Ishq e Prapanch - 36 books and stories free download online pdf in Hindi

इश्क ए प्रपंच - 36 - यही पर रहना चाहते हैं

😘 😘 Jinu 😘 😘 😘:
यह सुनकर फोटोग्राफर की उम्मीद और भी ज्यादा बढ़ गई थी और उसने बड़े ही आराम से लोरी से कहा कि मैं हम सूट शुरू करते हैं। आप अपने पोस्ट देना स्टार्ट कीजिए। पहले हम थोड़े साइड पर ले लेते हैं लोरी को उसकी अमेरिकन एक्शन की वजह से उसकी बात समझ में नहीं आ रही थी। नहीं आई दोनों भाषाओं की मदद से बात समझ कर उसने बोल देना स्टार्ट कर दिया था।
उसने अपना पहला पोज दिया जिसमें मैं अपनी कमर पर हाथ रखकर इस कॉल्ड को पीछे की तरफ करके खड़ी हो गई और उसने अपना सर एकदम पीछे झुकाए दिया पर किसी खूबसूरत महिला की जगह किसी मदहोश महिला का पोज लग रहा था।
फोटोग्राफर को लगा कि शायद लोरी को उसकी बात में समझ में नहीं आई है। अभी उससे अपने नयी टाइम। को कैच करने में थोड़ा टाइम लगेगा, लेकिन वह कर ले गी उसने फिर से कुछ फोटोस खींच लिए। फिर उसने लोरी से कहा, ठीक है अब आप बैठ जाइए और थोड़े फोटोस सामने से बैठ कर ले लेते हैं।
इस समय में लोरी को एक लाल रंग की बास्केट हाथ में लेकर कुर्सी पर बैठना था। लोरी बैठ तो गई पर अपना प्लीज! अपनी आगे की छाती दिखाने के चक्कर में उसने अपनी गर्दन को नीचे झुका लिया जिससे फोटोग्राफर सिर्फ अपना उसका माथा चौड़ा माथा ही देख पा रहा था। लोरी ने अपने चेहरे पर बस एक स्माइल चिपका ली थी। इसके अलावा कोई भी एक्सप्रेशन नहीं दे पा रही थी।
अब फोटोग्राफर को बहुत ज्यादा गुस्सा आने लगा था। उसने असिस्टेंट से कहा, किस गधे ने कहा है कि यह सुकन्या के टक्कर की मॉडल है। इसको तो कुछ भी नहीं आता है।
अब फोटोग्राफर को लोरी से कोई भी उम्मीद नहीं बची थी। वह बस अपने हाथ में लिए वह पूरा काम करना चाहता था और उसने बस वही किया।
लोरी को इतनी भी शर्म नहीं थी कि सूट खत्म होने के बाद वह फोटोग्राफर के पास गई और उससे पूछा कैसा रहा?
फोटोग्राफर ने कोई जवाब नहीं दिया और उसके असिस्टेंट ने बस उसे मैनेज के खातिर यह कह दिया कि हां ठीक था और लोरी यह सुनकर बहुत ज्यादा खुश हो गई और जाने लगी। पीछे से फोटोग्राफर ने बड़े ही गुस्से में। होते हुए एक्सप्रेशन अपने असिस्टेंट को दिए। फोटोग्राफर ने अपने असिस्टेंट से कहा, कोई और बाकी है क्या असिस्टेंट हां सर एक और मॉडल बाकी है?
असिस्टेंट के बुलाने पर नैना स्टेज की और आई और नैना ने बड़े ही प्यार से हल्की मुस्कुराहट के साथ में फोटोग्राफर को नमस्ते किया और स्टेज की ओर जाने लग गई।
फोटोग्राफर ने कोई जवाब नहीं दिया क्योंकि वह बहुत ज्यादा निराश हो चुका था। उसे नैना से कोई भी उम्मीद नहीं थी क्योंकि उसकी नजरों में तो यही लग रहा था कि जो पहले वाली मॉडल थी उसकी कम से कम हंसमुख पर्सनैलिटी तो थी यह तो बिल्कुल रोनी सूरत वाली मॉडल है।
उसे लग रहा था कि अब यह तो पता नहीं क्या ही करेगी उसे कोई भी ज्यादा उम्मीद उम्मीद नहीं थी। फोटोग्राफर निराश हो चुका था फोटोग्राफर ने नैना को कोई क्लू देना भी जरूरी नहीं समझा क्योंकि उसे कोई उम्मीद नहीं रही थी। उसे तो ऐसा लग रहा था कि बस नैना आई फोटो खिंचवा कर वहां से अपना काम खत्म करें और सब कुछ वाइंड अप करके
क्या कर रही हो?
नैना जैसे ही स्टेज पर आई फोटोग्राफर ने बस एक जरा सा पोस का डिस्क्रिप्शन दिया और फोटो खींचने के लिए तैयार हो गया। हालांकि उस फोटो से फोटो खींचने के लिए नैना को ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं थी। बस जैसे शांति रहती है वैसे ही उसे रहने की जरूरत थी। पर इस फोटो को खिंचवाने के लिए नैना ने अपनी आंखों के साथ बहुत अच्छे से खेला था।
उसने अपनी आंखों को में एक्स एक्स फैशन लाया जाए से वह एक ऐसी औरत है जो किसी अपने के लिए तैयार हुई है जिससे वह बहुत ज्यादा प्यार करती है पर वह किसी दूसरे के साथ में है। नैना ने इसके लिए अपनी आंखों में जरा सी आंसुओं की एक लकीर खींची और उसके साथ में बसे थोड़ा सा चलकर आंखों को लाल कर दिया है। परफेक्ट ओरिएंटल औरत का लुक था जो शर्मीली है, सहनशील है, समझदार है, ताकतवर है और सब कुछ है पर प्यार करना भी जानती है।
यह देखकर तो फोटोग्राफर अपनी एक्साइटमेंट को रोक नहीं पाया और उसने कहा जोर से चिल्लाया पर्फेक्ट और दूसरी तरह से मैच 5 मिनट के अंदर ने नैना ने एक पूरी स्टोरी कंप्लीट कर ली थी। फोटोग्राफर एक्साइटमेंट से भर चुका था, उसे भी अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिल रहा था और उसे नैना को ज्यादा समझने समझाने का डायरेक्शन देने की जरूरत नहीं पड़ रही थी। वह नैना को जो बीच कहता था नैना सेकंड में उस तरह की पोस्ट को कन्वर्ट कन्वर्ट हो जाती है और ऐसा लगता है कि जैसे नैना एक्चुअली में वैसी ही है जैसा नैना उसे करने के लिए कहा।

