Ishq e Prapanch - 28 books and stories free download online pdf in Hindi

इश्क ए प्रपंच - 28 - अनप्रोफनिज्म

😘 😘 Jinu 😘 😘 😘:
राशि और मीना दोनों जानते थे कि कविता राजवीर तक नहीं पहुंच पाएगी बॉडीगार्ड के द्वारा कम से कम 5 मीटर पहले ही उसे रोक दिया जाएगा राज ने पलटकर नैना की ओर देखा और कविता को लगभग नजरअंदाज करते हुए वहां से निकल गया और बाहर खड़ी हुई अपनी लिमोजिन गाड़ी में बैठ गया और जो बाहर उसका इंतजार कर रही थी

कविता राजवीर तक नहीं पहुंच पाई और वह बाहर खड़े होकर ही सिर्फ राजवीर को जाते हुए देख पाई और उसने राजवीर को देखा वह इस बात से बहुत ज्यादा खुश है और खुशी से उछलते हुए उसने कहा मैंने कभी नहीं सोचा था कि मुझे यहां पर राजवीर ओबरॉय मिलेंगे मैं कितना हैंडसम है मन ही मन में राशि और मीरा सोच रहे थे कि तुमने तो यह भी कभी नहीं सोचा होगा कि तुम जिससे परेशान कर रही हो वह इस राजवीर की बीवी है इन्होंने कविता की ओर देखते हुए कहा



कविता ने कहा अभी तुम अमेरिका में आई हो थोड़ा आराम करो कल सुबह हमारा शूट का काम शुरू होगा उसके बाद काफी बिजी हो जाएंगे शाम को हमारा मेरा मतलब कि मेरा और लोरी करण का एक फैमिली डिनर है फैमिली डिनर है इसका मतलब की कविता ने लोरी को पहले ही अपनी भाभी मान लिया है

कविता को लग रहा था कि क्योंकि नैना नए देश में है यहां पर किसी को जानती भी नहीं है तो उसे तंग करने में बहुत आसान और अच्छा मौका मिलेगा मीडिया उस तक पहुंच नहीं पाएगी लोग को उसे पहचाना कि नहीं इसीलिए उसकी मदद बिल्कुल भी कोई नहीं करेगा पर कविता यह भूल गई थी कि सालों पहले नैना यहां पर कुछ काम किया हुआ है जिससे उसके कुछ दोस्तों हैं


कविता ठीक है अब हमें यहां से निकलना चाहिए हम घर जाएंगे और तुम तीनों जाकर होटल में आराम करो


नैना नहीं मैं होटल में नहीं जाऊंगी मैं सोच रही हूं खा बहुत सालों बाद यहां आई हूं तो अपने कुछ दोस्तों से मिल लूं इसीलिए मैं मेरी होटल की बुकिंग कैंसिल कर दो मैं अपने दोस्तों के साथ ही रहूंगी कविता ठीक है मुझे उसमें कोई प्रॉब्लम नहीं है पर जब तुम्हें कोई काम के लिए फोन किया जाएगा तो तुम्हें टाइम पर पहुंचना होगा बाकी तुम कहीं भी रुको मुझे कोई भी दिक्कत नहीं है


नैना ठीक है


इस सबके बीच में लोरी शांति थी और सिर्फ इस बात के मजे ले रही थी कि कविता नैना को परेशान कर रहे हैं हालांकि कविता लोरी को बहुत ज्यादा पसंद नहीं करती थी पर अपने छोटे भाई के खातिर उसे अब लोरी को चलना ही था अपने घर के लिए निकल गए और


नैना ने राजवीर को फोन किया हे हेलो आप ज्यादा दूर तो नहीं निकल गए राजवीर तुम्हें क्या लगता है राजनीति बस हल्की सी स्माइल दी और 1 मिनट के अंदर ही ड्राइवर लिमोजिन गाड़ी लेकर उसके पास आ गया दरअसल राज ने नैना पहले ही ड्राइवर को किसी ऐसी जगह पर खड़े होने के लिए दिया था जहां पर वह नैना को देख सके पर उसे कोई ना देख सके वह अच्छे से जानता था कि नैना को नैना को एक तरीका निकाल ही लेगी उसके साथ रहने के लिए ड्राइवर ने गाड़ी रोकी और बड़े ही अदब से नैना के लिए दरवाजा खुला


नैना राशि और मीना तीनो के तीनो गाड़ी के अंदर बैठ गए थे और मीरा ने सांस रुकी हुई थी क्योंकि राजवीर को इतने करीब पहले देख रही थी राजगीर दरअसल कैसा इंसान है यह सिर्फ और सिर्फ नैना के साथ होने पर ही देखा जा सकता है नैना यहां तुम लोग तुम्हें परेशान कर रहे हैं राजवीर ने वाइन का ग्लास पकड़ते हुए कहा नैना यह तीनों एक ही थाली के चट्टे बट्टे हैं

इससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता है पर मुझे सिर्फ और सिर्फ परेशान करेंगे और कोई बड़ी बात नहीं है कि कल को मुझे यह शौक से निकाल देंगे या मुझे कहीं शो में स्टेज पर एक किनारे खड़ा कर देंगे मैं इन सब चीजों के लिए अपने आप को मेंटली प्रिपेयर कर रही हूं कविता नैना को परेशान कर रही है और बार- बार पर सुनाई जा रही है



राशि ने शिकायती लहजे में गुस्से से कहा राशी कविता को तो मौका मिल गया क्योंकि उसे लगता है कि नैना ना यहां पर किसी को भी नहीं जानती है और वह यहां पर अकेली है इसीलिए उसे परेशान किया जा सकता है नैना तुम्हें ऐसा क्यों लग रहा है कि मैं यहां पर अकेली हूं और किसी को भी नहीं जानती हूं हालांकि मैंने अपने करियर की शुरुआत मुंबई से की थी

उसके बाद तो मैंने यहां पर काफी समय तक काम किया है यहां पर बहुत सारे मॉडल्स को और यहां एक काफी फेमस एडिटर को भी मैं जानती हूं जिस समय मैंने शुरुआत की थी उस समय पर मिस्टर जेम्स मेरे गुरु थे और उनके साथ में तकरीबन 6 महीने का काम किया है मैंने पर अब वह काफी फेमस है यहां पर और यहां के जो मॉडल डायना लीला कृष्ण सब मेरे दोस्त हैं पर हां यहां पर मेरा नाम नैना नहीं है यहां पर मेरा नाम कियार कियारा था इसीलिए यह लोग मुझे कियारा नाम से जानते हैं और ना ही कि नैना के यहां के इतने बड़े लोगों के नाम सुनकर राशि और मेरा उसे आश्चर्य से देख रहे थे





बल्कि mr- 10 आप तो मेरे मैटर भी थे अमेरिकन रॉयल मैगजीन एडिटर इन चीफ और मैनेजर मेंटर को मिलना चाहोगी राजवीर ने कहा नैना मुझे कोई मदद नहीं चाहिए मैं आपकी कोई मदद नहीं कर रहा हूं इसे बस एक प्राइवेट गेट टुगेदर ही समझ लो नैना ठीक है

नैना नहीं जानती थी कि प्राइवेट गेट टुगेदर और उसके और लोरी की लड़ाई में एक निर्णायक रोल अदा कर जाएगा राजगीर का अमेरिका में यह महल नुमा घर का जो कि अमेरिकन स्टाइल में बना हुआ था उसका बंगला इतना खूबसूरत और आरामदायक था कि होटल में रुकने की जरूरत ही नहीं थी और इतना अच्छा तो कोई भी वोटर घूम नहीं हो सकता था



दोनों अपने घर पहुंचे और राजवीर बाथरूम में नहाने के लिए चला गया राजू जैसे ही नहा कर निकला तो उसने देखा मैंने खिड़की के पास खड़ी हुई है ब्लैक बाथरूम में वह नैना के पास पहुंचा उसके बालों से पानी गिर रहा था नैना ने टावल लिया और उसके बालों को पोंछ में लग गई मैंने उसे पूछा आप मुझे ऐसा ऐसे क्यों देख रहे हो राजवीर तुम्हें पता है फ्लाइट में मेरा मन पूरे टाइम्स तुम्हें किस करने के लिए कर रहा था पर मैंने खुद को रोका हुआ था

नैना तो अब किसके किसने रोका है आपको राज मैं सोच रहा हूं क्योंकि दिन का टाइम है तो मैं कुछ करूं या ना कुछ ना करूं बस फिर क्या था दोनों एक दूसरे को बेतहाशा किस कर रहे थे और बस थोड़ी देर में दोनों ने कपड़े जमीन पर पड़े हुए थे कुछ देर तक ऐसे ही एक दूसरे में खोए रहने के बाद राज मिले नैना को देखा नैना भी राज को ध्यान से देख रही थी नैना ने इस तरह अपनी बॉडी को देखता देखकर राजवीर को अच्छा लग रहा था वह भी नैना को देख रहा था


दरअसल दोनों इतने पर तक और इतनी खूबसूरत है कि जैसे उनका जोड़ा सच में स्वर्ग से बनकर भी आया हुआ है दोनों की उंगलियां एक दूसरे में फंसी हुई थी और दोनों ने एक दूसरे के में समाए हुए थे राज ने हंसते हुए कहा अगर हम हमारी जिंदगी इसी तरह से रहे तो हमारे तलाक होने के चांस तो जीरो हो जाएंगे नैना यह सुनकर बहुत जोर से हंसने लगी राज और नैना एक दूसरे से प्यार करते करते थक कर सो गए

