Will bring brides from abroad!!! in Hindi Comedy stories by Sanju Sharma books and stories PDF | विदेश से दुल्हनियां ले आएंगे !!!

Featured Books
Share

विदेश से दुल्हनियां ले आएंगे !!!

विदेश से दुल्हनियां ले आएंगे !!!

तो बात उस दिन की है जब मैं और साथी टीटू एक मॉल के फ़ूड कोर्ट में युही समय बिता रहे थे।

तभी मुझे और टीटू को बाजू में बैठे एक सक्स जो खुदको भोजपुरी फ़िल्म के प्रोड्यूसर कह रहे थे। उनकी बातें सुनी पर उनकी सामने वाले के साथ जमी नही सो वो उठ कर जाने लगे

मेरे दोस्त ने नज़रों से ही उस भोजपुरी प्रोड्यूसर का पीछा किया और जैसे ही वो मॉल के वाशरूम में घुसा तो टीटू के सरीर में हलचल हुई

वो कहने लगा, चल चल जल्दी चल।
मैं उसकी हड़बड़ाहट देख पूछा, अचानक तुझे क्या हो गया

बिना कोई जवाब दिए वो मेरे हाथ को खिंचता हुआ वाशरूम ले गया

बोला, जा तू भी पेशाब करले।

मैं पूछने वाला ही था कि वो भी भोजपुरी प्रोड्यूसर के बाजू में खड़ा होकर पेशाब करने लगा

मैं हैरान की वो कर क्या रहा है

उसने बात उस प्रोड्यूसर से सुरु की" मेरे पास एक धांसू कहानी है

उसने टीटू का मुंह देखा और कहा, " एक मिनट है तुम्हारे पास"

अरे, में बताना ही भूल गया, हुम् दोनो स्ट्रगलिंग राइटर्स है, हमें किसी ने बताया था कि प्रोड्यूसर तुम्हे कहीं पर भी नरेंसन के लिए कह सकता है, तैयारी करके रखना और टीटू को मौका मिल गया

जी मुझे भोजपुरी प्रोड्यूसर्स में कोई इंटरेस्ट नही है

टीटू का सुरु हो गया एक मिनट का नरेसन

"एक भारतीय मूल का वदेशी लड़का अपने ही देश के भारतीय मूल की लड़की के साथ कुछ समय बिताने के बाद उससे एहसास होता है कि वो उससे प्यार करने लगा है पर उसे पता चलता है कि पिताजी उसकी शादी किसी देसी लड़के से करवाना चाहते है इसीलिए भारत चले गए

लड़का भारत जाके उस लड़की से प्यार का इज़हार करना चाहता भले वो माने या न माने पर लड़की भी लड़के पर दिल दे बैठी पर लड़के से कह न सकी

लड़के के खुशी का ठिकाना नही पर अभी भी उसकी राह में लड़की का बाप खड़ा है जिसे देसी दामाद चाहिए, क्या लड़का अपनी दुल्हनिया ले जाएगा।

मैं हैरान था, टीटू ने दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे की कहानी सुना दी ,
मुझे पक्का यकीन था कि प्रोड्यूसर मना कर देगा पर प्रोड्यूसर ने इसका उल्टा कर दिया

हाँ बोलकर, " कल स्क्रिप्ट के साथ आफिस में मिलो

कार्ड निकालकर टीटू के हाथ में सौंपा और चला गया

मैं हाथ धोकर उसे ताना मारा की जा यश राज से स्क्रिप्ट लेकर आ।
वो बोला कोई टेंसन नही, वो कौनसा इसी पर कहानी बनाएगा

उसकी कॉन्फिडेन्स देख कर में हैरान था

दो हफ्ते बाद टीटू की कहानी का कॉन्ट्रैक्ट बना

मेरी सोच बंद सी पड़ गयी थी और कहा उसको कि क्या नल्ला प्रोड्यूसर है तेरा, पक्का यशराज कोर्ट में घसीट लेगा और इसकी धोती उतार देगा।

उसने बताया कि इस दो हफ्ते में कहानी जो विदेश से भारत आता है, वो अब लड़का भारत से विदेश जाएगा क्योंकि लड़की के पिताजी को विदेशी लड़के से शादी करवानी है और लड़का अपना चायनीज़ का बाकड़ा बेच कर विदेश पहुंचता है और लड़की की हाँ के बाद पिताजी को बोत्तल में उतारने के लिए उसी कैटरिंग में जॉब पकड़ता है जिसका कॉन्ट्रैक्ट इसके पिताजी ने कैटरर को दिया है।

और लड़का इतना बढ़िया चायनीज़ बनाता है कि लड़की के पिताजी अपनी बेटी की शादी लड़के से करवाते है

यह सुन मैं एक हफ्ते सदमे में था और सदमा तब और जोर से लगा जब मूवी की रिलीज डेट डिक्लेअर हो गए
दो हफ्ते लगे कहानी चेंज करने में और तीन हफ्ते बनने में

तो देखिये गा जरूर अपने नजदीकी सिनेमा घरों में

भोजपुरी की बेहतरीन पेश कश

सुपरस्टार बबलू थकेला

की

"विदेश से दुल्हनियां ले आएंगे"

नोट : its just for entertainment