Is Shadi ko chhupao - 2 in Hindi Love Stories by Umesh Singh books and stories PDF | इस शादी को छुपाऔ - 2

Featured Books
Share

इस शादी को छुपाऔ - 2

अगले पाठ में देखा कि शमां सर ने रूद्र और बानी को क्लास रूम साफ करने के लिए कहते है‌ थोड़ी देर बाद उनके दोस्त घर चलने को कहते है‌ पर दोनों मना कर देते हैं।
( अब आगे )

लगता है इन दोनों ने मोदीजी का स्वच्छ भारत का विडियो फूल एचडी में देख लिया है। सफाई करके ही छोड़ेंगे ठीक है करो सफाई पर दोनों भिड़ मत जाना!!

रुद्र :- सुनो, तुम खिड़कियां साफ करो में इधर सफाई करता हूं।

बानी :- अघ......! ठीक है। धूल का धब्बा जा ही नहीं रहा। थोड़ा नीचे झुक कर देखती हूं।
जुपप आह!
थ...... थैंक्स,
धड़ाम

रुद्र :- भाड में जाओ ।

बानी :- जब मुझे पटकना ही था तो पकड़ा क्यों? है भगवान! मेरा अंग अंग टूट रहा है। मैं सीधे घर पहुंचकर बस सोना चाहती हूं। रूद्र!
रिक्शा!!

बानी :- ये समझता क्या है खुद को! मुझे इग्नोर करके चला गया!! नफ़रत है मुझे इससे।
मेरी इस कहानी की सबसे बुरी बात ये है कि मुझे दिन के आखिर में मेरे सबसे बड़े दुश्मन रुद्र का चेहरा फिर से देखना पड़ता है।
अरे माई रे! आज तो वाट ही लग गई मेरी !

रुद्र :- ओह,हनी। घर आ गई? इतनी देर कहां लग गई।

बानी :- मेरा नाम बानी है और मैं एक साधारण सी कांलेज स्टूडेंट हूं।
लेकिन मेरा एक राज़ है, हमारा एक राज़ है

( मैं और रुद्र , हम पति-पत्नी हैं। )

सुबह के पांच बजे

बानी :- कौन घोंचू फोन कर रहा है अभी! शाहिद कपूर वाला सपना तोड़ दिया मेरा
कहीं मैं...........!!!! तुमने मुझे जगाया क्यों नहीं???

रूद्र :- मैं क्यों जगाऊं?

बानी :- अध....तुम दुनिया के सबसे घटिया इंसान हो!

रूद्र :- जल्दी करो वरना मैं तुम्हारे बिना चला जाऊंगा।

बानी :- उम्मीद है कि तुम हमारा contract नहीं भूले।

रूद्र :- मैं उसकी एक लेमिनेटेड कापी हमेशा अपने साथ रखता हूं।रोज देखता हूं उसे!

बानी :- हर बात पर ताना मारना जरूरी है?

रूद्र :- तुम्हें हर वकत मेरा खून जलाना जरुरी है?

बानी :- आह! मैं इस जाहिल के साथ कैसे बस गयी ?

3 MONTHS LATER

मेरे पापा कि एक बिजनेस डील ने मेरी जिंदगी हमेशा के लिए बदल दी ।
अच्छा,‌‌ तो मैं ये डील पक्की समझूं? बिल्कुल
बेटा इंद्राणी मैंने तुम्हारी शादी तय कर दी है।
क............ क्या????
देखो तुम एक बिजनेस टाइकून के परिवार में जा रही है। तुम्हें खुश होना चाहिए। तुम उनके बड़े बेटे से शादी करोगी।

बानी :- लेकिन मैं शादी नहीं करना चाहती ! मैंने अभी अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कि हैं।

तुम अपनी पढ़ाई शादी के बाद भी पूरी कर सकती हो।
ये तय हो चुका है, तो आगे बहस करने का कोई फायदा नहीं है।
लेकिन पापा!!!
कोई बहस‌ नहीं। तुम्हें जो कहा गया है वो करो कल तुम्हारी ओर तुम्हारी बहन की एंगेजमेंट है।

बानी :- आपका मतलब मेरी सौतेली बहन। आप उसकी भी शादी एक ही परिवार मे कर रहे हो।
हां !
रुद्र :- हद है! हम किससे शादी करेंगे वो ये लोग ऐसे ही तय कर लेंगे। भाई तुम कुछ कह क्यों नहीं रहें हों।

इस शादी में क्या होता है आपको अगले पाठ में बतायेंगे