और जब दोनों जागे तो तब तक शाम हो चुकी थी जब दोनों जागे तो एक -दूसरे की बांहों में थे जहां पर रुके थे वहीं पर शुरू हो गए हां सच में कि वह पति पत्नी के रिश्ते की चरम सीमा तक नहीं पहुंचे थे अब तक बनाना को लगता था कि जिंदगी अगर ऐसे ही रहे तो कितनी खूबसूरत है सच में बस यहीं पर रुक जाए जाए बिल्कुल पिक्चर परफेक्ट है


राजवीर ने पीयूष कोशिश में उनका सारा से पता करने के लिए कह दिया था यह भी कह दिया था कि उसी के प्लान के हिसाब से सुबह की सारी प्लान करें कि उसमें सब कुछ पता कर लिया इसे देख करो राशी और मीरा एक दूसरे की शक्ल देख रहे थे क्योंकि वह अपने काम में बहुत अच्छा तब भी उसने तो यह भी पता कर लिया था कि वह वह लोग डिनर कितने बजे करेंगे


दूसरी तरफ कविता लोरी और करण के साथ में डिनर कर रहे थे लोरी कविता के सामने बहुत सावधान तरीके से व्यवहार कर रही थी कविता करण को लोरी की ओर देखते हुए कहती है तुम्हें इतना डरने की जरूरत नहीं है यह बात तो सच है मैं तुम्हें कुछ ज्यादा ही खास पसंद नहीं करती हूं पर अब तुम मेरे भाई पसंद हो तो इसीलिए तुम मेरे लिए एक फैमिली को और मुझे मंजूर है

नैना और तुम्हारे बीच में जो भी रिश्ता है वह तो जाहिर तौर पर बहुत ज्यादा खराब है लेकिन इसकी वजह से तुम और तुम्हारा और करण का रिश्ता है पहले मुझे उस पर बहुत सारा तरस आ रहा था पर अभी इन दिनों उसने जो हमारी कंपनी के साथ किया है उसके बाद मुझे उस पर तरस नहीं अब तो गुस्सा आ रहा है इसीलिए फैमिली होने के नाते मैं हर हाल में हमारे साथ हूं


कविता कल सुबह सीक्रेट मानसिंह की मीटिंग 8:00 बजे है और मैंने अपने मैनेजर से कहा है कि वह नैना को 9:00 बजे की खबर पहुंचा एडिटर की देर से आने वाले लोग बिल्कुल भी पसंद नहीं है इसका मतलब यह है कि कल जैसे ही नैना लेट आएगी उसे वहां से भगा देगी और उसके साथ काम नहीं करेगी लोरी हम तो साथ में शूट करने वाले हैं ना लोरी नैना को अपने पीछे खड़ा देखने के लिए बहुत ज्यादा बेताब थी लोरी अभी तक भी कविता का प्लान नहीं समझ पाई थी कविता ने लोरी तो गुस्से में देखते हुए कहा तुम दोनों का साथ में काम करने की बात का मकसद बस इतना था ताकि तुम्हारे उस बेवकूफी भरे स्कैंडल से लोगों को लोगों का ध्यान हट सके और रही बात मॉडल की तो तुम मेरे अमेरिका में हो यहां पर ढेर मॉडल में जाएंगे जरूरत पड़ने पर एक नहीं हजार मॉडल खड़े किए जा सकते हैं इसीलिए तुम्हारी पापुलैरिटी की बढ़ेगी और नैना का नाम खराब होगा क्योंकि जब लोगों को पता चलेगा कि वहां पर उसने कितना अनप्रोफेशनलिज्म दिखाया है




तो लोग उससे नाराज होंगे और उसका करियर ग्राफ नीचे गिर जाएगा इतनी जल्दी आसानी से नहीं हारने की कविता इसमें कोई कुछ भी नहीं कर सकता है जो भी होगा वह तुम्हारी कंपनी का और सीक्रेट मैगज़ीन के लोगों का फैसला होगा इसके खिलाफ कोई भी नहीं जा सकता है नैना ने पहले ही कविता के बारे में एक बार यह कहा था कि उसे अपने असिस्टेंट आर्टिस्ट को कंट्रोल करने में बहुत ज्यादा मजा आता है और जिस तरीके से उसकी मुलाकात एयरपोर्ट पर नैना सीखनी है और जो नैना का रवैया था कविता को गुस्सा दिलाने के लिए काफी था अब कविता नैना को नुकसान पहुंचाने के लिए बहाने और मौका ढूंढ रही थी तभी थाने मैनेजर की मीटिंग का शेड्यूल मीरा को भेज दिया मेरा जैसे ही उसे लेकर नैना के पास गई नैना पीयूष वाले शेड्यूल और उसमें दोनों के समय के बीच में अंतर देख कर क्या चल रहा है मैं वह समझ चुकी थी