गया है दुख फ्लैट गुस्सा, प्यार नफरत नफरत जो भी नहीं एक्सप्रेशन नैना को देने के लिए कहा जाता है वह सेकंड में दे देती है और इस तरह से फोटो शूट पूरा हो गया था फोटोग्राफर लोरी और नैना को कम प्यार कर रहा था और उसने कहा देखो मॉडल ऐसी होती है। सूट खत्म होने के बाद नैना अपने कपड़े बदलने के लिए जैसे ही ड्रेसिंग रूम की और दलित ड्रेसिंग रूम के बाहर की लोरी का से स्टंट मिल गया। लोरी कैसे स्टंट ने उसे रोकते हुए कहा, अंदर करणसर और लोरी है तुम्हें थोड़ी देर बाहर इंतजार करना होगा।
नैना ने उसकी और गुस्से से देखा और उसे हाथ से किनारे कर दिया और अंदर चली गई। अंदर जाकर नैना दिन देखा कि करण कुर्सी पर बैठा हुआ है और लोरी उसकी गोदी में बैठी हुई है। इसे देख कर लो नैना को वह अपनी बैचलर पार्टी की रात याद आ गई जब उसने पहली बार इन दोनों को साथ में बिस्तर पर देखा था। नैनो को कुछ नहीं कहा और नहीं बस चुपचाप वहीं खड़ी पर रही और उसकी नजरों में प्यार या नफरत कुछ भी नहीं नजर आ रहा था नैना को इतना एक्शन लेते कर लो जो कहना चाह रही थी, वह नहीं कर पाई और थोड़ा अनकंफरटेबल हो गई।
करण जी थोड़ा सा अनकंफरटेबल हो गया था। उसने धीरे से लोरी को अपनी गोद से उतार दिया और नैना की और आगे बढ़कर कहा थोड़ी देर में तुम लोगों ने शूट करने वाले हो। इसीलिए बेहतर होगा कि थोड़ी तमीज में रहो और ढंग से म्यूट करो। मैं तुम दोनों की कोई शिकायत नहीं देखना चाहता हूं और ना ही कोई तमाशा चाहता हूं इसीलिए। थोड़ा सा ढंग से करना लवली बेबी तुम परेशान मत हो, मैं देख लूंगी। मैं इसका ध्यान रखूंगी। करण ड्रेसिंग रूम से बाहर निकला और मौका पाते ही इस इस इस मैगजीन के एक स्टाफ से उसने पूछ।
के बारे में पूछा, सबसे पहले उसने लोरी के बारे में पूछा कि उसका सूट कैसा रहा लोरी के बारे में पूछे जाने पर स्टाफ ने कहा, अच्छा था, उसका काफी अच्छा था। भविष्य है, वह काफी अच्छा करेगी जब कर्ण ने नैना के बारे में पूछा तो स्टाफ में एक मुस्कुराहट दे दी और उसके पास कहने के लिए कुछ शब्द ही नहीं थे क्योंकि वह उसके बारे में कोई भी कमेंट नहीं कर सकता था। नैनो का सूट इतना पढ़ सकता कि कोई भी उस पर कोई कुछ बोल ही नहीं पा रहा था लेकिन कर्म को तो एक तरफा ही सोचता था और उसने लोन के बारे में सोचो और शायद लोरी का सूट ज्यादा अच्छा गया। नैना का नहीं गया है। आपने यह सोच लिया था।
दोनों तैयार बोलने के लिए मेकअप रूम में आए और वहां पर डिजाइनर ने दोनों के लिए कपड़े अलग -अलग फाइनल कर रखे थे। डिजाइनर मेलोडी को बोर्ड और हंसमुख पर्सनैलिटी को देखते हुए उसे काले रंग का ड्रेस दे दिया था, जबकि नैना की शांत पर्सनालिटी देखते हुए उसे लगा कि नैना पर सफेद रंग दादा अच्छा लगेगा पर लोरी अच्छे से जानती थी कि सफेद ज्यादा अटेंशन अपनी ओर खींचता है और आंखों को ज्यादा जचता है। इसीलिए उसने तुरंत नैना के काउंटर सी ड्रेस उठा ली। इसे देखकर डिजाइनर दुविधा में पड़ गई थी।
डिजाइनर को दुविधा में पड़ा देखकर नैना ने कहा, कोई बात नहीं उसे ले लेने दो पर राशि से रहा नहीं गया। अब राशि में बीच में वह तुम्हारी क्या आदत है सब कुछ हिंदी में लेने की दूसरों की चीज जो तुम्हें ज्यादा अच्छी नहीं
लोरी जब नैना कुछ नहीं बोल रही थी तो तुम क्यों बोल रहे हो और तुम्हारी औकात क्या है तुम बस एक असिस्टेंट हो, वही बन कर रहो ज्यादा बनने की कोशिश मत करो। नैना ने राशि की ओर देखा और कहा कोई बात नहीं उसे ले लेने दो राशि ने उसकी आंखों का इशारा समझ लिया, क्योंकि राशि बहुत अच्छे से जानती थी कि मैं ना अपनी चीज ऐसे ही किसी को नहीं देने
इधर लोरी यह सोच सोच कर खुश हो रही थी कि क्योंकि उसने सफ़ेद रंग का ड्रेस पहना हुआ था। इसीलिए अब नैना को उसके पीछे खड़ा होना पड़ेगा और वह नैना से आगे रहेगी। दोनों तैयार होकर जैसे ही बाहर निकली, फोटोग्राफर ने दोनों को देखा और फोटोग्राफर को तुरंत ऐसा लगा कि जैसे नैना को मॉडलिंग के अलावा शायद फोटोग्राफी का भी नॉलेज है तभी उसने जानबूझकर काले रंग का कपड़ा पहना हुआ है क्योंकि जो सूट की थी थी वह सेटअप था। वहां पर एक वीरान पड़ी खाली। रोड थी जब बहुत ही पुरानी और डल रोड थी।
फोटोग्राफर ने सोचा कि अगर नीचे डल पुराने रोड है ऊपर सफेद खुला आसमान है। इसके बाद में अगर किसी सफेद चीज को रखा जाए तो वह सेट में गुम हो जाएगी। पर अगर कोई छोटी सी भी काली चीज रख दी जाए तो हटकर दिखेगी। उसे देखकर ही फोटोग्राफर को शक हुआ। उसने अपने शक को यकीन बदलने के लिए अपने असिस्टेंट से पूछा। क्या नैना ने हमारा सेटअप देखा था?
असिस्टेंट नहीं, सेटअप तो नहीं देखा था पर जब उसका सूट खत्म हुआ उस वक्त शायद उसने हमें कुछ बैकड्राप पर ले जाते हुए देख लिया था। फोटोग्राफर ने रहस्यमई मुस्कान के साथ देखा और कहा तभी!

