Rishta Tera Aur Mera - 5 in Hindi Love Stories by PriBa books and stories PDF | रिश्ता तेरा और मेरा - 5

रिश्ता तेरा और मेरा - 5

थोड़ी देर में सोहम भी आया,

यार पिया ये तोह बता की किआ किसने ये सब ?? सोहम ने पूछा ।

मुझे तोह यकींन ही नहीं होता, ये सब निकिता ने किआ है कितनी अच्छी लड़की है पर वह ___

निकिता पिया की तरह एक दूसरे टीम की लीडर थी। पिया को विश्वास ही नहीं हो रहा था ।

या अच्छा बनने का एक्टिंग करती होगी मोना ने पिया की बात तोड़ते हुए बोली ।

अरे पर हमें तोह शाह को पकड़वाना था, उसके खिलाफ तोह कुछ मिला ही नहीं, सोहम ने बताया ।

हां यार मुझे तोह लगता है शाह ने कुछ नहीं किआ वो भूल गया होगा की उसने डांस स्टेज क अपडेट लिए हैं। मोना बोली

हां शायद, चलो ठीक है हमें यह तोह पता चला की ये सब किसने किआ। अब हम धोखे में नहीं रहेंगे क्योंकि लोगों के असली चेहरा जो सामने आया, पिया बोली।

हे हे गाइस क्या आप लोगों को सच में पता नहीं हैं ??? ये बात प्रकाश ने हैरान होकर बोला

क्या प्रकाश ??? सोहम ने पूछा

अरे ऑफिस में ऐसा रुमर चल रहा है की निकिता और शाह का कुछ चक्कर है।

व्हाट ???? क्या सच में इयूययक मोना ने रियेक्ट किआ

वैसे शाह है ही चिप। तोह अब क्या करे ?? पिया बोली

कुछ नहीं पिया, अब बस काम में फोकस,

अभी नो एंट्री फॉर निकिता,

एंड जस्ट इग्नोर द शाह। जीतू ने बोला

यस जीतू तू सही बोल रहा हैं, सो लेटस डू सम वर्क.

हे पिया गुड मॉर्निंग, एंड कोन्ग्रेस्स यार

निकिता आयी थी, उसको देखकर सबको बहोत गुस्सा आया था।

निकिता कुछ बुरा होने से पहले तू यहाँ से निकल, प्लीज जस्ट लीव, जीतू ने बोला

अरे यार जीतू तू ऐसा क्यू बोल रहा है, मैं बस बधाई देने आयी थी

अच्छा तू बधाई देने आयी थी, तोह दे बधाई दे चल, पिया आग बबूला होकर निकिता को बोली।

तूने क्या समझा गुलाबजामुन जैसे बात करके क्या हमें पता नहीं चलेगा की तू अंदर से कितनी कड़वा करेला जैसी हैं

पिया क्या बोल रही हैं तू गुलाब जामुन, करेला मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा।

अभी आएगा तू रुक, ये बोलकर अपने मोबाइल से वो वीडियो प्ले करके निकिता को दिखाया।

वह विडिओ देखकर निकिता का रंग फीका पड़ गया, ये झूठ सब झूठ है vfx है,

बस निकिता तू अब जा यहाँ से प्लीज, जीतू ने बोला

निकिता चली गई, यहाँ ५ मिनिट्स के बाद पिया का लैंडलाइन बजा

गाइस शाह का न्योता आया है, पिया बोली

शीट अब ?? पिया यार, टेक केयर सोहम बोला

अच्छी तरीके से

पिया मन में कुछ सोचकर बोली।

साथ में कुछ फाइल्स लिया और शाह के केबिन में चली गई ।

क्रमशः