मैं किसी के साथ भी कहीं भी घूमूं । इससे तुम्हें कोई फर्क नहीं पड़ना चाहिए । और एक बात कान खोल कर सुन लो तुम राजवीर तिवारी , जो अगर दोबारा तुमने मेरे करीब आने की कोशिश की, तो मैं सारे स्टाफ को यहां पर बुला लूंगी और सरेआम तुम्हारे कारनामों का बखान कर, तुम्हारी इज्जत की धज्जियां सभी के सामने उतारूंगी । अगर इस ऑफिस में अपनी रेपोटेशन को अच्छा बनाकर रखना चाहते हो । तो चुप - चाप मेरे केबिन से बाहर निकल जाओ । वरना मैं तुम्हारा क्या हश्र करूंगी , ये तुमने अपने सपने में भी कभी नहीं सोच होगा । ( जोर से चिल्ला कर ) गेट आउट फ्रॉम हीयर .....।

राजवीर गुस्से से और जहरीली आंखों से उसे देख कर केबिन से बाहर निकल जाता है । और कायरा वहीं पर बैठ कर अपने गुस्से को शांत करने लगती है । राजवीर कायरा के केबिन से बाहर निकलता है, तभी पियून उसे बताता है कि उसे आरव बुला रहा है । राजवीर अपने आपको नॉर्मल कर , आरव के केबिन की ओर बढ़ जाता है । केबिन के अंदर पहुंच कर वह बिना आरव के कहे ही , चेयर पर बैठ जाता है । आरव उसकी इस हरकत पर कुछ नहीं कहता , क्योंकि उसे राजवीर से यही उम्मीद थी । आरव अपने हाथ में ली हुई फ़ाइल को बंद कर, राजवीर से कहता है ।

आरव - तुम्हारे इतने दिन ऑफिस ना आने का रीजन मैं
जान सकता हूं ???

राजवीर ( एटिट्यूड के साथ कहता है ) - मैं किसी को भी रीजन देना जरूरी नहीं समझता ।

आरव - पर तुम्हें यहां पर, हर एक चीज का रीजन देना होगा , चाहे वह ऑफिस ना आने के लिए हो या फिर किसी भी तरह के ऑफिस के काम से रिलेटेड हो ।

राजवीर ( हंसते हुए कहता है ) - मैं तुम्हारी बात कभी नहीं मानूंगा ।

आरव ( उसे घूरते हुए बोला ) - तो फिर मजबूरन मुझे तुम्हें इस ऑफिस से बाहर निकालना होगा ।

राजवीर ( उत्तेजित होकर कहता है ) - तुम ऐसा नहीं कर सकते । और तुम मेरे डैड को , खुशी दी को और अपनी फैमली को क्या रीजन दोगे , मुझे यहां से बाहर निकालने का ???

आरव ( अपनी चेयर से उठ कर उसे देख, गुस्से से मुस्कुराते हुए कहता है  ) - मैं ऐसा ही करूंगा । और सभी को मैं क्या रीजन दूंगा , ये तुम्हारे इस ऑफिस से बेदखल होने और तुम्हारे अपने घर पहुंचने के बाद, तुम्हें पता चल जाएगा । ( अपने कोर्ट के सामने के बटन लगाते हुए कहता है ) इस लिए तुम्हारे लिए यही अच्छा होगा कि तुम डेली और टाइम पर ऑफिस आओ , और यहां पर सिर्फ अपना काम करो , ( राजवीर को गुस्से से घूरते हुए ) न कि दूसरों के काम में दखलंदाजी करो।

राजवीर हैरानी से उसे देखने लगता है । आरव उसे देख कर तीखी स्माइल करता है , जो कि राजवीर के गुस्से को बढ़ाने के लिए काफी थी । साथ ही ये बताने के लिए भी, कि अब उसके पास आरव की बात मानने के अलावा कोई चारा नहीं बचा था।  वह राजवीर को गुस्से से देखते हुए अपने केबिन में चला जाता है । जबकि आरव उसे जाते देख , फीकी सी हंसी हंस देता है ।

आज का दिन इन्हीं सब खयालों में सभी का बीत जाता है । आरव आज कायरा को उसके घर ड्रॉप करने जाता है । कायरा अपने घर पहुंच कर , अपना काम खत्म कर सो जाती है । जबकि आरव राजवीर के बारे में , सारे बॉयज दोस्तों से कॉन्फ्रेंस कॉल पर बात करता है। सभी उसकी बातें ध्यान से सुन रहे होते हैं , और राजवीर की लाचारगी पर हंस भी रहे होते हैं । आरव उनसे बात कर , लाइट्स ऑफ कर सो जाता है......।

क्रमशः

Rate & Review

Vishwa

Vishwa 2 months ago

Usha Dattani Dattani
Sweet Girl

Sweet Girl 3 months ago

sangeeta ben

sangeeta ben 3 months ago

SANTOSHI PANWAR�

waiting for next