फोटोग्राफर ने दोनों को छूट की टीम के बारे में समझाया कि यह बहनों का सूट है जिसमें तुम दोनों को एक दूसरे का हाथ पकड़कर अलग चलना है। लोरी तुम आगे रहोगी और नैना पीछे लोरी बस यही सुनकर खुश हो गई। वहीं परसिया नैना के आगे हैं और आगे उसने तुरंत नैना का हाथ पकड़ा और आगे बढ़ने लगी तो सेना ने ऐसा एक्सप्रेशन लिए जैसे वहां से नहीं जाना चाहती है। उसकी अपनी नजर पीछे बैकड्राप के सेटअप पर लगे एक ठेले पर जा जमाले कुछ कपड़ों का बेचने का सेटअप लगाया हुआ था। उसने अपनी आंखों में ऐसे एक्सप्रेशन लेकर आए थे जैसे वह उस कमी को छोड़कर नहीं जाना चाहती है वहां पर अभी और भी ज्यादा रहना चाहती है।
लोरी को बस यही लग रहा था कि वह नैना से आगे है और नैना उसके लिए बैकग्राउंड का काम कर रही है। यह क्योंकि आगे थी इसीलिए नैना के एक्सप्रेशन भी नहीं देख पा रही थी तो बस सुबह अपने आप को ही सब कुछ समझ कर चली जा रही थी।

आप लोगों को यह कहानी पसंद नहीं आ रही है क्या जो आप लोग कोई भी लाइक और रेटिंग बी नहीं देते हो अगर ऐसा है तो क्या मे यह कहानी लिखना बंद कर देती हूं 🥲🥲🥲😭😭😭😭😭😭plzzz support jarur kare story' ko