खुदा की खोज - 1 in Hindi Motivational Stories by Parmar Geeta books and stories Free | खुदा की खोज - 1

खुदा की खोज - 1

एक लड़का था। उसका नाम दाऊद था। वो बहुत ही भोला था। उसकी बुढी माँ मरियम उसको बहुत ही प्यार करतीं थीं। और उसका ध्यान रखती थी। 

वो लोग बहुत ही गरीब थे। दाऊद अक्सर अपनी मां से पैसे मांगा करता था। 

एक दिन उसने अपनी मााँ से पैसे मांगे और उसकी मां भी उसके रोज पैैसे मांगने के कारण तंग आकर कह देती है कि हमारे पैसे खुदा की बेंक में जमा है। तो दाऊद ने कहा कि माँ तुम बैंक से पैसे क्यु नहीं ले आती मुझे पैसे की बहुत   जरूरत है। दाऊद इस बात को लेकर अपनी मां को बहुत तंग करने लगा। 

आखिर उसकी माँ ने कहा कि खुदा की बैंक पुर्व दिशा में आईं हैं। और रास्ता बहुत ही कठिन है। 

मैं इस उम्र में वहां तक नहीं जा सकती तुम खुद जाकर पैसे ले आओ। 

दाऊद ने यह बात कुबूल की और उसने जाने का फैसला कर लिया। 

उसकी मााँ को लगा वह खुद समझ जायेेगा और थक कर घर वापस आ जायेगा। 

फिर उसकी मां ने कहा कि तुम्हें रास्ते में भूख लगेगी इसलिये में तुझे रास्ते में खाने के लिए खाान बना देती हूूँ। 


और दाऊद चल पड़ा चलते चलते रात हो गई उसने एक पेड़ के नीचे खाना खाया और वहीं पर सो गया। 

इस तरह दो - तीन दिन निकल गये और फिर रास्ते में एक शहर आया। जिसका नाम तुर्की था वहां का नवाब शहेंशाह सिराज बहुत ही दयालु था। 

दाऊद इस नगर के किले पर आया। वहां के  चौकीदार ने उसे रोका उसने दाऊद से पूछा कि तुम  यहाँ क्यों आयेे हो और तुुम्हें कहा जाना है। 

भोला दाऊद बोला मेरी माँ ने कहा है कि हमारा पैसा खुदा की बेंक में जमा है इसलिए में खुदा के पास अपने पैसे लेने जा रहा हूँ। 

चौकीदार को इस बात से आश्चर्य हुआ और उस को यह बात बादशाह को बतााने का खयाल आया। 

दाऊद कोो वहीं पर खड़ा रख कर चौकीदार बादशाह सिराज के पास आया उसने बादशाह को सारी हकीकत बया की। 

यह बात सुनकर तो बादशाह को भी कौतुहल हुआ इसलिये बादशाह ने चौकीदार से कहा कि तुम उसे हमारे पास  ले आओ 
चौकीदार दाऊद को लेकर बादशाह के पास ले आया। अपने सामने बादशाह को देखकर दाऊद डर गया। बाादशाह ने दाऊद से कहा कि तुम डरों मत तुम बताओ तुम खुदा के पास क्यों जाना चाहते हों ?? 


दाऊद ने कहा कि में अपने पैसे उनके पास लेने जा रहा हूँ। 

बादशाह ने कहा अच्छा मुझे कोई एतराज नहीं तुम खुदा के पास जाओ मगर क्या तुम मेरा एक प्रश्न उन तक पहुंचा सकते हो ? 
दाऊद ने कहा क्यो नही आपका प्रश्न में उन तक जरूर पहुंचा दूंगा। 

हमम बादशाह ने कहा हम इस किले के आसपास कोट बनवाना चाहते हैं, लेकिन दिन में बनवाते है और रात को गिर जाता है। तो तुम हमारी तरफ से इस सवाल का जवाब खुदा से पूछ कर आना। 
दाऊद :जी जरूर में आपके इस सवाल का जवाब खुदा से पूछ कर आऊंगा। यह कह कर दाऊद वहां से निकल पडता है।